पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंडीगढ़:जीएससीएच-32 में 300 बेड की इमरजेंसी बनाने का 36.93 करोड़ का लगाया टेंडर

चंडीगढ़10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टेंडर की टेक्निकल बिड 20 को खुलेगी

जीएमसीएच-32 (गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल) की इमरजेंसी में अब मरीजों को बेड की कमी नहीं होगी। न ही कॉरिडोर में स्ट्रेचर पर मरीजों को इलाज के लिए परेशान होना पड़ेगा। अब  जीएमसीएच की 300 बेड की नई इमरजेंसी  एवं  ट्रामा ब्लॉक  और इम्पलाइज के 110व्हीकल के लिए  दो स्टोरी अंडर ग्राउंड  पार्किंग बनेगी। इसके लिए  इंजीनियरिंग विभाग ने 36 करोड़ 93 लाख 26 हजार 427 का टेंडर काल कर लिया है। 

टेंडर की टेक्निकल बिड 20 जुलाई को खुलेगी। इनमें  इलीजिबल कंपनियों की फाइनेंशियल बिड में जो भी कंपनी लोएस्ट वन रहेगी उसे ही टेंडर का लैटर ऑफ इनटेंट जारी होगा। वही कंपनी नई इमरजेंसी और ट्रामा ब्लॉक की बिल्डिंग की कंस्ट्रक्शन करवाएगी। टेम्पररी इमरजेंसी ए ब्लॉक में डेढ़ साल पहले ही बना दी थी।मौजूद इमरजेंसी वहां शिफ्ट होगी। बरसातों के बाद ही नई इमरजेंसी एवं ट्रामा ब्लॉक का कंस्ट्रक्शन का काम शुरु हो सकेगा। इसे मौजूदा अंडर ग्राउंड पार्किंग और फर्स्ट फ्लोर की पार्किंग पर ही बनाया जाना है।

जहां अभी इमरजेंसी बनी हुई है इसे तोड़ा जाएगा। प्रशासन की ओर से जीएमसीएच 32 में  1990में  इमरजेंसी 30 बेड की बनाई गई थी। लेकिन शहर और बाहर से रेफरल पेशेंट की बढ़ती संख्या को देखते हुए इसकी संख्या 55 बेड की कर दी गई । इसके बाद भी पेशेंट और बाहरी राज्यों के रेफरल पेशेंट्स की संख्या बढ़ती गई और इमरजेंसी छोटी पड़ने लगी। ऐसे में इमरजेंसी पेशेंट के कोरिडोर में ही स्ट्रेचर लगाए जा रहे हैं। बाद में उन्हें वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है।

इसके कारण हॉस्पिटल में इमरजेंसी पेशेंट को प्रॉपर इलाज नहीं हो पा रहा है। इसी को देखते हुए हॉस्पिटल प्रशासन ने नई इमरजेंसी बनाने की प्रपोजल तीन साल पहले टाउन प्लानिंग डिपार्टमेंट के पास भेजी थी। चीफ आर्किटेक्ट की ओर से  दो साल पहले नई इमरजेंसी की की प्रपोजल भी अप्रूव कर दी गई थी। प्रशासन के चीफ इंजीनियर कम स्पेशल सेक्रेटरी इंजीनियरिंग मुकेश आनंद का कहना है कि जीएमसीएच 32 में नई इमरजेंसी बनाने का टेंडर काल कर दिया गया है।

दो मंजिल की अंडर ग्राउंड पार्किंग भी बनेगी...चीफ आर्किटेक्ट की ओर से अप्रूव प्लान अनुसार मौजूदा इमरजेंसी के बाहर और नीचे पार्किंग एरिया में नई इमरजेंसी में शामिल किया है। इसके ग्राउंड, फर्स्ट और सेंकड फ्लोर होंगे। ग्राउंड, फर्स्ट और सेकंड फ्लोर पर मरीज दाखिल हो सकेंगे। जबकि ग्राउंड फ्लोर के नीचे दो मंजिल अंडर ग्राउंड पार्किंग होगी। इसमें स्टाफ की 30 कार और 150 टू व्हीकलर पार्क हो सकेंगे।वहां तक दो लिफ्ट,डक्ट, सर्विस एरिया  और दो रैंप बनेंगे।  ग्राउंड फ्लोर पर इमरजेंसी, लैब, एक्सरे,प्लास्टर रूम, ओटी, रिकार्ड रूम , एक्यूपमेंट रूम, कैमिस्ट शॉप डॉक्टर रूम,पुलिस पोस्ट, नर्स डयूटी रूम , डॉक्टर रेस्ट रूम,, टॉयलेट ब्लॉक और एटीएम भी बनेंगे। इमरजेंसी के नई इमरजेंसी में आर्थोपेडिक्स, मेडिसन और जनरल सर्जरी के लिए अलग बेड होंगे। मौजूदा इमरजेंसी में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है, लेकिन इमरजेंसी में सबसे ज्यादा केस दुर्घटनाओं और जनरल सर्जरी के आते हैं। गंभीर पेशेंट के लिए 50 बेड ट्रामा के होंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें