• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • 'Poor Publicity Stunt Of Health Minister', Faculty Association Of PGI Said Chief Minister Should Apologize

पंजाब हेल्थ मिनिस्टर का घटिया पब्लिसिटी स्टंट:PGI चंडीगढ़ की फैकल्टी एसोसिशन ने जताया विरोध, कहा- माफी मंगवाएं CM भगवंत मान

चंडीगढ़4 महीने पहले
हेल्थ मिनिस्टर ने इस प्रकार अपमानित किया था, विश्व विख्यात डॉक्टर प्रो. राज बहादुर को।

पंजाब की आम आदमी पार्टी की सरकार के 12वीं पास स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह जौड़ा माजरा द्वारा बाबा फरीद यूनिवर्सिटी के VC प्रोफेसर राज बहादुर के साथ किए गए गलत व्यवहार की चौतरफा निंदा हो रही है। फैकल्टी एसोसिएशन ऑफ PGIMR चंडीगढ़ ने भी मंत्री के व्यवहार की कड़ी निंदा की है।

कहा गया है कि यह समझना होगा कि मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों के रोजमर्रा के प्रशासनिक कामों में VC शामिल नहीं होते। प्रो. राज बहादुर कई सम्माननीय पदों पर रह चुके हैं। वे PGI चंडीगढ़ में सीनियर फैकल्टी मेंबर रह चुके हैं। पंजाब में मेडिकल शिक्षा के क्षेत्र में वह कई सुधार ला चुके हैं। हेल्थ मिनिस्टर अभी तक हेल्थ सेक्टर में कोई सुधार नहीं ला पाए हैं और ऐसा व्यवहार कर रहे हैं।

मंत्री ने घटिया पब्लिसिटी के लिए ऐसा किया

मंत्री ने घटिया पब्लिसिटी के लिए ऐसा गैर-जिम्मेदाराना व्यवहार दिखाया। यह निंदनीय है। यह कृत्य लोगों में गलत संदेश देता है और डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा को भड़काता है। ऐसे में मुख्यमंत्री से इस मंत्री के माफी मंगवाने और आगे से ऐसी हरकत न करने को कहा गया है। एसोसिएशन के महासचिव प्रोफेसर PVM लक्ष्मी की ओर से यह पत्र जारी किया गया है।

पीजीआई की फैकल्टी ने इस प्रकार मंत्री के कृत्य की निंदा की है।
पीजीआई की फैकल्टी ने इस प्रकार मंत्री के कृत्य की निंदा की है।

मंत्री के व्यवहार से डॉक्टर दुखी

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) चंडीगढ़ ने मंत्री से माफी मंगवाने की मांग मुख्यमंत्री से की है। IMA ने मंत्री के व्यवहार की निंदा करते हुए कहा है कि प्रो. राज बहादुर एक सम्माननीय ऑर्थोपेडिक सर्जन हैं, जो देश और विदेश में प्रसिद्ध हैं। उनका करीब 5 दशक का मेडिकल करियर है। मंत्री के उनके प्रति व्यवहार से सभी डॉक्टर बेहद दुखी हैं।

द इंडियन आर्थोपेडिक एसोसिएशन भी कर चुकी है घटना की निंदा।
द इंडियन आर्थोपेडिक एसोसिएशन भी कर चुकी है घटना की निंदा।

बता दें कि मुख्यमंत्री भगवंत मान भी इस घटना पर खेद जता चुके हैं। मंत्री ने प्रोफेसर राज बहादुर के साथ बेहद गलत सलूक किया था। उन्हें खराब गद्दों पर लिटाकर सबके सामने शर्मिंदा किया गया, जिसके चलते VC ने इस्तीफा सरकार को सौंप दिया था।

IMA ने क्या कहा है...

स्वास्थ्य वितरण प्रणाली में कमी या सुधार लाना एक सांझी जिम्मेदारी होनी चाहिए। अगर एक मंत्री का ऐसा बर्ताव है तो चिकित्सा बिरादरी मरीजों को बेहतर चिकित्सीय सुविधाएं देने की दिशा में उनकी सहायता नहीं कर पाएगी।पंजाब के मुख्यमंत्री को मामले में उचित कार्रवाई करने और मंत्री को माफी मांगने के लिए कहने को कहा गया है। IMA चंडीगढ़ के प्रधान डॉ. रमणीक शर्मा व अन्य डॉक्टरों की तरफ से यह मांग की गई है। ​​​​​​

बार काउंसिल ऑफ पंजाब एवं हरियाणा ने भी मंत्री की हरकत को गलत बताया है।
बार काउंसिल ऑफ पंजाब एवं हरियाणा ने भी मंत्री की हरकत को गलत बताया है।

बार काउंसिल ने भी की निंदा

वहीं बार काउंसिल ऑफ पंजाब एवं हरियाणा ने कहा है कि सभी प्रोफेशनल एक जैसे होते हैं और कुछ प्रोफेसर राज बहादुर जैसे अति श्रेष्ठ होते हैं। जिस तरह की सेवाएं डॉक्टर देते हैं, उसके लिए हमें उनका सम्मान, उनकी सुरक्षा और सलाम करना चाहिए। पंजाब के हेल्थ मिनिस्टर के अपमानजनक व्यवहार की काउंसिल ने कड़े शब्दों में निंदा की है।