• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Punjab University Teachers Association Will Conduct Open Meeting Of 'stakeholders' On Governance Reforms Issue

पीयू सीनेट के भविष्य का सवाल:पंजाब यूनिवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन गवर्नेंस रिफॉर्म्स मसले पर ‘स्टेकहोल्डर्स’ की ओपन मीट कराएगी

चंडीगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीयू टीचर्स एसोसिएशन ने सीनेट के भविष्य को लेकर इससे जुड़े लोगाें से बात करने के लिए मीटिंग बुलाई। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
पीयू टीचर्स एसोसिएशन ने सीनेट के भविष्य को लेकर इससे जुड़े लोगाें से बात करने के लिए मीटिंग बुलाई। फाइल फोटो
  • पीयू कैंपस में 20 मार्च को होगा प्रोग्राम, कमेटी ने 19 तक मांगे हैं ऑनलाइन सजेशन
  • टीचर्स का कहना- एक सदी पुरानी सीनेट को एकाएक खत्म करने का तरीका गलत होगा

पंजाब यूनिवर्सिटी में गवर्नेंस रिफॉर्म्स को लेकर चांसलर व उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू की ओर से बनाई गई हाई पावर कमेटी ने बेशक ऑनलाइन सुझाव 19 मार्च तक मांगे हैं, लेकिन पीयू टीचर्स एसोसिएशन (पुटा) 20 मार्च को सभी स्टेकहोल्डर्स की मीट कराएगी। यह प्रोग्राम यूनिवर्सिटी कैंपस में रखा जाएगा और सारे सुझाव कमेटी को भेजे जाएंगे।

ऑन लाइन सजेशन पर आपत्ति

पुटा पहले ही इस बारे में एक लेटर चांसलर को लिख चुकी है, जिसमें उन्होंने आपत्ति जताई है कि सजेशन सिर्फ ऑनलाइन क्यों मांगे जा रहे हैं। कमेटी के मेंबर्स को सभी स्टेकहोल्डर से मिलकर सुझाव लेने चाहिए और उसके बाद ही फैसला करना चाहिए। उन्होंने 2 महीने के समय को भी इस फैसले के लिए कम बताया है। साथ ही सीनेट को खत्म करने का डिसीजन भी वह सही नहीं मान रहे।

ओपन डिस्कशन जरूरी

पुटा सेक्रेटरी अमरजीत सिंह नौरा ने कहा कि एसोसिएशन इस पर डिस्कशन कराएगी और सभी के सुझाव और व्यू प्वाइंट को लेकर एक क्रिस्प रिपोर्ट तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि एक ओपन डिबेट और डिस्कशन के बिना इतनी बड़ी ऐतिहासिक यूनिवर्सिटी के बारे में फैसला करना निश्चय ही गलत होगा। ओपन डिस्कशन और बहस के लिए सभी लोग आमंत्रित हैं। वह लोग जो लंबे समय से यूनिवर्सिटी की गवर्नमेंट स्ट्रक्चर से जुड़े हैं और दूसरे भी। लगभग एक सदी पुरानी लोकतांत्रिक व्यवस्था को एक बार में मिटा देना ठीक नहीं होगा। यह व्यवस्था पीपल सेंट्रिक है। इस व्यवस्था को खत्म करने से पहले यह जानना भी जरूरी है कि असल में क्या गलत हो रहा है जिसकी वजह से इसे बदलने की जरूरत है। टीचर्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट डॉ. मृत्युंजय कुमार और सेक्रेटरी डॉ नौरा ने कैंपस में इस इवेंट को कराने के लिए वाइस चांसलर को इस बारे में लेटर भी लिखा है।