कपूरथला लिंचिंग में सामने आए U-Turn वाले IG:कहा- मरने वाला निहत्था था, हमें उसी दिन यह कत्ल लगा था, वहां बेअदबी हुई ही नहीं थी

चंडीगढ़एक वर्ष पहले

कपूरथला के निजामपुर मोड़ गुरुद्वारे में युवक की लिंचिंग ही साबित हुई। पुलिस ने केयरटेकर अमरजीत पर हत्या का केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। इसके बाद जालंधर रेंज के IG जीएस ढिल्लो फिर सामने आए। उन्होंने कहा कि हमें यह घटना के दिन ही कत्ल लग रहा था। मरने वाला निहत्था था और कोई बेअदबी भी नहीं हुई थी।

केस दर्ज करने के बाद हम पोस्टमार्टम रिपोर्ट, जांच और एसएचओ के सुझाव की वजह से रुके थे। अब इस मामले में स्पष्ट हो गया है कि अमरजीत ने उस युवक के कत्ल की साजिश रची। पहले उसे पकड़ा और फिर अपने करीबियों को कत्ल के लिए बुलाया। उस दिन भी हमने कहा था कि बेअदबी नहीं हुई है। इस मामले की जांच की गई है। हो सकता है कि वह चोरी या किसी दूसरी वजह से घुसा हो।

CM ने किया खुलासा, बेअदबी नहीं हत्या की गई

इससे पहले शुक्रवार सुबह CM चरणजीत चन्नी ने चंडीगढ़ में कहा था कि कपूरथला के निजामपुर मोड़ गुरुद्वारे में बेअदबी नहीं, बल्कि युवक की हत्या की गई थी। CM चन्नी के ऐलान के बाद पंजाब पुलिस ने गुरुद्वारे के केयर टेकर अमरजीत सिंह को हत्या के मामले में गिरफ्तार कर लिया है।

अमृतसर के बाद कपूरथला में इस तरह के मामले आने से पंजाब पुलिस और राज्य सरकार की खासी किरकिरी हुई थी। शुरुआत में कपूरथला की घटना को बेअदबी का रूप देने की कोशिश हुई, लेकिन अब साफ हो गया है कि वहां युवक की हत्या हुई थी और यह लिंचिंग का ही मामला है।

चंडीगढ़ में पत्रकारों से CM चन्नी ने बेअदबी के कोई सबूत नहीं मिलने की बात कही है।
चंडीगढ़ में पत्रकारों से CM चन्नी ने बेअदबी के कोई सबूत नहीं मिलने की बात कही है।

बेरहमी : युवक की गर्दन, सिर, छाती और जांघ पर थे तलवारों के 30 कट

कपूरथला में बेअदबी का झूठा आरोप लगाकर कत्ल किए युवक को तलवारों से काटकर बेरहमी से मारा गया। पोस्टमार्टम के बाद डॉक्टरों को युवक के शरीर पर 30 कट मिले थे, जो तलवार से मारे गए थे। डॉक्टरों के 5 मेंबरी बोर्ड ने शव का पोस्टमार्टम किया। इसमें युवक के गर्दन, सिर, छाती और दाईं जांघ पर गहरे जख्म मिले थे। घटना के बाद युवक का शव लेने के लिए कोई नहीं आया, इसके बाद पुलिस ने उसका संस्कार कर दिया।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही IG जीएस ढिल्लो और SSP खख को लिंचिंग से मुकरना पड़ा था।
प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही IG जीएस ढिल्लो और SSP खख को लिंचिंग से मुकरना पड़ा था।

IG-SSP ने भी पहले यही कहा था लेकिन फोन आने पर मुकरे

कपूरथला के निजामपुर मोड़ गुरुद्वारे में एक युवक को बेअदबी के आरोप में पकड़ा था। पहले उसे बेरहमी से पीटा गया। सोशल मीडिया पर वीडियो डालकर भीड़ इकट्‌ठी की गई। इसके बाद पुलिस को उसे हिरासत में नहीं लेने दिया गया। गुरुद्वारे से अनाउंसमेंट कर युवक की हत्या कर दी गई। इसके बाद मौके पर पहुंचे कपूरथला के SSP हरकमलप्रीत सिंह खख ने स्पष्ट कर दिया था कि युवक चोरी के इरादे से आया था, जिसने बेअदबी की कोई कोशिश नहीं की। भीड़ ने युवक को पीट-पीटकर मार डाला। इसके बाद IG जीएस ढिल्लो ने SSP खख के साथ प्रेस कान्फ्रेंस कर पहले कहा कि यह कत्ल का मामला है। हालांकि बाद में लगातार फोन आने पर वह मुकर गए थे।

नए वीडियो ने खोली पूरी पोल

इस मामले में असली पोल तब खुली, जब एक जिम कर्मचारी ने उसका वीडियो वायरल किया। इसमें मारा गया युवक मंदबुद्धि लग रहा था। वीडियो सामने आने के बाद पुलिस और सरकार पर सवाल खड़े होने लगे कि कपूरथला मामले को जानबूझकर बेअदबी का रंग दिया गया। वह असल में मॉब लिंचिंग ही थी।

खबरें और भी हैं...