• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • More Than 200 Cases Were Registered In Haryana In The Farmers' Movement, Five Farmers Were Arrested In Sirsa For Sedition.

कानून वापसी के बाद केस वापसी की चिंता:हरियाणा में 200 से ज्यादा केसों में 45 हजार किसान नामजद, देशद्रोह और 307 जैसी संगीन धाराएं

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खेती कानूनों की वापसी का ऐलान होने के बाद अब सबसे ज्यादा चर्चा एक साल से चल रहे आंदोलन के दौरान हरियाणा के विभिन्न जिलों में दर्ज 200 से ज्यादा FIR पर हो रही है। इनमें 45 हजार से ज्यादा किसान नामजद है। खुद CM मनोहर लाल और गठबंधन सहयोगी डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला इसको लेकर सार्थक पहल की बात कर चुके है, लेकिन इसका रास्ता आसान नहीं नजर आ रहा, क्योंकि कुछ जगह देशद्रोह और 307 यानि हत्या के प्रयास जैसी संगीन धाराओं में केस दर्ज है। अगर मुकदमों की वापसी हुई तो फिर देशद्रोह और हत्या के प्रयास जैसे मामलों में पेंच फंस सकती है। हालांकि, सामान्य मुकदमों की वापसी से चर्चा जरूर शुरू हो सकती है।

विधानसभा में सरकार ने दी जानकारी
भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रवक्ता राकेश बैंस का कहना है कि सरकार ने हरियाणा में विधानसभा सत्र के दौरान एक प्रश्न के जवाब में बताया था कि हरियाणा में किसान आंदोलन के दौरान 200 से ज्यादा केस दर्ज है। इसमें 45 हजार किसानों को आरोपी बनाया गया है। शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा की मीटिंग में इन मुकदमों पर भी चर्चा हुई है।

अंबाला से हुई शुरूआत
किसान आंदोलन को एक साल पूरा होने वाला है। हरियाणा में 24 नवंबर 2020 को किसानों का काफिला दिल्ली के लिए रवाना हो गया था। पंजाब के किसानों को रोकने के लिए हरियाणा पुलिस ने पंजाब के साथ लगती सीमाओं पर सड़कों की खुदाई करवा दी थी। साथ ही बड़े बड़े बेरिकेड्स लगाकर रास्ते बंद कर दिए थे। राकेश बैंस का कहना है कि गुरनाम सिंह चढूनी पर अंबाला के मोहड़ा में हरियाणा पुलिस ने 307 का मुकद्दमा दर्ज किया था। इसके बाद कई अन्य थानों में भी इसी धारा के तहत मामले दर्ज किए गए है।

तीनों खेती कानून वापस होने के बाद एक-दूसरे का मुंह मीठा करवाते किसान।
तीनों खेती कानून वापस होने के बाद एक-दूसरे का मुंह मीठा करवाते किसान।

सिरसा में देशद्रोह में 5 हो चुके गिरफ्तार
सिरसा में 11 जुलाई 2021 को सीडीएलयू में भाजपा के एक कार्यक्रम में डिप्टी स्पीकर रणबीर गंगवा की गाड़ी को किसानों ने घेर लिया था। किसी ने गाड़ी पर पत्थर फेंककर शीशे तोड़ दिए थे। इस मामले में सिरसा पुलिस ने हरियाणा किसान मंच के प्रदेशाध्यक्ष किसान नेता प्रहलाद सिंह भारूखेड़ा, हरचरण सिंह नामजद सहित 100 के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किया था। इसमें बलकार सिंह, निक्का सिंह, दलजीत रंगा, बलकौर सिंह फग्गू, साहिब सिंह खैरपुर को गिरफ्तार कर लिया था। किसान नेता राकेश टिकैत, बलदेव सिंह सिरसा और अन्य किसान नेताओं ने सिरसा लघु सचिवालय का घेराव किया था। हरियाणा किसान मंच के प्रदेशाध्यक्ष प्रहलाद सिंह भारूखेड़ा ने कहा कि अकेले सिरसा में ही 20 से ज्यादा मुकदमें दर्ज है।

सार्थक पहल करने की हो चुकी बात
3 नए कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा के बाद हरियाणा के CM मनोहर लाल और डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला किसानों से घर लौटने की अपील कर चुके हैं। सीएम ने दर्ज मुकदमों को वापस लेने पर सार्थक पहल करने की बात कही। डिप्टी सीएम भी गैर घातक गतिविधि से जुड़े मामलों को वापस करवाने की बात कह चुके हैं, जबकि संगीन मामलों पर कोर्ट फैसला करेगा।

खबरें और भी हैं...