• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Police Arrested Fugitive Accused From Himachal In The Fraud Case Of One Crore 53 Lakhs In The Name Of Getting Profits

3 साल बाद चंडीगढ़ पुलिस के हाथ लगा भगौड़ा:2018 में मुनाफा दिलवाने के नाम पर 1 करोड़ 53 लाख की धोखाधड़ी, हिमाचल के कांगड़ा जिले से किया गया गिरफ्तार

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मनीमाजरा थाना - फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
मनीमाजरा थाना - फाइल फोटो

लोगों को मुनाफा दिलवाने के नाम पर बैंक में पैसान निवेश करवा एक करोड़ 53 लाख की धोखाधड़ी के मामले में भगोड़े आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। चंडीगढ़ की आर्थिक अपराध शाखा की टीम ने हिमाचल के कांगड़ा से आरोपी गिरफ्तार किया। आरोपी की पहचान अमित शर्मा के रूप में हुई है। आरोपी को कोर्ट ने 2018 में भगोड़ा करार दिया था।

आर्थिक अपराध शाखा के इंचार्ज इंस्पेक्टर जयवीर राणा को आरोपी के बारे में गुप्त सूचना मिली थी। राणा ने टीम के साथ हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में रेड करके आरोपी को ट्रेस कर लिया। पुलिस के अनुसार, मनीमाजरा निवासी कृष्ण लता की शिकायत पर वर्ष 2017 में अमित शर्मा, अरुण सलूजा और प्रीति सलूजा के खिलाफ केस दर्ज किया था।

कृष्णा लता शर्मा ने अरुण सलूजा के माध्यम से आईसीआईसीआई बैंक में 13 लाख रुपए ट्रांसफर किए थे। इसके साथ ही उससे दो खाली चेक अमित ने हस्ताक्षर करवाए थे। इसके बाद अरुण सलूजा ने पत्नी प्रीति सलूजा और कर्मचारी अमित शर्मा के साथ मिलकर रुपए अपने अकाउंट में ट्रांसफर करवा लिए। प्रीति सलूजा ने 6 लाख 50 हजार और अमित शर्मा ने 65 हजार लिए।

इसी तरह आरोपी ने दूसरे लोगों के खाते में कुछ मिलाकर एक करोड़ 53 लाख रुपए ट्रांसफर करवा लिए। मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने पहले ही अरुण सलूजा और प्रीति सलूजा को गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन वे जमानत पर जेल से बाहर आ गए थे। अब अमित पुलिस के हाथ लग गया है। ऐसे में केस की जांच आगे बढ़ेगी।

खबरें और भी हैं...