• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Robotic Labs Will Be Set Up In Chandigarh Government Schools, Students Will Get Help; Amount Approved By The Ministry For Labs

चंडीगढ़ के सरकारी स्कूलों में अब रोबोटिक लैब्स:स्टूडेंट्स को मिलेगी प्रैक्टिकल की सुविधा; शिक्षा मंत्रालय देगा 91 लाख रुपए

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

चंडीगढ़ के सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर बढ़ाने के मकसद से चंडीगढ़ शिक्षा विभाग एक नई पहल करने जा रहा है। शहर के 14 सरकारी स्कूलों में रोबोटिक लैबोरेटरी बनाने की तैयारी है। इससे स्टूडेंट्स को बुक्स की बजाय प्रैक्टिकली आधुनिक तरीके से सीखने में मदद मिलेगी और सोच का दायरा भी बढ़ेगी। शिक्षा मंत्रालय द्वारा ऐसी लैब बनाने के लिए प्रत्येक समूह के लिए 91 लाख रुपए की रकम मंजूर की गई है। प्रोजेक्ट अप्रूवल बोर्ड की बैठक में यह मंजूरी दी गई है।

लैब में होगा ये सामान

जानकारी के मुताबिक हर लैब में एक रोबोटिक लैब होगी। लैब में रोबोटिक किट, DIY सर्किट किट्स, प्रोग्रामिंग एक्ट, मैकेनिकल कंस्ट्रक्शन सेट, 3D प्रिंटर और पेन, मैकेनिकल फेब्रिकेशन टूल्स, ड्रोन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और अन्य सामान होगा। इससे स्टूडेंट्स साईंस और गणित के प्रैक्टिकल कंसेप्ट को आसानी से समझ पाएंगे। 'लर्निंग-बॉय-डूइिंग अप्रोच' के जरिए यह संभव हो पाएगा। स्टूडेंट हैंड्स-ऑन ऐक्सपैरिमैंट कर पाएंगे।

ये सीखेंगे बच्चे

लैब में DIY सर्किट किट्स मौजूद होंगी जिससे स्टूडेंट्स भौतिक विज्ञान में मूलभूत लॉज़ सर्किट के बारे में समझ पाएंगे। प्रोग्रामिंग किट के जरिए स्टूडेंट्स रोबोटिक्स पर विभिन्न पहलुओं पर अपने विचार केंद्रित कर पाएंगे। प्रोग्रामिंग स्किल और कोडिंग के जरिए वह इसकी एप्लीकेंशंस के बारे में भी जान पाएंगे।

स्टूडेंट्स डिजाइन बना सकेंगे

स्टूडेंट्स को अगले स्तर पर ले जाने के लिए DIY सर्किट किट्स के साथ एक मैकेनिकल ढांचा काफी मदद करेगा। एक कंप्यूटर-एडिड डिजाइन(CAD) सॉफ्टवेयर के जरिए स्टूडेंट्स अपने बनाए डिजाइन देख पाएंगे। 3D प्रिंटर और पेन के जरिए यह संभव हो पाएगा।

फेब्रिकेशन उपकरणों की होगी विशेषता

इस लैब में एक मेकेनिकल फेब्रिकेशन उपकरणों की विशेषता भी दी जाएगी। इससे स्टूडेंट्स प्लायर्स, उपकरणों, क्लैंप्स और हक्सा के जरिए अपने डिजाइन का निर्माण कर पाएंगे। वहीं स्टूडेंट्स की सुरक्षा के लिए सुरक्षा उपकरण भी लैब में होंगे ताकि प्रोजेक्ट निर्माण आदि के दौरान सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।