• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • The Corporation Is Not Picking Up Dry Leaves From The Road Lanes, People Are Setting Fire; Increasing Pollution

निगम की अनदेखी:रोड गलियों से निगम नहीं उठा रहा सूखे पत्ते, लोग लगा रहे हैं आग; बढ़ रहा पॉल्यूशन

चंडीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सेक्टर 14/15 - Dainik Bhaskar
सेक्टर 14/15
  • आग लगाने वालों के खिलाफ न नगर निगम और न ही पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी कर रही कार्रवाई
  • इस ढील के चलते ही शहर में लगातार बढ़ रहे पत्तों में आग लगाने के मामले
  • प्रधानमंत्री को फोटो भेजकर भाजपा शासित नगर निगम की खोली जाएगी पोल

शहर की सड़कों के किनारे जगह-जगह सूखे पत्तों के ढेर लगे पड़े हैं। नगर निगम की गाड़ियां सूखे पत्तों को उठवा नहीं रही। ऐसे में लोग आते-जाते सूखे पत्तों के ढेरों पर आग लगा रहे हैं। इससे शहर की हवा प्रदूषित हो रही है। इस ओर से चंडीगढ़ पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी भी कोई ध्यान नहीं दे रही। न ही आगे लगाने वालों और निगम को नोटिस ही दे रही है।

निगम ने इस बार सूखे पत्तों को उठाने के लिए कोई इंतजाम नहीं किया है। सूखे पत्तों में रविवार को सेक्टर 14-15 की वी थ्री रोड पर पीयू साइड बने साइकिल ट्रैक पर पड़े सूखे पत्तों में रविवार दोपहर 12 बजे कोई आग लगाकर चला गया। वहां तभी महिला कांग्रेस प्रधान दीपा दुबे पहुंच गई।

दुबे ने बताया कि सूखे पत्तों में लगी आग की वाट्स एप के जरिए प्रशासक वीपी सिंह बदनोर और नगर निगम कमिश्नर केके यादव को दी गई। शहर में सड़कों किनारे पड़े सूखे पत्तों में जगह-जगह इसी तरह से आग लग रही है। इससे शहरवासियों को सांस लेने में भी परेशानी हो रही है।

सूखे पत्तों में आग लगाए जाने से फैल रहे पॉल्यूशन से शहर वासी परेशान हैं। अब सूखे पत्तों में लगाई जा रही जगह-जगह आग की तस्वीर और अखबारों की न्यूज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजेंगी। इससे देश के प्रधानमंत्री को पता चलेगा कि भाजपा शासित नगर निगम काम ही नहीं कर रहा है। शहर सफाई मामले में 29वें नंबर पर है। ऐसा ही चलता रहा तो 100 नंबर से भी पिछड़ जाएगा।

निगम के सेनिटेशन विभाग की है पत्ते उठाने की जिम्मेदारी

शहर में जलाए जा रहे सूखे पत्तों को एमओएच की टीम देखने तक नहीं आती है। इस बार निगम का सेनिटेशन विभाग सूखे पत्तों को उठाने की जहमत नहीं कर रहा है। इसके लिए स्पेशल ट्रालियां लगाई जाती रही हैं लेकिन इस बार ऐसी व्यवस्था तक नहीं की गई। दीपा दुबे के अनुसार पिछले सप्ताह तेज हवाएं चल चली थी।

इससे कि सूखे पत्ते उड़कर रोड गलियों में जमा हो गए या फिर रोड पर बिखर गए। नगर निगम ने पतझड़ मौसम से पहले ही सूखे पत्तों को उठाने के लिए ट्रैक्टर- ट्रालियां हायर करनी चाहिए थी। मगर निगम ने ऐसा नहीं किया। निगम की लापरवाही के कारण शहर का सूखे पत्तों की आग से पॉल्यूशन बढ़ रहा है।

खबरें और भी हैं...