• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • The Batting Performance Did Not Show In The Bowling, Lack Of Balance In The Punjab Team; Batsmen Could Have Taken More Advantage Of The Pitch

बल्लेबाजी वाला प्रदर्शन गेंदबाजी में नहीं दिखा:पंजाब की टीम में संतुलन की कमी; पिच का और फायदा उठा सकते थे बैट्समैन

चंडीगढ़16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पंजाब किंग्स इलेवन। - Dainik Bhaskar
पंजाब किंग्स इलेवन।

आईपीएल में बीत कल राजस्थान रॉयल्स ने पंजाब किंग्स की टीम को हरा दिया। इस हार से पंजाब किंग्स इलेवन ने एक बार फिर अपने प्रदर्शन से फैंस को निराश किया है। इस बार टीम के गेंदबाजों ने यह निराशा दी है। टॉस जीत पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम ने 20 ओवर्स में 5 विकेट खोकर 189 रन बनाए, लेकिन राजस्थान रॉयल्स की टीम ने 2 गेंदे शेष रहते 4 विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया। यह सब पंजाब की खराब गेंदबाजी के चलते हुआ।

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ स्पोर्ट्स (NIS), पटियाला से कोचिंग में डिप्लोमा होल्डर क्रिकेट कोच संजीव पठानिया ने इस मैच का विश्लेषण किया। उन्होंने कहा की पंजाब की टीम में टीम वर्क नहीं दिखा। इस बार बल्लेबाज चले मगर गेंदबाजों ने साथ नहीं दिया। टीम में संतुलन की कमी है। टीम को अनुशासित गेंदबाजी करने की जरुरत थी। उन्होंने कहा कि पंजाब की टीम में कभी बल्लेबाज चलते हैं तो कभी गेंदबाज। दोनों को एक साथ बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा तभी जीत हासिल होगी।

कोच संजीव पठानिया।
कोच संजीव पठानिया।

पिच बेहतर थी, और रन बना सकते थे

कोच पठानिया ने कहा कि पंजाब ने पहले बल्लेबाजी लेकर शानदार प्रदर्शन किया। जॉनी बेयरस्टो की 40 गेंदों पर 56 रनों की पारी बेहतरीन रही। उनके अलावा जितेश शर्मा के मात्र 18 गेंदों पर 38 रन और इतनी ही गेंदों पर भानुका राजपक्षा के 27 रन टीम के लिए अहम रहे। हालांकि टीम के विस्फोटक बल्लेबाज शिखर धवन 16 गेंदों पर 12 रन ही बना पाए। अगर वह चल जाते तो स्कोर कुछ और आगे जा सकता था। उन्होंने कहा कि यह पिच गेंदबाजों के लिए बेहतर थी। ऐसे में पंजाब की टीम थोड़ा और बड़ा लक्ष्य हासिल कर सकती थी। 210 तक रनों को खींचा जा सकता था। दूसरी टीम ने भी पिच का फायदा उठाया और लक्ष्य तक पहुंच गई।

गेंदबाजी रही फ्लॉप

कोच पठानिया ने कहा कि पंजाब की गेंदबाजी कुल मिला कर फ्लॉप रही। रबाडा समेत संदीप शर्मा और राहुल चाहर से बहुत ज्यादा रन दिए। कगिसो रबाडा ने अपने 4 ओवर्स में 50 रन दे दिए। वह 1 विकेट ही हासिल कर पाए। राहुल चाहर, लियाम लिविंगस्टन और संदीप शर्मा एक भी विकेट हासिल नहीं कर पाए। पंजाब की ओर से गेंदबाजी में अर्शदीप सिंह कुल 4 ओवर्स में 29 रन देकर 2 विकेट लेकर कुछ उम्मीद जताई। कगिसो रबाडा ने 1 विकेट लिया। उनके अलावा ऋषि धवन भी 1 विकेट लेने में सफल रहे। पंजाब से जिस प्रकार की गेंदबाजी की उम्मीद थी वह प्रदर्शन गेंदबाज नहीं कर पाए।

बदलाव पर टीम को ध्यान देना होगा

कोच पठानिया के मुताबिक टीम में कोई खास बदलाव नहीं किया गया है। प्लेइंग 11 में बैंच पर बैठे ऑलरांउडर्स को भी मौका देने की ज़रुरत थी। अब मैच कम रह गए हैं। टीम अब अंतिम 4 में आने के लिए कुछ कोशिश कर सकती है। सभी टीमें अपना पूरा जोर लगा रही हैं। पंजाब की टीम अपने कुल 11 मैचों में से 5 जीतकर 10 अंकों के साथ सातवें नंबर पर है। अब टीम के तीन प्रस्तावित मैच ही बचे हैं। 13 मई को टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के साथ भिड़ेगी।