पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • The Booking Was In Business Class But The Passenger Had To Travel In Economy Class, The Consumer Commission Imposed Damages On The Travel Company.

कस्टमर को मिला इंसाफ:बुकिंग थी बिजनेस क्लास की लेकिन पैसेंजर को सफर करना पड़ा इकोनॉमी क्लास में, कंज्यूमर कमीशन ने ट्रैवल कंपनी पर लगाया हर्जाना

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ट्रैवल कंपनी ने कमीशन में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि इसमें उनकी कोई गलती नहीं। अगर उन्हें फ्लाइट में बिजनेस क्लास की सीट नहीं मिली तो उन्हें एयरलाइन अथॉरिटीज के खिलाफ ही शिकायत देनी होगी। - Dainik Bhaskar
ट्रैवल कंपनी ने कमीशन में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि इसमें उनकी कोई गलती नहीं। अगर उन्हें फ्लाइट में बिजनेस क्लास की सीट नहीं मिली तो उन्हें एयरलाइन अथॉरिटीज के खिलाफ ही शिकायत देनी होगी।
  • डिस्ट्रिक्ट कंज्यूमर कमीशन ने SOTC ट्रैवल के खिलाफ सुनाया फैसला

ट्रैवल कंपनी की लापरवाही की वजह से एक पैसेंजर को लंदन से नई दिल्ली तक इकोनॉमी क्लास में सफर करना पड़ा जबकि उसने बुकिंग बिजनेस क्लास की करवाई थी। इस लापरवाही पर डिस्ट्रिक्ट कंज्यूमर कमीशन ने सेक्टर-8 स्थित SOTC ट्रैवल्स पर 7 हजार रुपए हर्जाना लगाया और 10 हजार रुपए मुकदमे पर हुआ खर्च अदा करने को कहा है। इसके अलावा कंपनी को बिजनेस क्लास और इकोनॉमी क्लास के डिफरेंस अमाउंट को भी रिफंड करना होगा। कमीशन ने डॉ.कोमल मलिक की शिकायत पर ये फैसला सुनाया है।

डॉ.कोमल के वकील साहिल खुंगर ने शिकायत में बताया कि फरवरी 2018 में उन्होंने अमेरिका का टूर बुक करवाया। उन्होंने बुकिंग के लिए 7 लाख 93 हजार 681 रुपए कंपनी को जमा करवाए। कंपनी ने उन्हें यूनिवर्सल स्टूडियो के पास देने थे लेकिन कंपनी ने उन्हें डिजनी स्टूडियो के पास दे दिए। हालांकि बाद में कंपनी ने उन्हें यूनिवर्सल स्टूडियो के पास दे दिए थे। लेकिन यहां भी ट्रैवल कंपनी की गलती रही क्योंकि उन्हें पास दोपहर 12 बजे मिले जबकि यूनिवर्सल स्टूडियो तो 9 बजे खुल जाता है।

इसके बाद जब उन्हें वापस इंडिया आना था तो उन्हें इकोनॉमी क्लास में सफर करना पड़ा। उनकी रिटर्न फ्लाइट टिकट मियामी से नई दिल्ली की थी और उन्होंने बिजनेस क्लास में बुकिंग करवाई थी। लेकिन उन्हें बिजनेस क्लास की सीट मियामी से लंदन तक के लिए ही मिली। लंदन से दिल्ली तक उन्हें दूसरी फ्लाइट में आना पड़ा और उसमें उन्हें बिजनेस क्लास की बजाय इकोनॉमी क्लास की सीट दी गई। इंडिया आने पर डॉ.कोमल ने कंपनी को रिफंड देने के लिए कहा, लेकिन कंपनी ने उनकी बात नहीं सुनी। उन्होंने ट्रैवल कंपनी को लीगल नोटिस भी भेजा। आखिर में उन्होंने कंपनी के खिलाफ कंज्यूमर कमीशन में शिकायत दी।

ट्रैवल कंपनी ने कमीशन में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि इसमें उनकी कोई गलती नहीं। अगर उन्हें फ्लाइट में बिजनेस क्लास की सीट नहीं मिली तो उन्हें एयरलाइन अथॉरिटीज के खिलाफ ही शिकायत देनी होगी। जबकि एयरलाइन ने कहा कि उन्हें कस्टमर की तरफ से कोई PNR नंबर या फिर बुकिंग रेफरेंस नंबर मिला। एयरलाइन ने कहा कि उनके पास कस्टमर की बिजनेस क्लास का कोई रिकॉर्ड ही नहीं था।सभी पक्षों को सुनने के बाद कंज्यूमर कमीशन ने ट्रैवल कंपनी के खिलाफ फैसला सुनाया और उन्हें 7 हजार रुपए हर्जाना और 10 हजार रुपए मुकदमा खर्च अदा करने के निर्देश दिए।

खबरें और भी हैं...