पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

प्रोसेसिंग प्लांट:जल्द डंपिंग ग्राउंड में फेंका जाएगा 25 हजार टन कूड़ा

चंडीगढ़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सेक्टर-25 वेस्ट स्थित गारबेज प्रोसेसिंग प्लांट के अंदर पड़ा कूड़ा।
  • प्रोसेसिंग प्लांट में जमा इस कूड़े को उठाने के लिए तीन कंपनियां आई हैं, एमओएच िवंग ने कॉल किया है 80 लाख का टेंडर
  • 5 लाख मीट्रिक टन कचरे की खुदाई करके वाली कंपनी से एमसी 25 हजार टन प्रोसेस करवाएगा, शहर में निकलता है रोज 500 टन कचरा

सेक्टर-25 वेस्ट स्थित गारबेज प्रोसेसिंग प्लांट के अंदर डंप हुए 25 हजार टन कचरे को उठाकर डंपिंग ग्राउंड में फेंकने के लिए एमओएच विंग ने 80 लाख का टेंडर काॅल किया है। इस टेंडर की बिड में तीन कंपनी (खेर कंस्ट्रक्शन,अजित सिंह एंड संस और शिक्षा इंटरप्राइजिज) आई हैं। अब इनकी टेक्निकल बिड में लगे कागजों की चेकिंग होगी। इनमें से इल्लीजिबल कंपनी की फाइनेंशियल बिड खोली जाएगी। फाइनेंशियल बिड में लोएस्ट वन कंपनी को टेंडर अलॉट होगा। वहीं 25 हजार टन कचरा उठाकर डंपिंग ग्राउंड में फेंकेगी। वहां स्मार्ट सिटी की ओर से लगाई गई मशीनों से प्रोसेस करवाया जाएगा।

शहर से प्रतिदिन 500 टन कचरा निकलता है, लेकिन प्लांट में जेपी एसोसिएट कंपनी मुश्किल से रोजाना 100 टन कचरे को प्रोसस करती थी। इसकी वजह से गारबेज प्रोसिंग यूनिट में 25 हजार टन कचरे का पहाड़ बन गया। वहां परिसर में कचरा जमा होने पर स्पेस नहीं बचा है। इस हालत को देखते निगम ने 19 जून को प्लांट का जेपी एसोसिएट से पजेशन ले लिया था। हालांकि प्लांट की मशीनरी अपग्रेडेशन होने के बाद ही गारबेज प्रोसेस की कैपेसिटी बढ़ेगी। लेकिन अभी भी रोजाना 150 से 200 टन ही गारबेज प्रोसेस हो रहा है। वहीं प्लांट परिसर में डंप पड़े कचरे से गाडियों के लिए स्पेस नहीं बचा है। इसी लिए गाडियों को लाइन में लगाकर कचरा अनलोड किया जाता है।

35 फीट ऊंचा डंपिंग ग्राउंड का पहाड़ भी 2022 मार्च तक होगा प्रोसेस: नगर निगम ने शहर से निकलने वाले कचरे को प्रोसेस करने के लिए जेपी एसोसिएट के साथ 2005 में एमओयू किया था। कंपनी को 1 रुपया लीज पर 20 एकड़ जमीन दी गई। जिसपर जेपी ने 2008 में प्लांट लगाया और अप्रैल 2008 में पंजाब के गवर्नर एवं नगर प्रशासक से इसका उदघाटन करवा लिया। लेकिन प्लांट अक्टूबर 2009 में वर्किंग हुआ। इसकी वजह से डंपिंग

ग्राउंड पर कचरे का पहाड़ बन गया। एनजीटी के ऑर्डर अनुसार कचरे के पहाड़ को रिमूव नहीं करते तो निगम पर एन्वायर्नमेंट प्रदूषित करने का 10 लाख जुर्माना लग जाता। इसके प्रोसेस करवाने के लिए निगम के पास फंड नहीं था। ऐसे में स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से निगम कमिश्नर द्वारा डंपिंग ग्राउंड के पहाड़ से 5 लाख मीट्रिक टन कचरा खोदकर प्रोसेस करने का 38 करोड़ का टेंडर काल किया गया। टेंडर एन्वायरो कंपनी को 34 करोड़ में अलॉट हुआ।, जिसका मार्च 2022 तक काम चलेगा।

गारबेज प्रोसेसिंग यूनिट में डंप 25 हजार टन कचरे को उठाकर डंपिंग ग्राउंड में लगी मशीनरी में प्रोसेस करवाया जाएगा। प्लांट से उठाकर डंपिंग ग्राउंड तक ले जाने का टेंडर काल किया है। इसकी टेक्निकल बिड खोल दी है। फाइनेंशियल बिड खोलने में वीक से ज्यादा समय लगेगा।  
अमृत पाल सिंह वडिंग, एमओएच डॉक्टर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें