• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Sidhu Will Take Charge Of Congress Bhavan, The Government Is Setting Up A New AG; CM Channi Will Also Be With Him; Did Not Come To Office After Resignation

डेढ़ महीने बाद कांग्रेस भवन पहुंचे सिद्धू:इस्तीफे वापस लेने के बाद अब ऑफिस का चार्ज संभाला; AG-DGP की नियुक्ति के बाद छोड़ी थी कुर्सी

चंडीगढ़10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस भवन में चार्ज संभालने के बाद नवजोत सिद्धू। - Dainik Bhaskar
कांग्रेस भवन में चार्ज संभालने के बाद नवजोत सिद्धू।

पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिद्धू ने डेढ़ महीने बाद चंडीगढ़ स्थित कांग्रेस भवन में ऑफिस का चार्ज संभाल लिया है। मंगलवार को वे कांग्रेस भवन पहुंचे। सिद्धू के साथ पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश चौधरी और पूर्व केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार भी मौजूद थे।

नवजोत सिद्धू ने 28 सितंबर को पंजाब कांग्रेस प्रधान पद से इस्तीफा दे दिया था। वह पंजाब के नए एडवोकेट जनरल एपीएस देयोल और डीजीपी इकबालप्रीत सहोता की नियुक्ति का विरोध कर रहे थे। हालांकि 5 नवंबर को उन्होंने इस्तीफा वापस ले लिया था।

सिद्धू की चली, AG को हटाया, DGP भी बदले जाएंगे

नवजोत सिद्धू जिद पर अड़ गए कि AG एपीएस देयोल को हटाया जाए। सिद्धू का कहना था कि एडवोकेट देयोल ने बेअदबी और उससे जुड़े गोलीकांड केस के प्रमुख आरोपी पूर्व डीजीपी सुमेध सैनी को ब्लैंकेट बेल दिलाई। ऐसे में वह सरकार को इंसाफ नहीं दिला पाएंगे। सरकार ने उनकी जिद मान एजी को हटा दिया।

दूसरा सिद्धू DGP इकबालप्रीत सहोता को हटाने की मांग कर रहे हैं। सिद्धू का कहना है कि बेअदबी की पहली SIT के प्रमुख रहे सहोता ने तत्कालीन बादल सरकार को क्लीन चिट दी थी। सरकार ने तय किया कि UPSC को अफसरों के नाम भेजे हैं। वहां से पैनल आने के बाद सहोता को भी हटा दिया जाएगा।

सिद्धू ने पहले 23 जुलाई को कांग्रेस भवन का चार्ज संभाला था
सिद्धू ने पहले 23 जुलाई को कांग्रेस भवन का चार्ज संभाला था

अब संगठन बनाने और प्रचार पर फोकस

पंजाब में पिछले साल जनवरी से कांग्रेस के संगठन भंग चल रहे हैं। सिद्धू ने जुलाई में पंजाब कांग्रेस चीफ का पद संभाला। हालांकि उसके बाद का वक्त कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम की कुर्सी से हटाने में निकल गया। चरणजीत चन्नी नए सीएम बन गए।

कांग्रेस को उम्मीद थी कि अब सिद्धू खुलकर पार्टी का काम करेंगे। लेकिन सिद्धू का सीएम चन्नी से भी अफसरों की नियुक्ति पर टकराव हो गया। हालांकि अब मामला सुलझने के बाद कांग्रेस का फोकस संगठन बनाने और अगले साल होने वाले चुनाव के प्रचार पर रहेगा।

कांग्रेस हाईकमान के बाद अब CM चन्नी को सिद्धू की सुननी पड़ रही है
कांग्रेस हाईकमान के बाद अब CM चन्नी को सिद्धू की सुननी पड़ रही है
खबरें और भी हैं...