• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • PGI Will Have An Alumni Cell On The Lines Of IITs, Move Is Aimed At Raising Funds For Patient Care And Research Without Being Dependent On Government Aid.

IIT की तर्ज पर PGI चंडीगढ़ को मिलेगाा एलुमनी सेल:सरकारी मदद के बिना पेशेंट की केयर और रिसर्च के लिए जुटाया जाएगा फंड, स्टूडेंट्स को विदेशों में फैलोशिप व ट्रेनिंग के लिए भी मिलेगी सहायता

चंडीगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीजीआई में एलुमनी सेल मेंटरशिप और स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम को बढ़ावा देगा। - Dainik Bhaskar
पीजीआई में एलुमनी सेल मेंटरशिप और स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम को बढ़ावा देगा।

IIT की तर्ज पर जल्द ही PGI चंडीगढ़ में भी एलुमनी सेल होगा। इस कदम का उद्देश्य गवर्नमेंट एड पर निर्भर हुए बिना पेशेंट की केयर और रिसर्च के लिए फंड जुटाना है। इस प्लान का कांसेप्ट PGI के पूर्व निदेशक प्रो. योगेश चावला का था। एक बातचीत में उन्होंने बताया कि यह सेल उन स्टूडेंट्स की मदद भी करेगा जो विदेशों में फैलोशिप और ट्रेनिंग के लिए अप्लाई करते हैं और उन्हें सिफारिश की जरूरत है।

प्रो.चावला ने बताया कि इंस्टीट्यूट नेशनल और इंटरनेशनल लेवल पर एलुमनी को रजिस्टर करने की प्रक्रिया में है। उन्होंने कहा कि हमारे स्टूडेंट्स और फैकल्टी एक विस्तरित परिवार हैं। किसी भी ग्रांट, कोर्स ट्रेनिंग और इग्विपमेंट खरीदने के लिए हम आसानी से इस नेटवर्क से संपर्क कर सकते हैं।

सेल के कंवीनर प्रो. आरआर शर्मा ने कहा कि साल 1962 से कई डॉक्टरों ने PGI से अपनी स्पेशलाइजेशन और सब-स्पेशलाइजेशन हासिल की है। यह सेल सभी पूर्व बैचों की नेटवर्किंग और लिंकिंग में मदद करेगा। इसके अलावा यह सेल इंस्टीट्यूट के भीतर ही नीड-कम-मेरिट बेसिस पर योग्य स्टूडेंट्स के लिए बंदोबस्ती निधि और पुरस्कार वजीफा जुटाने के लिए काम करेगा।

PGI की एक फैकल्टी ने बताया कि कोविड महामारी के दौरान GMCH-32 के पूर्व स्टूडेंट्स ने अस्पताल को पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (PPE), दवाएं और कुछ इक्विपमेंट दिलाने में मदद की। इस सेल का लंबे समय से इंतजार था और हम इस तरह से फंड भी जुटा सकते हैं और अपने पूर्व स्टूडेंट्स से मदद भी ले सकते हैं। डॉक्टरों का मानना ​​है कि यह सेल मेंटरशिप और स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम को बढ़ावा देगा। प्रो. चावला ने कहा कि हम अपने स्टूडेंट्स के लिए नॉलेज शेयरिंग का आयोजन और इंटरनेशनल लेवल पर मामलों पर भी चर्चा करवा सकते हैं। अपने पूर्व स्टूडेंट्स के साथ हम आसानी से चीजों का प्रबंधन कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं...