पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • The Car Will Run Daily At Night To Wash The Trees, The Green Cover Has Increased From 26 To 46 Percent, Now The Dust From The Roads Will Be Less.

हवा साफ करने की कवायद:पेड़ों को धोने के लिए रात में रोज चलेगी गाड़ी, ग्रीन कवर 26 से बढ़कर 46 फीसदी तक पहुंचा, अब सड़कों से धूल कम होगी

चंडीगढ़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
यह गाड़ी रोज पेड़ों को धोएगी, ताकि धूल कम हो सके। - Dainik Bhaskar
यह गाड़ी रोज पेड़ों को धोएगी, ताकि धूल कम हो सके।

2001 में चंडीगढ़ का ग्रीन कवर 26 फीसदी का था, जो अब बढ़कर 46 फीसदी तक पहुंच गया है। लेकिन गाड़ियों और बाकी वजहों से इस ग्रीन सिटी का नाम भी देश के उन 122 शहरों की लिस्ट में शामिल है, जहां पर एयर पाॅल्यूशन तय सीमा से ज्यादा रहा है। करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं, सिर्फ इसलिए कि आने वाले समय में साफ हवा चंडीगढ़ को मिलती रहे और पाॅल्यूशन कंट्रोल में रहे। इसके लिए मंगलवार को सेक्टर-26 के ट्रांसपोर्ट लाइट प्वाइंट पर पहले एयर प्यूरीफायर को शुरू किया जाएगा।

एडवाइजर धर्मपाल इसका उद्घाटन करेंगे। इस प्रोजेक्ट पर प्रशासन ने कोई खर्चा नहीं किया है, लेकिन कंपनी के मालिक मनोज कुमार के मुताबिक करीब पांच करोड़ रुपए इस पर खर्च किया गया है। इसके अलावा शहर में डस्ट कम करने के लिए एक खास स्प्रिंकल्स लगी गाड़ी भी करीब 33 लाख रुपए की खरीदी गई है।

इसे भी एडवाइजर हरी झंडी दिखाकर शुरू करेंगे। यह गाड़ी हर रोज रात को चलेगी, जो सड़क किनारे के पेड़ों में लगी डस्ट को धोएगी। साथ ही सड़क किनारे छोटे-छोटे प्लांट्स जो लगाए गए हैं उनको भी साफ करेगी। पेड़ों में बैठी डस्ट भी एयर पाॅल्यूशन का एक प्रमुख कारण है।

हवा साफ: चंडीगढ़ की तर्ज पर पंचकूला में भी लगेगा एयर प्यूरीफायर
पंचकूला में पाॅल्यूशन डिपार्टमेंट के रीजनल ऑफिसर विरेंद्र पुनिया ने बताया कि शहर के पाॅल्यूशन की मापने के लिए सेक्टर-6 मंडी बोर्ड में कंटीन्यूएस एंबीएंट क्वालिटी मैयरमेंट सिस्टम लगा हुआ है। इसके अलावा डिस्ट्रिक्ट एन्वायर्नमेंट प्लान तैयार किया जा रहा है, जिसमें हम चंडीगढ़ के सेक्टर-26 में लगे एयर प्यूरीफायर की तरह का ही प्लांट प्रपोज कर रहे हैं, ताकि इससे पंचकूला में भी पाॅल्यूशन का लेवल कम किया जा सके।

खबरें और भी हैं...