हरियाणा विधानसभा सत्र में 8 विधेयक हुए पास:ज्ञान चंद गुप्ता बोले- 19 घंटे 53 मिनट चला सदन, 63 विधायकों ने कार्रवाई में भाग लिया

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता । - Dainik Bhaskar
विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ।

हरियाणा विधानसभा सत्र के समापन के बाद गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि 63 विधायकों ने सदन की प्रकिया में भाग लिया। मंत्री, स्पीकर और डिप्टी स्पीकर की संख्या करीब 14 है। बाकी संख्या 76 रह जाती है। जिसमें से तीन अनुपस्थित रहे। चार ने बोलने की इच्छा जाहिर नहीं की। 6 सदस्य ध्यानकर्षण प्रस्ताव के दौरान बोल चुके थे, इसलिए उन्हें शून्यकाल में बोलने नहीं दिया गया। सत्र में कुलदीप बिश्नोई और गोपाल कांडा एक-एक दिन और प्रमोद विज दो दिन नहीं आए। जबकि दूडाराम पारिवारिक कारणों से सदन में नहीं आए। विधानसभा सत्र के दौरान आठ विधेयक पास हुए। सामान्य सत्र चलने का समय 4 घंटे होता है, लेकिन अंतिम दिन सदन 7 घंटे चला। अबकी बार सदन कुल 19 घंटे 53 मिनट चला।

विधायकों की गाड़ी भत्ता और ड्राइवर देने की मांग

विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि कुछ विधायकों ने एक महीना पहले तेल भत्ता, ड्राइवर और स्टेनों भत्ता बढ़ाने के लिए ज्ञापन दिया था। विधायकों का तर्क था कि अभी हमें 18 रुपये प्रति किलोमीटर तेल भत्ता मिलता है। यह भत्ता तब तय किया था जब पेट्रोल की कीमत 60 रुपये थी। इसलिए अब 25 रुपये प्रति किलोमीटर तेल भत्ता दिया जाए। इसी तरह से स्टेनो भत्ता 15 हजार रुपये हैं। इसे बढ़ाकर 25 हजार रुपये किया जाए। अध्यक्ष ने कहा कि हमने यह प्रस्ताव सरकार के पास भेज दिया था। इस संबंध में एक मीटिंग भी हो चुकी थी, लेकिन सरकार ने अभी इस पर कोई निर्णय नहीं लिया।

ई विधानसभा करने की पहल

उन्होंने कहा कि हमने अगले बजट सत्र से पहले ई विधानसभा रखने का लक्ष्य लिया है। प्रोजेक्ट की डीपीआर बन कर आ चुकी है। आज ही मिनिस्ट्री ऑफ पॉर्लियामेंट अफेयर के साथ मीटिंग हुई है। राज्य सरकार का 93.98 करोड़ रुपये आ चुका है। जबकि केंद्र से 8.53 करोड़ रुपए सेंशन हो चुके हैं। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह ने जो सदन में वाट्सअप चेट का उल्लेख किया, उसे सरकार को जांच के लिए दे देना चाहिए।