पंजाब में कोरोना से हारती जिंदगी:चौबीस घंटे में सर्वाधिक 39 लोगों ने दम तोड़ा; 7 दिन में 214 मर चुके; 106 वैंटिलेटर पर

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब में सरकारी इंतजामों की लापरवाही के बीच जिंदगी कोरोना से हार रही है। कोरोना रोकने के कदम उठाने में देरी से मौतें तेजी से बढ़ रही हैं। पिछले चौबीस घंटे में सर्वाधिक 39 लोगों ने दम तोड़ दिया। यही नहीं, पिछले 7 दिन में 214 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। हालात इस कदर बिगड़े हुए हैं कि पंजाब में 106 लोग वैंटिलेटर पर जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। इसके बावजूद सरकार कोरोना रोकने में कोई सख्ती बरतती नजर नहीं आ रही है।

पटियाला, लुधियाना, अमृतसर और जालंधर में बढ़ी मौतें

मौतों के लिहाज से 4 जिलों के हालात बदतर हैं। सोमवार को सबसे ज्यादा 7 मौतें लुधियाना में हुईं। पटियाला में 7 लोगों ने दम तोड़ा। कोरोना की इस लहर में सबसे पहले पटियाला ही हॉटस्पॉट बना। अमृतसर में 5 और जालंधर में 4 लोगों की मौत हुई। इनके अलावा गुरदासपुर, फिरोजपुर और मोहाली में 3-3, फतेहगढ़ साहिब और होशियारपुर में 2-2 और बठिंडा, कपूरथला, मुक्तसर और मानसा में 1-1 व्यक्ति ने कोरोना से दम तोड़ा।

आगे भी बढ़ेंगी मौतें.. क्योंकि 1630 लाइफ सेविंग सपोर्ट पर

पंजाब में आने वाले दिनों में भी मौतें बढ़ती जाएंगी। अभी भी 1630 लोग लाइफ सेविंग सपोर्ट पर हैं।

  • पंजाब में 1,191 लोगों को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है यानी लोगों को कोरोना की वजह से सांस लेने में तकलीफ हो रही है।
  • 333 मरीजों को ICU में रखा गया है। इनकी हालत क्रिटिकल बनी हुई है।
  • 106 मरीजों की हालत नाजुक हैं। जिन्हें वैंटिलेटर पर रखा गया है। इन्हें सांस की तकलीफ के साथ और भी दिक्कतें हो रही हैं।

थोड़ी राहत यह...लगातार दूसरे दिन नए मरीजों से ज्यादा ठीक हुए

पंजाब के लिहाज से थोड़ी राहत यह जरूर है कि लगातार दूसरे दिन नए मरीजों से ज्यादा लोग ठीक हुए। सोमवार को 5,778 नए मरीज मिले जबकि 6,479 लोग ठीक हुए। रविवार को कोरोना के 5,664 मरीज मिले थे, जिनके मुकाबले 7,660 मरीज ठीक हुए।

पंजाब में जिलावार कोरोना मरीजों की स्थिति....

खबरें और भी हैं...