• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Punjab Chief Minister Charanjit Channi Press Conference After Navjot Sidhu Resignation Said I Have Been Working Day And Night For 7 Days

सिद्धू के इस्तीफे के बीच CM चन्नी का दावा:कहा- 7 दिन से दिन-रात काम कर रहा हूं; प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुख्यमंत्री बनने के बाद किए अब तक के काम को गिनवाया

चंडीगढ़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे के बाद प्रदेश में बने सियासी माहौल के बीच चरणजीत सिंह चन्नी दावा करते नजर आए कि वह पिछले सात दिन से 24 घंटे काम कर रहे हैं। चन्नी ने मंगलवार को सिद्धू के 18 सूत्रीय एजेंडे पर पक्ष रखने के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

सूत्रों के अनुसार, सिद्धू इस बात से नाराज बताए जा रहे हैं कि 8 दिन पहले CM की कुर्सी संभालने वाले चन्नी की सरकार कांग्रेस के 18 सूत्रीय एजेंडे को पूरा करने के लिए कोई काम नहीं कर रही है। सिद्धू के इस्तीफे के घंटे भर बाद चन्नी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा किया कि वह 7 दिनों से दिन-रात काम कर रहे हैं। हालांकि उन्होंने सिद्धू के इस्तीफे की जानकारी होने से इनकार किया।

चन्नी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्र सरकार से नए कृषि कानून वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि पंजाब को अनावश्यक रूप से दबाया ना जाए। उन्होंने कहा कि पंजाब के किसानों पर 1 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। राज्य सरकार ने 2 लाख रुपए तक का किसानों का कर्जा माफ करने का फैसला लिया है। जल्द ही 25 हजार रुपए तक के कर्जे माफ करने के सर्टिफिकेट संबंधित किसानों को मिल जाएंगे।

पंजाब के सीएम चन्नी ने कहा कि किसान आंदोलन के दौरान शहीद हुए किसानों को भी राज्य सरकार ने सहायता देना शुरू कर दिया है। शहीद हुए किसानों के परिवारों के पास घरों पर छत तक नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानों को संकट से निकालने के लिए केंद्र सरकार को सही समय पर सही और गंभीर फैसले लेने होंगे। नए कृषि कानून तुरंत प्रभाव से रद्द किए जाएं।

प्रधानमंत्री के दरवाजे पर बैठेंगे
कृषि क्षेत्र को उन्होंने अन्य क्षेत्रों से अलग कर कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध करवाने की मांग की। चन्नी ने कहा कि सरकार संयुक्त किसान मोर्चा के साथ है। यदि केंद्र सरकार नहीं मानी तो वह खुद किसानों के साथ दिल्ली कूच करेंगे। अपने सभी मंत्रियों और विधायकों के साथ प्रधानमंत्री के दरवाजे पर बैठ जाएंगे।

चन्नी सरकार ने क्या-क्या काम किए 7 दिन में

  • गरीबों को मुफ्त मिलने वाली 200 यूनिट बिजली को बढ़ाकर 300 यूनिट किया।
  • गांवों में पानी के बिल और पानी देने वाली मोटरों के बिजली बिल माफ किए।
  • मुख्यमंत्री ने अपनी सिक्योरिटी घटाने और काफिला छोटा करने के आदेश दिए।
  • पंचायत से 2 अक्टूबर तक ऐसे लोगों की लिस्टें मांगी जिनके पास घर नहीं है।
  • बेमौसमी बारिश से खराब हुई फसल की विशेष गिरदावरी के आदेश दिए।
  • सरकार का 100 दिनों का एजेंडा बनाने के लिए अफसरों को निर्देश दिए।
  • मालवा में गुलाबी सुंडी से खराब हुई कपास की फसल का जायजा लेने पहुंचे।
  • आंदोलन में जान गवांने वाले किसानों के पारिवारिक सदस्यों को नौकरी के लैटर दिए।
  • पूर्व CM कैप्टन के नजदीकी अफसरों जैसे चीफ सेक्रेटरी, डीजीपी और एजी को बदला

पंजाब बॉर्डर राज्य, हमें जम्मू-कश्मीर न बनाया जाए
सीएम चन्नी ने कहा कि पंजाब बॉर्डर स्टेट है, इसे जम्मू-कश्मीर न बनाया जाए। हम देशभक्त लोग हैं हमें बुरी नजर से न देखा जाए।

पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुफ्त बिजली का ऐलान
चन्नी ने CM पद की शपथ लेने के बाद पहली ही पत्रकारवार्ता में गरीब परिवारों को मिलने वाली मुफ्त बिजली 200 से बढ़ाकर 300 यूनिट करने का ऐलान किया। उसके बाद कैबिनेट की पहली बैठक में भी कुछ अहम फैसले लिए गए जिनमें लोगों को अपनी जमीन से रेत निकालने की अनुमति देने का फैसला शामिल था।

खबरें और भी हैं...