• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Punjab CM Spent The Night At The Gurdwara, Channi Is Creating The Image Of The Common Man; Found Refuge In Cycling In 2016

पंजाब के CM ने गुरुद्वारे में बिताई रात:आम आदमी की छवि बना रहे चन्नी; 2016 में साइकिल यात्रा में मिली थी शरण

चंडीगढ़10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोगा के गुरुद्वारा साहिब में रुके सीएम चन्नी। - Dainik Bhaskar
मोगा के गुरुद्वारा साहिब में रुके सीएम चन्नी।

पंजाब के नए CM चरणजीत चन्नी VIP चकाचौंध से दूर अपनी 'आम आदमी' छवि बनाने में जुटे हैं। गुरुवार को वह मोगा में कांग्रेस रैली में पहुंचे थे। यहां उन्हें रात रुकना पड़ा तो वह गांव चंदपुराणा के गुरुद्वारा साहिब में पहुंच गए। जहां वह रात भर रुके।

इस दौरान वह किसी होटल-रेस्ट हाउस या किसी पार्टी नेता के आलीशान घर में नहीं गए। यह पहली बार नहीं है, जब सीएम चन्नी ने इस तरह चौंकाया हो। इससे पहले भी वह फुटपाथ पर बैठ लोगों की समस्या सुनने, भंगडा करने, हॉकी गोलकीपर बनने से लेकर अपनी गरीबी की बात कहकर इमेज बनाने की कोशिश कर चुके हैं।

गुरुद्वारा साहिब में माथा टेकते पंजाब के सीएम चन्नी।
गुरुद्वारा साहिब में माथा टेकते पंजाब के सीएम चन्नी।

CM चन्नी का दोहरा सियासी दांव
पंजाब में साढ़े 3 महीने बाद विधानसभा चुनाव हैं। ऐसे में वोट बैंक मजबूत करने के लिए हर रोज आम आदमी की तरह बर्ताव से CM चन्नी सियासत में दोहरा दांव खेल रहे हैं।

  • पहला पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह की महाराजा की छवि को तोड़ रहे हैं ताकि कांग्रेस के खिलाफ बना माहौल कम किया जा सके।
  • दूसरा कारण आम आदमी पार्टी और उसके संयोजक अरविंद केजरीवाल हैं। जो सियासत ही आम आदमी के नाम पर करते हैं।

2016 में भी यहीं रुके थे CM चन्नी
2016 में CM चरणजीत चन्नी कांग्रेस की तरफ से विपक्षी दल के नेता था। सत्ता में अकाली-भाजपा की सरकार थी। इस सरकार के खिलाफ सीएम चन्नी ने समर्थकों के साथ पूरे पंजाब में साइकिल यात्रा निकाली थी। जब यह यात्रा मोगा पहुंची तो सीएम चन्नी गांव चंद पुराणा के इसी शहीद बाबा तेगा सिंह गुरुद्वारा साहिब में ही रुके थे।

CM चन्नी बोले- इसी गुरुद्वारे में मिली थी शरण
CM चरणजीत चन्नी ने कहा कि मेरे लिए इस गुरुद्वारे से इतिहास जुड़ा हुआ है। जब मैंने साइकिल यात्रा निकाली तो 2 हजार युवक थे। उस साइकिल यात्रा को अकाली दल की सरकार ने किसी भी पैलेस में नहीं रुकने दिया। इसके बाद इसी गुरुद्वारे में हमें शरण मिली थी। इसी वजह से मैं इस गुरुद्वारे में रुका।

खबरें और भी हैं...