प्लानिंग / पीजीआई के ईएनटी डिपार्टमेंट के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे, जिन बुजुर्गों को कम सुनता है, उनका घर पर ही होगा इलाज

PGI's ENT department will not have to go round, elderly people who listen less will be treated at home
X
PGI's ENT department will not have to go round, elderly people who listen less will be treated at home

  • सीनियर सिटीजन के लिए ईएनटी डिपार्टमेंट की टीम बनाएगा पीजीआई, स्मार्ट सिटी लिमिटेड करेगी मदद

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 07:11 AM IST

चंडीगढ़. (राजबीर सिंह राणा)  शहर के उन बुजुर्गों को पीजीआई के ईएनटी डिपार्टमेंट के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे, जिन्हें सुनने की दिक्कत है। जल्द ही ईएनटी डिपार्टमेंट के एक्सपर्ट अब सीनियर सिटीजन के पास जाकर उनका इलाज करना शुरू कर देगी। स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से ईएनटी डिपार्टमेंट के एक्सपर्ट को मोबाइल वैन और ड्राइवर मुहैया करवाया जाएगा।

इसके लिए चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से 31 लाख 45 हजार का टेंडर काॅल किया गया है। टेंडर की बिड 12 जून शाम 4 बजे तक रिसीव की जाएगी। टेंडर अलॉट होने से पहले स्मार्ट सिटी की टेक्निकल कमेटी से अप्रूवल ली जाएगी। इसके बाद ही फाइनेंशियल बिड खोली जाएगी।

65 से 85 साल के बुजुर्गों पर फोकस
पीजीआई ईएनटी डिपार्टमेंट की ओर से पिछले साल चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी लिमिटेड के सीईओ से संपर्क किया था। वे शहर के 65 से 85 साल के बुजुर्गों के एक प्रोजेक्ट पर काम करना चाहते हैं। शहर में सीनियर सिटीजन की काफी संख्या है, जिन्हें हियरिंग एड लगी हुई है। उनकी हियरिंग एड खराब हो जाती है या फिर सुनने की समस्या और बढ़ जाती है।

ऐसा उम्र के कारण कई बार हियरिंग प्रेशर कम होने से होता रहता है। उनकी मशीन का नंबर भी चश्मे के नंबर की तरह बढ़ता जाता है। मशीन उन्हें छह महीने या साल में बदलवानी या चेक करवानी पड़ती है। इसके लिए बुजुर्गों को पीजीआई की ईएनटी ओपीडी के चक्कर लगाने पड़ते हैं। ईएनटी ओपीडी के हिसाब से अभी ऐसे बुजुर्गों की संख्या 500 है। यह बढ़ भी सकती है, क्योंकि कुछ बुजुर्ग चेक करवाने के लिए नहीं पहुंच पाते।
कई अकेले रहते हैं बुजुर्ग दंपती

कई बुजुर्ग दंपती घर में अकेले रहते हैं। उनके बेटे-पोते या तो विदेशों में होते हैं या फिर काम के सिलसिले में देश के दूसरे राज्यों में। ऐसे बुजुर्ग को हियरिंग प्रेशर या स्क्रीनिंग करवाने के लिए पीजीआई ओपीडी में जाना पड़ता है। लेकिन अकेले होने के कारण कई बुजुर्ग पीजीआई नहीं जा पाते। अब ऐसे बुजुर्ग दंपती को स्मार्ट सिटी की मोबाइल वैन के आने से घर पर ही हियरिंग स्क्रीनिंग मिलने लगेगी। मोबाइल वैन में पीजीआई एक्सपर्ट बैठकर बुजुर्गों के घर जाकर ही चेक करेंगे।

  • बुजुर्गों को कोई दिक्कत न हो, इसके लिए यह सुविधा शुरू की जा रही है। ईएनटी डिपार्टमेंट के डॉक्टर्स की टीम घर जाकर हाल-चाल जानेगी। -केके यादव, सीईओ, चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी लिमिटेड

पीजीआई ओपीडी बंद, टेली कंसल्टेंसी का आंकड़ा पहुंचा 1000
पीजीआई की ओर से 22 मार्च से ओपीडी बंद होने के बाद 19 मई से मरीजों की सुविधा के लिए टेली कंसल्टेंसी सर्विस शुरू की है। इसके तहत पीजीआई की ओर से दाे ओपीडी सर्विसेज जारी रखी हैं। न्यू ओपीडी में अन्य डिपाटर्मेंट्स में टेली कंसल्टेंसी सर्विस चल रही हैं। न्यू ओपीडी के टेलीफोन नंबर 0172-27555991 पर कॉल करके संबंधित डिपार्टमेंट से रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। जीएमसीएच-32 की ओर से 13 डिपार्टमेंट में टेली कंसल्टेशन की सुविधा शुरू की गई है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना