नोडल अफसर के निर्देश:प्राइवेट को भी सरकारी रेट पर ही ऑक्सीजन की सप्लाई देनी होगी

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकारी ऑक्सीजन सप्लाई करने वाले वेंडर को नोडल अफसर के निर्देश

काेराेना संक्रमण के मरीजाें के इलाज में जरूरी मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति और रेट स्पष्ट करते हुए हाउसिंग बाेर्ड के सीईओ एवं नाेडल अफसर यशपाल गर्ग ने कहा है कि केंद्र ने चंडीगढ़ का ऑक्सीजन कोटा प्रतिदिन 20 मीट्रिक टन तय किया है। जीएमएसएच-16, जीएमसीएच -32 और काेविड हाॅस्पिटल-48 में यह ऑक्सीन इस्तेमाल हो रही है।

इसके अलावा इन तीन जगहाें पर हाल ही में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट भी लगाए गए हैं, जिनसे इन तीनाें मेडिकल संस्थानों की राेजाना जरूरत 50 फीसदी पूरी हो रही है। सरकारी हाॅस्पिटल के अलावा मेडिकल ऑक्सीजन प्राइवेट अस्पतालों को देना भी जरूरी है।

शहर में चंडीगढ़ में मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए मैसर्ज एनेस्थेटिक गैसेज प्रा. लि. सेक्टर-22 काे पहले से अधिकृत कर रखा है। यह जीएमसीएच-32 और काेविड-48 में इस्तेमाल हाेने वाली मेडिकल ऑक्सीजन के सिलेंडर रिफल करता है।

इसके अलावा माैजूदा समय यह जीएमएसएच-16 काे भी मेडिकल ऑक्सीजन उसी रेट पर सप्लाई करेगा। इसके अलावा प्राइवेट हेल्थ केयर सिस्टम की आपूर्ति भी इसी कंपनी द्वारा की जाएगी। उसे हिदायत दी गई है कि ऑक्सीजन की सप्लाई में काेई कमी न हाे। प्राइवेट सेक्टर काे भी रिफलिंग और ऑक्सीजन संबंधी सेवा के वही रेट लगेंगे जाे जीएमसीएच-32 काे लगाए जा रहे हैं।

प्राइवेट हाॅस्पिटल काे ऑक्सीजन संबंधी दिक्कत आए ताे जीएमएसएच-16 के मेडिकल अफसर डॉ. मनजीत सिंह से संपर्क कर सकते हैं। उनका माेबाइल 9463488086 है। गर्ग ने स्पष्ट किया है कि दाे-तीन और वेंडर्स से संपर्क किया जा रहा है। ताकि किसी भी प्राईवेट सेंटर पर रिफिलिंग या मेडिकल ऑक्सीजन संबंधी किसी तरह की काेई दिक्कत न आये। इस संदर्भ में वीरवार तक स्थिति स्पष्ट कर दी जाएगी।

पीजीआई को मिलेंगे 150 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर

केंद्र सरकार पीजीआई चंडीगढ़ को 150 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और देगी। पीजीआई डायरेक्टर की तरफ से ये बात बुधवार को प्रशासक की प्रमुखता में हुई मीटिंग के दौरान कही। उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि ऑक्सीजन की इस वक्त पर्याप्त सप्लाई है लेकिन आगे के लिए और तैयारी की जा रही है। वहीं दूसरी तरफ चंडीगढ़ प्रशासन ने भी ऑक्सीजन की सप्लाई में कोई दिक्कत न हो इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है।

इसको लेकर तीन चार और वेंडर्स के साथ टाइअप किया जाएगा ताकि जल्द से जल्द सप्लाई मिल सके। इसके अलावा करीब दो हजार रेमडेसिविर को लेकर भी जीएमसीएच की तरफ से ऑर्डर जारी कर दिया गया है। लगातार संक्रमण बढ़ने के साथ ही चंडीगढ़ में आरटीपीसीआर सैंपल टेस्टिंग को भी हर रोज 3000 से बढ़ाकर 4000 तक कर दिया गया है।

अब करीब 80 फीसदी टेस्टिंग हर रोज आरटीपीसीआर से हो रही है। टेस्टिंग के लिए हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से जगह-जगह सेंटर शुरू किए गए हैं, वहीं बस अड्‌डों पर भी आने-जाने वालों के कोरोना टेस्ट जरूरी किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...