• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Rakesh Tikait Should Throw Bhangra Once, Jalebi Should Be Distributed, Modi Should Speak Zindabad Once

गृह मंत्री विज का टिकैत पर वार:कहा- भाकियू नेता एक बार भंगड़ा डाले; जलेबी बांटे और फिर मोदी जिंदाबाद कहना चाहिए

चंडीगढ़9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अनिल विज और राकेश टिकैत। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
अनिल विज और राकेश टिकैत। (फाइल फोटो)

किसान आंदोलन का एक साल पूरा होने के बाद शुक्रवार को हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज फिर किसान नेता राकेश टिकैत पर निशाना साधा। विज ने किसान नेता राकेश टिकैत से प्रश्न करते हुए कहा कि अब PM मोदी ने तीन कृषि कानून वापस ले लिए और किसानों की इतनी बड़ी बात मान ली है, तो टिकैत ने कभी भंगड़ा नहीं डाला। आपने कभी जलेबी नहीं बाटी, आपने कभी ढोल नहीं बजाए। कम से कम एक बार प्रधानमंत्री की घोषणा को लेकर यह चीजें कर लें और प्रधानमंत्री का धन्यवाद करें।

विज ने कहा कि किसान नेता राकेश टिकैत को इन तीनों बिलों को वापस लेने के लिए एक बार तो नरेंद्र मोदी जिंदाबाद बोलना चाहिए। उनका सबसे बड़ा मसला हल हो गया है अगर यह नहीं बोलते हैं तो इनका कोई हिडन एजेंडा है। विज ने कहा कि सरकार बातचीत के लिए तैयार है और इसीलिए प्रधानमंत्री ने एक ही बार में किसानों की बात को मान लिया है लेकिन किसान नेता राकेश टिकैत इस निर्णय के बाद यह काम करने से चूक गए। उन्होंने प्रधानमंत्री का एक बार भी धन्यवाद नहीं किया और आज आंदोलन करते एक साल हो गया। इसलिए इन्हें खुले दिल से प्रधानमंत्री का धन्यवाद कर देना चाहिए क्योंकि जो मुद्दा यह लेकर चले थे उस मुद्दे को प्रधानमंत्री ने मान लिया है।

संगठन आंदोलन को लंबा खींचना चाहते हैं

अनिल विज ने कहा कि सरकार बातचीत के लिए कभी पीछे नहीं रही है और सरकार की तरफ से कोई संशय नहीं करना चाहिए। अब किसानों के क्या मुद्दे हैं, आपस में इतने सारे यह संगठन हैं, यह एक मुद्दे पर एक हो पाते हैं या नहीं हो पाते हैं क्योंकि यह बातचीत नहीं करना चाहते और आंदोलन को लंबा खींचना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पहले यह कहते थे कि तीनों कानूनों को वापस ले लो, हम घर चले जाएंगे, अब वापस ले लिए हैं तो यह घर नहीं जाते, धन्यवाद नहीं करते, इनके मन की बातें यही जानते हैं और सरकार अपनी तरफ से खुले दिल से बातचीत के लिए तैयार है।