एडवाइजरी कमेटी की मीटिंग में फ्यूचर रेडी सिस्टम पर जोर:आरटीई एक्ट में दाखिलों के लिए दूसरे राज्यों की स्टडी, जरूरतों के हिसाब से रोडमैप बनाएं

चंडीगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ में हेल्थ के बाद सबसे ज्यादा फोकस एजुकेशन सिस्टम को बेहतर करने पर रहता है। बजट में भी इन्हीं दो विभागों को प्राथमिकता मिलती है। बावजूद इसके चंडीगढ़ में खासतौर से सरकारी स्कूलों में इंफ्रास्ट्रक्चर से लेकर कई तरह की खामियां और गैप हैं। हाल ही में नगर निगम पार्षदों ने भी एजुकेशन सिस्टम को लेकर एडवाइजर के साथ हुई मीटिंग में सवाल किए थे। शुक्रवार को एडवाइजर धर्म पाल की अध्यक्षता में राइट टु एजुकेशन एक्ट को लेकर बनाई गई स्टेट एडवाइजरी काउंसिल की मीटिंग में इस एक्ट की इंप्लीमेंटेशन से लेकर पूरे एजुकेशन सिस्टम को भविष्य की जरूरतों के हिसाब से आगे ले जाने की प्लानिंग की गई।

एडवाइजर ने डिपार्टमेंट को निर्देश दिए हैं कि आगे एजुकेशन सेक्टर को किस तरह की जरूरतें होंगी, उनको हम किस तरह से लागू कर सकेंगे, कितने फंड्स की जरूरत पड़ेगी इसको लेकर एक रोडमैप तैयार करें, जिसमें डिपार्टमेंटवाइज और स्कूलवाइज ब्लूप्रिंट हो। इसमें फेज़ वाइज किस तरह से आगे बढ़ा जाए, बेहतर सिस्टम कैसे हो इस सब को लेकर प्रावधान रहने चाहिए।

रिइम्बर्समेंट पेमेंट होगी जारी : मीटिंग में कहा गया कि आरटीई एक्ट के तहत प्रति स्टूडेंट हुए खर्च की बकाया ईडब्ल्यूएस कॉस्ट रिइम्बर्समेंट पेमेंट्स में तेजी लाई जाए। अफसरों को कहा गया है कि प्रोसेस तेज करें और प्राइवेट स्कूलों को जल्द पेमेंट जारी कर दी जाए। वहीं आगे भी इस तरह की पेमेंट में देरी न हो इसके लिए प्राॅपर सिस्टम डेवलप करने को कहा गया है।

इनकम सर्टिफिकेट के फाॅर्म में होगा बदलाव
एडमिशन के लिए इस्तेमाल होने वाले इनकम सर्टिफिकेट में कुछ बदलाव करने के निर्देश मीटिंग में दिए गए हैं। एडवाइजर ने डिप्टी कमिश्नर ऑफिस को कहा है कि वे ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के लिए जारी किए जाने वाले इन इनकम सर्टिफिकेट को रिव्यू करें और एप्लीकेशन फाॅर्म में जो जरूरी बदलाव किए जाने चाहिए उनकी पहचान कर फाॅर्म को दोबारा से तैयार करवाएं। ताकि सिर्फ योग्य लोगों को ही इसका फायदा हो और लोग फर्जी सर्टिफिकेट न बनवा सकें। साथ ही सर्टिफिकेट बनाने के प्रोसेस को सरल और ट्रांसपेरेंट बनाने को कहा गया है।

महराष्ट्र, दिल्ली से लेकर पंजाब और हरियाणा के स्कूलों की स्टडी करेगा चंडीगड़;चंडीगढ़ के सभी स्कूलों में ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के तहत दाखिलों को लेकर एक तरह से ही काम हो इसके लिए अलग-अलग राज्यों के स्कूलों की स्टडी की जाएगी। मीटिंग में तय किया गया है कि चंडीगढ़ का एजुकेशन डिपार्टमेंट स्टडी करेगा कि महाराष्ट्र, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब किस तरह का प्रोसिजर अपने यहां स्कूलों में ईडब्लयूएस एडमिशन को लेकर रखते हैं।

अगले सेशन से इस तरह के दाखिलों के लिए चंडीगढ़ में ऑनलाइन माॅनिटरिंग सिस्टम भी शुरू किया जाएगा जो यहां के सभी स्कूलों के लिए लागू होगा। इस सिस्टम के जरिए ईडब्ल्यूएस कैटेगरी के तहत होने वाली सभी एडमिशंस पर नजर रखी जाएगी।

खबरें और भी हैं...