• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Punjab Election Commission Rejects Varinder Sharma's Transfer Recommendation; The Government Had Sent The Proposal Under The Pressure Of The Minister

लुधियाना के DC पर घमासान:पंजाब चुनाव आयोग ने वरिंदर शर्मा की ट्रांसफर की सिफारिश ठुकराई; मंत्री के दबाव में सरकार ने भेजा था प्रपोजल

चंडीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के लुधियाना जिले के DC वरिंदर कुमार शर्मा को लेकर सरकार में घमासान मचा हुआ है। पंजाब चुनाव आयोग ने उनकी ट्रांसफर करने की सरकार की सिफारिश को ठुकरा दिया है। पंजाब सरकार के ही एक मंत्री उन्हें बदलवाना चाहते हैं।

राज्य में साढ़े 3 महीने बाद चुनाव हैं। अभी वोटर सूची में संशोधन का काम चल रहा है। डिप्टी कमिश्नर जिला के चुनाव अफसर भी हैं। ऐसे में ट्रांसफर से पहले सरकार ने चुनाव आयोग से इसकी इजाजत मांगी थी। जिसमें वरिंदर शर्मा की जगह दूसरे IAS अफसर को लगाने की कोशिश की गई थी।

जालंधर से ट्रांसफर के बाद वरिंदर शर्मा ने 15 जून 2020 को लुधियाना DC का चार्ज लिया था
जालंधर से ट्रांसफर के बाद वरिंदर शर्मा ने 15 जून 2020 को लुधियाना DC का चार्ज लिया था

लुधियाना की लोकल राजनीति से जुड़ा मामला

IAS अफसर वरिंदर शर्मा की ट्रांसफर का मुद्दा लोकल राजनीति से जुड़ा बताया जा रहा है। चर्चा है कि इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के किसी मामले में विवाद होने पर डीसी ने पल्ला झाड़ लिया था। जिससे सत्ताधारी कांग्रेस के ही नेताओं पर सवाल उठ गए थे। जिसके बाद उन्हें एक मंत्री की नाराजगी झेलनी पड़ी।

CM चन्नी नहीं थे समर्थन में

सूत्रों की मानें तो CM चरणजीत चन्नी इस ट्रांसफर के हक में नहीं थे। इसके बावजूद मंत्री के दबाव में सरकार को डीसी वरिंदर शर्मा की ट्रांसफर की फाइल चुनाव आयोग को भेजनी पड़ी। हालांकि आयोग के फैसले से सरकार के साथ मंत्री को भी बड़ा झटका लगा है।

पंजाबी से की IAS, 2009 बैच के अफसर

वरिंदर शर्मा ने पंजाबी से IAS की है। UPSC मेन्स के एग्जाम उन्होंने पंजाबी से दिया। उनका इंटरव्यू भी पंजाबी में हुआ। वरिंदर शर्मा 2009 में UPSC की मैरिट में चौथे नंबर पर थे। लुधियाना से पहले वह जालंधर के DC रहे। वह पंजाब में ही लालड़ू के भागसी गांव के रहने वाले हैं। उनके माता-पिता टीचर थे। इससे पहले वे पंजाब राज्य बिजली बोर्ड में एसडीओ रहे। फिर 2003 में PCS एग्जाम क्लियर कर फूड सप्लाई महकमे में DFSC रहे। जिसके बाद वे IAS बने। 

खबरें और भी हैं...