पंजाब के DGP को गृह मंत्रालय का नोटिस:सिद्धार्थ चट्‌टोपाध्याय से पूछा- क्यों न उनके खिलाफ ऑल इंडिया सर्विस रूल्स के तहत कार्रवाई की जाए

चंडीगढ़14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के फिरोजपुर में PM नरेंद्र मोदी की सुरक्षा चूक के मामले में DGP सिद्धार्थ चट्‌टोपाध्याय को गृह मंत्रालय ने नोटिस जारी किया है। DGP चट्‌टोपाध्याय से पूछा गया है कि उनके खिलाफ ऑल इंडिया सर्विस रूल्स के तहत कार्रवाई क्यों न की जाए, क्योंकि उन्होंने स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) एक्ट के तहत अपनी कानूनी जिम्मेदारी का पालन नहीं किया। उन्हें जवाब देने के लिए शाम 5 बजे तक वक्त दिया गया है अन्यथा कार्रवाई की चेतावनी दी गई है। DGP के साथ फिरोजपुर के SSP हरमनदीप हंस और बठिंडा के SSP अजय मलूजा को भी नोटिस हुआ है।

वहीं, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल की मदद के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के IG संतोष रस्तोगी को नियुक्त कर दिया गया है, जो PM विजिट से जुड़े सारे दस्तावेज अपने कब्जे में लेंगे।

पंजाब के कार्यकारी DGP सिद्धार्थ चट्‌टोपाध्याय
पंजाब के कार्यकारी DGP सिद्धार्थ चट्‌टोपाध्याय

क्या लिखा है DGP को भेजे नोटिस में
केंद्रीय गृह मंत्रालय की डिप्टी सेक्रेटरी अर्चना वर्मा ने यह नोटिस जारी किए हैं। इसमें कहा गया है कि VVIP प्रदर्शन की जगह से 100 मीटर पहले 15-20 मिनट तक फ्लाईओवर पर फंसे रहे। यह बहुत गंभीर चूक है। इससे लगता है कि 1 और 2 जनवरी को अग्रिम सुरक्षा संपर्क में जताई गई चिंताओं को दूर किए बगैर ही PM को रूट क्लियरेंस दे दी गई।

ब्लू बुक और तय प्रोसीजर के मुताबिक VVIP के लिए बतौर DGP उन्हें पूरे इंतजाम करने चाहिए थे। इसके लिए कंटिंजेंसी प्लान के साथ रोड से जाने पर पर्याप्त सिक्योरिटी लगाई जानी चाहिए थी। ऐसा लगता है कि इस तरह का कोई प्लान बनाया ही नहीं गया या फिर वह प्रभावी नहीं था। इसके अलावा अभी तक की जानकारी के मुताबिक प्रदर्शन की जगह पर तैनात पुलिस प्रभावी नहीं थी। यहां तक कि वहां तैनात सीनियर पुलिस अफसरों ने भी PM के काफिले को निकालने के लिए कोई इंतजाम नहीं किए। पुलिस सिर्फ खानापूर्ति के लिए तैनात रही।

पंजाब में जांच के लिए पहुंची केंद्र की टीम
पंजाब में जांच के लिए पहुंची केंद्र की टीम

केंद्र की टीम पंजाब में कर रही जांच
PM के फिरोजपुर दौरे के दौरान हुई चूक को लेकर केंद्र की जांच टीम पंजाब में है। टीम की तरफ से गुरुवार को भिसियाना एयरपोर्ट से लेकर PM के रूट, काफिला रुकने वाले फ्लाईओवर और हुसैनीवाला स्मारक का दौरा किया गया। इसके बाद वह BSF कैंप में गए, जहां 13 पुलिस अफसरों को तलब कर पूछताछ की गई।

केंद्र और पंजाब की एजेंसियों से रिकॉर्ड लेंगे रजिस्ट्रार
सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को PM विजिट से जुड़ा पूरा रिकॉर्ड सुरक्षित रखने को कहा था। इसमें NIA के IG संतोष रस्तोगी की अगुआई में 6 अफसरों की टीम नियुक्त कर दी गई है। चंडीगढ़ पुलिस की तरफ से भी इसमें एक अफसर होंगे। यह टीम केंद्र और पंजाब की एजेंसियों से पूरा रिकॉर्ड लेगी। सुप्रीम कोर्ट इस मामले में सोमवार को फिर सुनवाई करेगा।

पंजाब के गृहमंत्री बोले- मुझसे कोई बात नहीं हुई
पंजाब के गृहमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि PM की विजिट के बारे में उनसे किसी ने कोई संपर्क नहीं किया। केंद्र के अफसरों और एजेंसियों ने सिर्फ DGP और चीफ सेक्रेटरी से ही बात की। इसलिए उन पर आरोप गलत हैं। उन्होंने यह जरूर कहा कि अगर गवर्नर चाहें तो उन्हें गृहमंत्री के पद से हटा सकते हैं।

FIR भी दिखावा, 200 रुपए जुर्माना, थाने में जमानत
PM की सुरक्षा में चूक के मामले में पंजाब सरकार ने फिरोजपुर के थाना कुलगढ़ी में 283 IPC के तहत केस दर्ज किया है। यह सिर्फ दिखावा मात्र है, क्योंकि इसमें 200 रुपए जुर्माने की सजा है और थाने में ही जमानत मिल जाती है। इसमें किसी का नाम भी नहीं लिखा है। करीब 100 से 150 अज्ञात लोगों पर दर्ज केस में SPG एक्ट नहीं लगाया गया है।

खबरें और भी हैं...