• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Punjab Election 2022, Punjab Chief Electoral Officer Strict On Political Rallies Amidst The Threat Of Third Wave Of Corona

कोरोना पर पंजाब के मुख्य चुनाव अफसर सख्त:डॉ. राजू बोले- अफसरों को भेजी गाइडलाइन, मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट लागू होते ही काम शुरू होगा

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच पंजाब में चुनावी रैलियों पर पंजाब के मुख्य चुनाव अफसर डॉ. करूणा राजू ने सख्त रवैया दिखाया है। उन्होंने कहा कि मैंने हेल्थ सेक्रेटरी से कोरोना की स्थिति की रिपोर्ट ले ली है। उसे आगे DC, SSP और पुलिस कमिश्नर (CP) को भेज दिया है। उन्हें इस बारे में कदम उठाने को कहा है।

रविवार को सोशल मीडिया पर लाइव आए डॉ. राजू ने कोरोना के खतरे के बीच चुनावी रैलियों पर कहा कि पंजाब चुनाव का मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट लागू होने दो, उसके बाद मैं अपना काम शुरू कर दूंगा। अभी अफसरों को केंद्र सरकार और कोविड से जुड़ी सभी तरह की गाइडलाइंस भेज दी है।

पंजाब के मुख्य चुनाव अफसर डॉ. करूणा राजू।
पंजाब के मुख्य चुनाव अफसर डॉ. करूणा राजू।

कोड लगते ही सख्ती से लागू होंगे नियम
मुख्य चुनाव अफसर डॉ. राजू ने कहा कि मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट लगने के बाद कोरोना से जुड़े नियम सख्ती से लागू होंगे। जहां गेदरिंग की संख्या तय की गई है, वहां उतने ही लोग आ सकते हैं। चुनाव आयोग इन्हें मॉनीटर करेगा। कहीं उल्लंघन हुआ तो कोड के हिसाब से कार्रवाई भी होगी।

बुजुर्ग, दिव्यांग और कोविड मरीजों के लिए पोस्टल बैलेट
डॉ. करूणा राजू ने कहा कि इस बार पंजाब चुनाव में 80 साल से ज्यादा उम्र के लोग पोस्टल बैलेट के जरिए वोट डाल सकते हैं। इसके अलावा जिन दिव्यांगों में 40% से ज्यादा डिसेबिलिटी है, उन्हें भी यह सुविधा मिलेगी। वहीं जो कोरोना पॉजिटिव मरीज होम आइसोलेशन में हैं, उन्हें भी यह सुविधा मिलेगी।

6 लाख नए कार्ड बनाए, 20 जनवरी तक होम डिलीवरी
डॉ. राजू ने कहा कि पंजाब में 6 लाख नए एपिक कार्ड बनाए गए हैं, जिनकी प्रिंटिंग का काम चल रहा है। 5 जनवरी को फाइनल वोटर लिस्ट आएगी, इसके बाद 20 जनवरी तक वोटर कार्डों की होम डिलीवरी कर दी जाएगी। इसके अलावा लोग अपने मोबाइल पर भी वोटर आईडी डाउनलोड कर उसके जरिए वोट दे सकते हैं।

सेहत कर्मी नहीं होंगे बीएलओ
डॉ. करूणा राजू ने कहा कि पंजाब में सेहत कर्मचारियों को बूथ लेवल अफसर (बीएलओ) नहीं बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि उन्हें कोरोना से जुड़े कामों में लगाया जाएगा। जैतों में पुरुष हेल्थ वर्करों को बीएलओ बनाए जाने के बारे में बताने पर उन्होंने कहा कि इसकी जांच की जाएगी।

पोलिंग बूथ के अंदर मोबाइल पर रोक
मुख्य चुनाव अफसर ने कहा कि पोलिंग बूथ के अंदर मोबाइल ले जाने की मनाही रहेगी। कुछ लोग वोट देते वक्त उसकी फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर डाल देते हैं, जो उचित नहीं है। इसके अलावा उन्होंने किसी अफसर के गड़बड़ी करने पर भी सख्त कार्रवाई का भरोसा दिया है। किसी के भी खिलाफ शिकायत पर हर हाल में कार्रवाई होगी। इसका रिजल्ट भी जरूर निकलेगा।

खबरें और भी हैं...