• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Police Showed Strength When Para Players Came To Return The Medals Outside Punjab CM's Kothi In Chandigarh Demanding Jobs

पुलिस ज्यादती पर कैप्टन ने माफी मांगी:चंडीगढ़ में पंजाब CM की कोठी के बाहर नौकरी की मांग लेकर पहुंचे पैरा प्लेयर्स; मैडल वापस करने आगे बढ़ने पर पकड़ ले गई पुलिस

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पैरा प्लेयर्स आज पंजाब CM की कोठी के बाहर अपने मैडल वापस करने पहुंचे। बाद में पुलिस ने इन्हें ताकत दिखाते हुए गिरफ्तार कर लिया। फोटो लखवंत सिंह - Dainik Bhaskar
पैरा प्लेयर्स आज पंजाब CM की कोठी के बाहर अपने मैडल वापस करने पहुंचे। बाद में पुलिस ने इन्हें ताकत दिखाते हुए गिरफ्तार कर लिया। फोटो लखवंत सिंह
  • बैरिकेड हटा आगे बढ़ रहे इंटरनेशनल-नेशनल पैरा प्लेयर्स को पुलिस ने गिरफ्तार कर थाने पहुंचाया
  • पंजाब के प्रमुख अवार्ड महाराजा रंजीत सिंह अवार्ड सहित अन्य मैडलों को वापस करने पहुंचे थे पैरा प्लेयर्स

पंजाब के मुख्यमंत्री के सरकारी आवास के बाहर आज सैकड़ों की संख्या में पैरा प्लेयर्स अपने हाथों में दर्जनों अवार्ड और मैडल लेकर उसे सरकार को वापस करने के लिए पहुंचे थे। इन विकलांग खिलाड़ियों के चेहरों पर रोष था।

CM ने मांगी माफी

पंजाब CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पैरा प्लेयर्स के रोष प्रदर्शन के दौरान पुलिस की ज्यादती पर उनके माफी मांगी है। कैप्टन ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए प्लेयर्स से बात की और कहा कि उन्होंने जिस तरह से देश और पंजाब का नाम ऊंचा किया है उसके लिए उन्हें नौकरी और हक दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि खेल विभाग को इस बारे में कह दिया गया है। CM ने कहा कि हम खिलाड़ियों की तरक्की और उनकी भलाई के लिए पूरी तरह से वचनबद्ध हैं।

पंंजाब CM ने पैरा प्लेयर्स से माफी मांगी और कहा उनका हक दिया जाएगा
पंंजाब CM ने पैरा प्लेयर्स से माफी मांगी और कहा उनका हक दिया जाएगा

खिलाड़ियों का कहना था कि विदेशों में देश का नाम ऊंचा करने वाले खिलाड़ियों के लिए सरकार के पास तरस के आधार पर नौकरी देने का कोई प्रावधान नहीं है लेकिन अमीरों को सरकार किसी न किसी प्रकार से नौकरी दे रही है। आज जब पैरा प्लेयर्स को आगे जाने नहीं दिया गया तो उन्होंने पुलिस का बैरिकेड तोड़ कर आगे बढ़े और नारेबाजी की। पुलिस ने उन्हें जबरदस्ती पकड़ कर गाड़ियों में बैठा कर थाने में पहुंचाया गया। इन खिलाड़ियों में कई ऐसे थे जो व्हील चेयर पर आए हुए थे। खिलाड़ियों में कबड्डी प्लेयर ने कहा कि वे आज रोष धरने में अपनी सोने की चैन बेच कर उससे मिले पैसों पर आए हैं।

वर्ल्ड चैंपियन पैरा एथलीट कुलदीप को पकड़कर ले जाती पुलिस
वर्ल्ड चैंपियन पैरा एथलीट कुलदीप को पकड़कर ले जाती पुलिस

इन पैरा प्लेयर्स को आम आदमी पार्टी के विधायक और युवा विंग के अध्यक्ष मीत हेयर अपने साथ लेकर पंजाब CM के आवास के पास लेकर के गए थे। इन खिलाड़ियों ने कहा कि वे कई सालों से अपनी मेहनत और अपने पैसे लगाकर देश व विदेशों में मैडल जीतते आए हैं, लेकिन सरकार ने उनके लिए कुछ भी नहीं किया और न ही किसी प्रकार की कोई राहत राशि दी जा रही है।

पैरा एथलीट चैंपियन वीणा अरोड़ा को पुलिस ने पकड़ा
पैरा एथलीट चैंपियन वीणा अरोड़ा को पुलिस ने पकड़ा

पंजाब के सबसे बड़े खेल अवार्ड महाराजा रंजीत सिंह अवार्ड लेकर पहुंचे संजीव कुमार पैरा एथलीट हैं और करीब 20 खेलों में कई सोने के तमगे जीत चुके हैं, लेकिन सरकार ने आज तक कोई नौकरी नहीं दी। संजीव कुमार को देश में कोई पैरा एथलीट बैडमिंडन में हरा नहीं सका। संजीव अपने साथ उन्हें मिले महाराजा रंजीत सिंह अवार्ड लेकर आए थे। उनका आरोप था कि पंजाब के खेल मंत्री और CM के OSD हर बार आश्वासन दे देते हैं, लेकिन नौकरी या मुआवजा के नाम पर कुछ नहीं देते।

अपने मैडल वापस करने आए पैरा प्लेयर्स
अपने मैडल वापस करने आए पैरा प्लेयर्स

इसी तरह पैरा एथलीट वीणा अरोड़ा जिनका एक हाथ नहीं है, ने देश -विदेश में कई मैडल जीते जिस पर उन्हें पंजाब का खेल का सर्वोच्च अवार्ड महाराजा रंजीत सिंह अवार्ड दिया गया था। उन्होंने कहा, 'यहां हम अपने मैडल और अवार्ड वापस करने आए हैं।' उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से आश्वासन के बाद भी नौकरी और सहायता नहीं दी जा रही है, जिससे वे परेशान होकर रह गए हैं। आज करीब 40 से अधिक खिलाड़ी अपने मैडलों के साथ आए थे।

पैरा लिफ्टिंग में वर्ल्ड चैंपियन कुलदीप सिंह ने दर्जनों मैडल जीते और देश का नाम ऊंचा किया, लेकिन आज जब वे पुलिस बैरिकेड के आगे बढ़े तो उनका नेशनल में जीता हुआ मैडल टूट गया। कई खिलाड़ी सड़क पर लेट गए तो पुलिस ने उन्हें जबरदस्ती करते हुए उठा कर पुलिस गाड़ी में डाल कर थाने तक पहुंचाया।