पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • The Accused Were Preparing To Go To Nepal After The Robbery, When The Companions Were Not Found At The Designated Place In Delhi, Sunil Came Back, Was Caught Here

सेक्टर-27 की कोठी में लूट का मामला:लूट के बाद नेपाल जाने की तैयारी में थे आरोपी, दिल्ली में तय जगह पर जब साथी नहीं मिले तो वापस आ गया सुनील, यहां पकड़ा गया

चंडीगढ़10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सेक्टर-27 की कोठी में घुसकर लूट करने के मामले में पुलिस दो आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। इसमें से एक आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है, जबकि दूसरे आरोपी सुनील उर्फ बिहारी को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से उसका पांच दिन का पुलिस रिमांड हासिल कर लिया गया है। प्राथमिक स्तर पर पूछताछ में सामने आया है कि लूट से पहले इन्होंने प्लान बनाया था कि वे वारदात करने के बाद नेपाल भाग जाएंगे। लूट के बाद फोन को छोड़ देंगे और अलग-अलग होकर दिल्ली मिलेंगे।

सुनील उर्फ बिहारी दिल्ली में बस स्टैंड पर मिलने वाले ठिकाने पर पहुंच भी गया था। लेकिन अर्जुन उर्फ नेपाली और अर्जुन कुमार दोनों दिल्ली में तय जगह पर नहीं पहुंचे। लूटे गए 6 लाख रुपए भी इन्हीं दोनों के पास थे। सुनील ने इन दोनों का दिल्ली में इंतजार किया, लेकिन ये नहीं आए। पैसे खत्म हुए तो सुनील दिल्ली से चंडीगढ़ आ गया। यहां सेक्टर-43 बस स्टैंड पर पुलिस ने उसे दबोच लिया। पुलिस अर्जुन उर्फ नेपाली के घर तक पहुंच चुकी है, जहां पर पता चला है कि घरवालों ने उसे बेदखल किया हुआ है।

लूट की प्लानिंग के समय अर्जुन उर्फ नेपाली ने नेपाल में भागने की बात कही थी। अब पुलिस को शक है कि कहीं आरोपी नेपाल भागने की फिराक में तो नहीं है। इसके चलते पुलिस की टीमें नेपाल की तरफ जाने की तैयारी कर रही हैं।

इसके अलावा आरोपी अर्जुन उर्फ नेपाली के साथ जेल में रहे और इस समय बेल या सजा पूरी कर बाहर आने वालों पर भी पुलिस नजर रखे हुए है। 7 सितंबर को सेक्टर-27 स्थित एक कोठी में तीन लुटेरे घुस गए थे। घर के अंदर से ही चाकू उठाया और फिर 6 लाख की नकदी लूट ली। इस दौरान आरोपियों ने महिला का एटीएम हासिल कर उसमें से भी रुपए निकाल लिए।

महिला के शोर मचाने पर दोनों कूदे थे कोठी से
लूट वाले दिन जब महिला ने खुद को बाथरूम में बंद कर लिया था और फिर शोर मचाना शुरू कर दिया था। इस पर लोग जमा होना शुरू हो गए। इसी दौरान सुनील उर्फ बिहारी और ऑटो ड्राइवर मोटू दोनों एटीएम से रुपए निकलवाकर पहुंच गए। यहां लोग जमा होता देख वे ऑटो में ही भाग गए। जबकि घर में मौजूद अर्जुन उर्फ नेपाली और अर्जुन ने तीसरी मंजिल पर पीछे से छलांग लगा दी। इसके बाद बिहारी ने मोटू को एटीएम से निकाले हुए रुपए व एटीएम देकर भेज दिया था। फिर ये दोनों आरोपियों से मिला। प्लान के तहत तय हुआ कि वे दिल्ली में मिलेंगे। बिहारी दिल्ली भी गया, लेकिन उसे कोई भी वहां पर नहीं मिला। इसके बाद उसे वापस चंडीगढ़ आना पड़ गया।

खबरें और भी हैं...