पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पीयू का बयान:सिंडीकेट मेंबर्स ने बुलाई मीटिंग, पीयू ने कहा- ये ऑफिशियल नहीं है

चंडीगढ़12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो
  • आरोप- वीसी और रजिस्ट्रार सही तरीके से पूरी नहीं कर रहे जिम्मेदारियां
  • पिछले सप्ताह किया था सीनेट मेंबर्स ने प्रोटेस्ट, वीसी ने दिया था मीटिंग का आश्वासन

पंजाब यूनिवर्सिटी के सिंडीकेट मेंबर्स अपने स्तर पर 23 नवंबर को सिंडीकेट की मीटिंग करेंगे। हालांकि ये मीटिंग ऑफिशियल नहीं होगी। पीयू प्रशासन ने स्पष्ट कर दिया है कि ये मीटिंग ऑफिशियल नहीं है। सिंडीकेट की मीटिंग बुलाने के लिए और सीनेट के इलेक्शन कराने को लेकर पिछले सप्ताह भी सीनेट के मेंबर्स ने वीसी ऑफिस पर प्रोटेस्ट किया था ।

जिसके बाद वीसी प्रो राज कुमार ने आश्वासन दिया था कि मीटिंग जल्द बुलाई जाएगी लेकिन इस बारे में अभी तक नोटिस नहीं हुआ। सीनेेट के ग्रुप में संदेश भेजा है कि चूंकि वीसी और रजिस्ट्रार अपनी जिम्मेदारियां निभाने में अक्षम हैं इसलिए ये फैसला किया जा रहा है। सिंडीकेट के मेंबर्स द्वारा ये संदेश डालने के बाद पीयू सीनेट ग्रुप ने सभी मेंबर्स के संदेश डालने पर रोक लगा दी।

सीनेटर डॉ हरप्रीत सिंह दुआ का मैसेज आने के बाद ही सभी लोग मैसेज करने लगे थे जिसके बाद एडमिन यानि डिप्टी रजिस्ट्रार जनरल ब्रांच ने सभी के मैसेज भेजने पर रोक लगा दी और सेक्रेटरी टू वाइस चांसलर डॉ मुनिश्वर जोशी ने तो ग्रुप ही छोड़ दिया।

सिंडीकेट की मीटिंग बुलाने की डिमांड लंबे समय से हो रही है। कोविड 19 का हवाला देते हुए पीयू के प्रशासनिक अधिकारियों ने दो बार ऑनलाइन मीटिंग रखी लेकिन इसमें भाजपा ग्रुप से प्रो राजिंदर भंडारी और प्रिं आरएस झांजी तक शामिल नहीं हुए।

ये होगा डिसकस

  • सिंडीकेट की बाद में अप्रूवल के आधार पर जो भी डिसिजन लिए, वह डिसकस होंगे। 14 के तहत वह डिसिजन ले सकते हैं लेकिना आगामी मीटिंग में सिंडीकेट को बताना जरूरी है।
  • पीयू कैंपस और कॉलेजों को खोलने का मुद्दा।
  • कैस प्रमोशन को टालने का मामला।
  • कॉलेजों की समस्याओं को डिसकस करेंगे।
  • वाइस चांसलर का व्यवहार और फेलियर को डिसकस करके सीनेटर चांसलर को रिपोर्ट भेजेंगे।
  • वीसी को सिंडीकेट की ओर से दी गई शक्तियां वापस ली जा सकती हैं।

रैगुलेशन 6, पेज नंबर 32 पर लिखा है कि मीटिंग सेक्रेटरी यानि रजिस्ट्रार द्वारा चेयरमैन यानि वीसी के आदेश या पूरी सिंडीकेट की आदेश पर बुलाई जा सकती है। इसमें समय पर जगह, तारीख, घंटे और एजेंडा सभी मेंबर्स को पहुंचाना भी उनकी जिम्मेदारी है।

पीयू ने अधिकारिक मीटिंग नहीं बुलाई है। मीटिंग के लिए सेक्रेटरी यानि कार्यकारी रजिस्ट्रार कोविड पॉजिटिव होने के कारण क्वारींटीन हैं। इसलिए फिलहाल मीटिंग का नोटिस जारी नहीं किया जा सकता था।
रेणुका बांका सलवान, प्रवक्ता पीयू

कई मुद्दों पर बात होगी
बहुत से मुद्दे अटके हुए हैं, जिनको डिसकस किया जाना जरूरी है। इसलिए मीटिंग जरूरी है। सिर्फ स्टूडेंट्स ही नहीं टीचर्स के मसलों को भी डिसकस करने के लिए मीटिंग बुलाने को हमने कई बार कहा, आश्वासन मिला, लेकिन मीटिंग हुई नहीं इसलिए ये कदम जरूरी है। प्रो नवदीप गोयल, सिंडीकेट मेंबर

हम लगातार मीटिंग कराने के लिए लेटर लिख रहे हैं। कॉलेजों की वर्किंग प्रभावित है और टीचर्स के काम रुके हैं। नियम अनुसार सीनेट इलेक्शन टालने के तुरंत बाद इसकी वजह और अगली डेट के लिए सिंडीकेट मीटिंग होनी चाहिए थी लेकिन नहीं हुई।

दुनिया भर में सब कुछ खुल चुका तो सोेशल डिस्टेंसिंग के बाद सिंडीकेट मीटिंग क्यों नहीं हो सकती। हमारी मीटिंग में सभी मेंबर्स पहुंचेंगे और कैंपस में ही सारे डिसकशन होंगे। वीसी हमें बिना बताए सिंडीकेट की शक्तियां उपयोग कर रहे हैं। डाॅ हरप्रीत सिंह दुआ, सिंडीकेट मेंबर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर विजय भी हासिल करने में सक्षम रहेंगे। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से ...

और पढ़ें