पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्टार्ट अप:साइकोलॉजी में दिलचस्पी हुई तो शुरू किया बिजनेस, कोविड-19 में लोगों की मानसिक स्थिति पर कराया सर्वे

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आईएसबी में पढ़ाई के दौरान की शुरू कर दिया स्टार्ट अप

इंडियन स्कूल ऑफ बिजेनस (आईएसबी) मोहाली में एमबीए के साथ ही आईएएस की तैयारी चल रही थी। इसी में इलेक्टिव सब्जेक्ट था साइकोलॉजी। इसमें इतनी दिलचस्पी हो गई कि धीरे-धीरे इसी ओर रुझान बढ़ा और फिर पेंशेंट्स की मदद ओर साइकोलॅाजिस्ट्स को एक मंच देने के लिए एप्प और वेबसाइट तैयार कर दी।

ये बताते हैं आईएसबी के अटल इनोवेशन एंड इंक्युबेशन सेंटर में अपना स्टार्ट अप टिकटॉक-2 चला रहे अभय सिंघल। मूल तौर पर लुधियाना के रहने वाले सिंघल ने कोविड 19 के दौर में ना सिर्फ देश भर में हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स में काउंसलिंग की सुविधा उपलब्ध कराई बल्कि उन्होंने सरकार को एक सर्वे भी करके दिया जिसकी रिपोर्ट पॉलिसी मेकर्स को सौंपी गई। ये आईआईएम हैदराबाद और उनकी वेबसाइट पर उपलब्ध है। अभय बताते हैं कि उनका ये एप पूरी तरह से थेरेपी फोकस मॉडल है।

साइकोलॉजिकल समस्याओं में कंटीन्यूस कनेक्ट जरूरी होता है। एमबीए करते हुए इस विषय में दिलचस्पी हो गई थी लेकिन साथ ही वह एक कंपनी के साथ काम भी कर रहे थे। वहां पर उनका स्कूली स्टूडेंट्स से वासता था। इनसे मुलाकात के दौरान डाउन सिंंड्राेम और स्पेशल किड्स के पेरेंट्स रो ही पड़ते। धीरे-धीरे देखा कि ये समस्या बहुत गंभीर है। इसलिए स्टार्ट अप शुरू किया। यहां पर पहले साइकोमीट्रिक असेस्मेंट है जो फ्री है। इसके लिए हैप्पीनेस काउंसलर आपको मदद करता है। यदि आपको साइकोलॉजिकल हेल्प की जरूरत है तो आगे आप अलग-अलग पैकेज ले सकते हैं।

इस बीच कोविड 19 के दौरान उनको डिपार्टमेंट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलाॅजी और नॉलेज पार्क से मदद मिली। मिनिस्ट्री ऑफ एचआरडी ने भी संपर्क किया और ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) के लिए उनको फ्री मदद उपलब्ध कराने के लिए कहा। उन्होंने सभी इंजीनियरिंग हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूट्स के लिए मदद उपलब्ध कराई। इसके साथ ही उन्होंने आंकड़े भी निकाले कि किस उम्र में, किस राज्य में किस तरह की समस्याएं हैं। इस सर्वे रिपोर्ट के आधार पर आगे पॉलिसीज बनाई जा सकती हैं।असेंटर ऑफ मैनेजमेंट ऑफ हेल्थ, आईआईएम अहमदाबाद पर ये आंकड़े उपलब्ध हैं।

सबसे ज्यादा समस्याएं

डिप्रेशन, एंजायटी, पर्सनेलिटी फंक्शनिंग सबसे ज्यादा समस्याए हैं। करीब 30 फीसदी पुरुषें, इतनी ही संख्या में महिलाओं में टेंशन पाई गई। करीब 10 फीसदी किशोरों, 40 फीसदी से अधिक युवाओं में ये समस्याएं पाई गई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

    और पढ़ें