चंडीगढ़ सेक्टर-22 में सड़क पर युवक का कत्ल:बस स्टैंड के सामने मामूली झगड़े में गाड़ी सवारों ने दिनदहाड़े चाकुओं से गोदा; 4 काबू

चंडीगढ़6 महीने पहले

चंडीगढ़ में रविवार को दिनदहाड़े सेक्टर-17 और 22 के मुख्य चौराहे के पास एक युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। यह वारदात सेक्टर-22 में होटल जलंधर के सामने वाली मुख्य सड़क पर हुई। मरने वाले की पहचान सागर के रूप में हुई जो राम दरबार का रहने वाला था। उसकी उम्र 20 से 25 वर्ष के बीच बताई जा रही है। इस हत्या की वजह मामूली झगड़ा रहा। वहीं मामले में चार आरोपी पकड़े गए।

सागर अपने तीन भाइयों और एक बहन में सबसे छोटा था। उसके एक भाई की मौत पहले ही हो चुकी है। अब परिवार में एक भाई और बहन ही बची है। सागर के दोस्तों ने बताया कि उसकी कभी किसी से लड़ाई नहीं हुई।

हमलावर सेक्टर-22 की पार्किंग से निकलकर रॉन्ग साइड होते हुए सड़क पर पहुंचे थे। वारदात के बाद हमलावर आसानी से फरार हो गए। इस घटना में सागर के दो दोस्त विशाल और नीतिश भी जख़्मी हो गए। दोनों के हाथ में चोट लगी है। विशाल ने बताया कि आरोपियों ने उनके भाई की छाती में चाकू मारा। उसका पीजीआई में इलाज चल रहा है। घायल नितिश के मुताबिक आरोपी हमलावर नशे में थे। नितिश ने कहा कि वह और उसके दोस्त बर्थ डे पार्टी मना कर घर जा रहे थे।

मिली जानकारी के मुताबिक, सागर राम दरबार कॉलोनी फेज 2 में रहता था। रविवार सुबह वह गाड़ी में दोस्तों के साथ जा रहा था। उसी समय होटल जलंधर के सामने सड़क पर हमलावरों की गाड़ी रॉन्ग साइड होते हुए बस स्टैंड चौक की तरफ मुड़ी। रॉन्ग साइड होने की वजह से उस गाड़ी ने वहां ऑटो का इंतजार कर रहे एक लड़के को टक्कर मार दी जिससे वह गिर गया।

हमले में घायल विशाल और नितिश।
हमले में घायल विशाल और नितिश।

लड़के को जमीन पर गिरा देखकर स्टेडियम चौक की तरफ मुड़े सागर और उसके दोस्तों ने अपनी कार रोक दी और जमीन पर गिरे लड़के को उठाने के लिए नीचे उतरे। इसी दौरान उनकी रॉन्ग साइड में आने वाली गाड़ी में सवार युवकों से बहस हो गई। देखते ही देखते दोनों पक्षों में हाथापाई शुरू हो गई। मारपीट के दौरान दूसरे पक्ष ने गाड़ी से छुरी जैसा तेजधार हथियार निकालकर सागर पर ताबड़तोड़ वार करने शुरू कर दिए। हमले में सागर की मौके हो गई जबकि दोस्त विशाल व नीतिश घायल हो गए। सागर की मौत के बाद आरोपी भाग निकले।

सेक्टर 17 बस स्टैंड चौक के पास फैला सागर का खून।
सेक्टर 17 बस स्टैंड चौक के पास फैला सागर का खून।

इस हत्या मामले में चंडीगढ़ पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम ने हल्लोमाजरा के मोनू(22) जसवाल, उसके भाई सोनू जसवाल(24), हल्लोमाजरा के ही श्रीतिज उर्फ चेरी(22) और राम दरबार के सूरज उर्फ अंबो(22) को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस द्वारा मामले में पकड़े गए चार आरोपी।
पुलिस द्वारा मामले में पकड़े गए चार आरोपी।

पुलिस के मुताबिक सागर और उसके दोस्त i 10 कार में मौजूद थे। वह बस स्टैंड चौंक से क्रिकेट स्टेडियम वाले चौंक की तरफ गुजर रहे थे। वहीं इस दौरान उल्टी दिशा में WagonR कार में कुछ युवह गलत दिशा में ड्राइव करते हुए निकल रहे थे। कार में 5 से 6 युवक सवार थे। इस दौरान सागर और उसके दोस्तों के साथ उनकी बहस हो गई। सागर और उसके दोस्तों पर चाकू से हमला कर सोनू, मोनू और श्रीतिज टेंशन में बीयर पीने निकल गए और सूरज अपने घर राम दरबार चला गया था। सागर की पीजीआई में मौत हो गई थी।

पुलिस ने अलग-अलग टीमें बना कर खरड़, बनूड़ और राम दरबार में रेड की। पुलिस ने मामले में चारों आरोपियों और वारदात में इस्तेमाल कार बरामद कर ली है। वहीं उनके बाकी साथियों की भूमिका भी जांची जा रही है।

अमेरिका जाना था, अब बुड़ैल जेल जाएगा मोनू

पुलिस के मुताबिक मोनी बारहवीं पास है और ILETS कर अमेरिका जाने की तैयारी में था। उसके पिता करियाने की शॉप चलाते हैं। उसका भाई सोनू भी बारहवीं पास है और कैब चलाता है। श्रीतिज के पिता दक्षिण अफ्रीका में रहते हैं और अभी भारत आए हुए थे। सूरज दसवीं पास है और अमेजन में कूरियर ब्वॉय है। उसके पिता की मौत हो चुकी है। चारों को कल कोर्ट में पेश किया जाएगा।