पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी:खराब लाइफ स्टाइल से बढ़ी रीढ़ की हड्डी की तकलीफ

चंडीगढ़10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

वर्तमान समय में खराब लाइफ स्टाइल के कारण व्यस्कों में रीढ़ से संबंधित समस्याएं काफी आम हो गई हैं। वास्तव में, पीठ और गर्दन में दर्द इतना आम है कि हम अक्सर उन्हें अनदेखा कर देते हैं, यह सोचकर कि वे समय के साथ ही दूर हो जाएंगे। लेकिन इलाज या मदद मिलने में देरी खतरनाक साबित हो सकती है, फोर्टिस हॉस्पिटल सर्जन और स्पाइन स्पेशलिस्ट डॉ.दीपक जोशी ने 16 अक्टूबर को

विश्व रीढ़ दिवस के मौके पर इस संबंध में उपयोगी सलाह देते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि वर्तमान में निष्क्रिय जीवन शैली, अस्वास्थ्यकर भोजन, लंबे समय तक एक ही स्थिति में बैठना या खड़े रहना, हाथ से काम करने के दौरान खराब आसन या बार-बार आघात रीढ़ की खराबी के सामान्य कारण हैं।

ज्यादातर बार, पीठ और गर्दन में दर्द का कोई खास कारण नहीं होता है। वहीं, यह कुछ मामलों में माना जाता है कि इसका कारण एक मोच या किसी लिंगामेंट या मांसपेशियों में असामान्य खिंचाव हो सकता है। कई मेडिकल परिस्थितियों की तरह, अधिकांश रीढ़ की बीमारियों के लिए रोकथाम इलाज से बेहतर है।

डॉ. जोशी ने कहा कि इससे बचाव के प्रमुख कदमों में वजन कम करना, धूम्रपान पर अंकुश लगाना, समग्र फिटनेस में सुधार और अच्छी मुद्रा में बैठने आदि का अभ्यास करना शामिल है।

आसन सही होना जरूरी...

उन्होंने कहा कि यदि आसन आदि उचित नहीं है, तो यह रीढ़ की बीमारियों का कारण बन सकता है। पीठ की बीमारियों की लंबे समय तक रोकथाम के लिए योग की सिफारिश करते हुए, डॉक्टर जोशी ने कहा कि धीरज और लचीलेपन दोनों में सुधार करता है जो पीठ और गर्दन के दर्द को कम करने के लिए महत्वपूर्ण हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें