कुदरत / पहले आसमान ग्रे दिखता था, और अब नीला हाे गया है

Previously the sky looked gray, and now it's blue
X
Previously the sky looked gray, and now it's blue

  • आर्टिस्ट हरदेव सिंह देव इन दिनों कला को नया आयाम देने में लगे हैं
  • इसके अलावा वक्त को व्यतीत करने के लिए बाकी कलाओं के साथ फोटोग्राफी भी कर रहे हैं

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

चंडीगढ़. कुदरत। इसी से हमारा जन्म हुआ, इसी में मरकर हम विलीन हाे जाते हैं और इसी को हम नुकसान पहुंचाने में लगे हैं। फिर सोचते हैं कि हम कुदरत से दूर हो गए। लेकिन, यह सोच नहीं पाते कि कमियां हमारी ही हैं। फिर कुछ ना कुछ ऐसा घटित होता है जब कुदरत खुद ही अपनी शक्ति और खूबसूरती को अलग-अलग रूप से दिखा देती है। यह कहना है आर्टिस्ट हरदेव सिंह देव का। हरदेव, चंडीगढ़ के सेक्टर-10 के आर्ट्स कॉलेज के पास आउट हैं। इन दिनों अपनी कला को नया आयाम दे रहे हैं और फोटोग्राफी कर रहे हैं। 
अपनी फोटो काे लेकर उन्हाेंने बताया - जिस दिन से लॉकडाउन शुरू हुआ, उसी दिन से मैं फोटोग्राफी कर रहा हूं। फोटो को देखते ही पता लगता है कि हम इंसानों ने कुदरत को कितना गन्दा कर दिया था। लेकिन अब, सब साफ है। पहले आसमान का रंग कैमरा में ग्रे रंग का आता था, मगर अब नीले से भी नीला दिखाई देता है। मैं सुबह और शाम की खूबसूरती को कैमरा में कैद करता हूं। डर है कि कहीं फिर से सब प्रदूषित ना हो जाए। आसमान के साथ पंछियों, घर के पीछे बसती कबाड़ी बस्ती को कैमरा में उतारा।

मेरे पुरख हमेशा खादी से जुड़े रहे हैं

अपनी ज्यादातर फोटो में बादलों को उतारने की वजह बताते हुए बोले - बादलों को मैं काॅटन से जोड़कर देखता हूं। दरअसल, मेरे पुरख हमेशा से खादी से जुड़े रहे हैं। इसी का काम करते आए हैं, मैं भी अपनी ड्रॉइंग में खादी का इस्तेमाल करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करता हूं। अब जब कैमरा के लेंस से आसमान में छाए बादलों को देखता हूं तो वह मुझे मेरे पुरखों की याद दिलाते हैं। यह भी एक कारण है बादलों को तस्वीरों में उतारने का। अपने बाकी प्रोजेक्ट को लेकर बोले - मैं फोटोग्राफी में अलग-अलग सीरीज पर काम कर रहा हूं। बादलों के अलावा कपड़ों की सीरीज भी है। पंछी भी हैं। ड्रॉइंग करता हूं। एक फिल्म में भी आर्ट डायरेक्शन की है। लॉकडाउन के कारण रिलीज नहीं हो पाई, जल्द ही आप सबके सामने होगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना