पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • PU VC Prof. Rajkumar Gets 3 Year Extension, Closeness With Senior BJP Leaders And Good Contacts With MHRD And Chancellor's Office Officials.

PU VC को मिली 3 साल की एक्सटेंशन:सीनियर भाजपा नेताओं से नजदीकियां, MHRD और चांसलर ऑफिस के अधिकारियों से अच्छे संपर्क आए काम

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
VC प्रो. राजकुमार का कहना है- कोरोना के बावजूद कैरियर एडवांसमेंट स्कीम के लिए स्क्रीनिंग और इंटरव्यू अरेंज करना एक सफलता गिना जाएगा, क्योंकि उस समय न तो लोग इस बीमारी के बारे में जानते थे और न ही यह स्पष्ट था कि इंटरव्यू किस तरीके से किए जाएं। - Dainik Bhaskar
VC प्रो. राजकुमार का कहना है- कोरोना के बावजूद कैरियर एडवांसमेंट स्कीम के लिए स्क्रीनिंग और इंटरव्यू अरेंज करना एक सफलता गिना जाएगा, क्योंकि उस समय न तो लोग इस बीमारी के बारे में जानते थे और न ही यह स्पष्ट था कि इंटरव्यू किस तरीके से किए जाएं।
  • अप्रैल या मई में ही आ जाते हैं आदेश, प्रो. राजकुमार के लिए 2 जून को हुआ नोटिफिकेशन

पंजाब यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. राजकुमार को अगले 3 साल के लिए एक्सटेंशन दिया गया है। प्रोफेसर MM पुरी को छोड़कर बाकी सभी वाइस चांसलर को दो कार्यकाल मिलते आ रहे हैं, इसलिए यह संभावना जताई जा रही थी कि प्रो. राजकुमार को भी एक्सटेंशन मिल जाएगा। आमतौर पर यह आदेश अप्रैल या मई में हो जाते हैं, लेकिन उनके लिए ये आदेश 2 जून को हुए। कुछ सीनियर भाजपा नेताओं से नजदीकियां और MHRD व चांसलर ऑफिस के अधिकारियों के साथ अच्छे संपर्क प्रो. राजकुमार के काम आए।

प्रो. कुमार के कार्यकाल के लगभग 16 महीने तो यूनिवर्सिटी कोरोना के कारण बंद ही रही। प्रो. राजकुमार इससे पहले राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के तहत मिलने वाली ₹50 करोड़ की ग्रांट लेने में सफल रहे थे। इस ग्रांट के लिए प्रेजेंटेशन VC प्रो. अरुण ग्रोवर ने दी थी और यह परफॉर्मेंस आधारित ग्रांट थी, लेकिन इंटर स्टेट बॉडी काॅरपोरेट होने के कारण यह रकम भी रुक गई थी। प्रो. कुमार यह रकम निकालने में कामयाब रहे। VC के कार्यकाल के दौरान यूनिवर्सिटी कैंपस पूरी तरह दो खेमे में बंटने के आरोप भी लगते रहे। सीनेट के इलेक्शन को टालने के मामले में VC पर कई आरोप लगते रहे।

वहीं, उनके कार्यकाल में एक बड़ी सफलता मौलाना अब्दुल कलाम आजाद (माका) ट्रॉफी का लगातार दो बार कैंपस में आना रहा। तत्कालीन डायरेक्टर स्पोर्ट्स प्रो.परमिंदर सिंह ने कैंपस में ज्वाइन करने के बाद बहुत सारा काम स्ट्रीम लाइन किया था। खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में भी प्रो. कुमार के समय पीयू को पहला स्थान मिला। उन्होंने संस्कृत और भगवत गीता के अलावा ज्योतिष पर 6 महीने से सर्टिफिकेट कोर्स शुरू किए। पूर्व कंट्रोलर ऑफ एग्जामिनेशन प्रो परविंदर सिंह के कार्यकाल में नेशनल एकेडमिक डिपॉजिटरी में लगभग 31000 स्टूडेंट्स का डाटा अपलोड करने के बाद PU टॉप 5 यूनिवर्सिटीज में शामिल हुई।

VC प्रो. राजकुमार का कहना है- कोरोना के बावजूद कैरियर एडवांसमेंट स्कीम के लिए स्क्रीनिंग और इंटरव्यू अरेंज करना एक सफलता गिना जाएगा, क्योंकि उस समय न तो लोग इस बीमारी के बारे में जानते थे और न ही यह स्पष्ट था कि इंटरव्यू किस तरीके से किए जाएं। काम पूरा UGC के नियमों से हुआ। अगले कार्यकाल में सेंट्रल इनक्यूबेशन सेंटर को प्रमोट करने और शुरू किए गए एकेडमिक प्रयासों को पूरा करने की कोशिश होगी।

इसे अपनी अचीवमेंट मानते हैं VC...

  • पंजाब यूनिवर्सिटी में श्रीमंता संकरादेवा चेयर की स्थापना
  • लाइब्रेरी में रिमोट एक्सेस दिया गया जिसके जरिए फैकल्टी ही नहीं बल्कि सभी रिसर्च स्कॉलर और स्टूडेंट ऑनलाइन उपलब्ध कंटेंट का उपयोग कर सकते हैं।
  • कोरोना के दौर में लगभग 900 वेबीनार कोमा सेमिनार कुमावत का पर कॉन्फ्रेंस कराए गए
  • ट्रांसपोर्ट यूनिवर्सिटी की ओर से किए गए सर्वे के दौरान वर्ल्ड टॉप 2% साइंटिस्ट की सूची में यूनिवर्सिटी के 27 साइंटिस्ट आए
  • लगभग 100 यंग साइंटिस्ट को पीएचडी बेनिफिट दिए गए
  • करियर एडवांसमेंट स्कीम की प्रमोशन और नॉन टीचिंग स्टाफ को दिए गए प्रमोशन