चंडीगढ़ में TV टावर पर चढ़ा टीचर:मिलने पहुंचे शिक्षा सचिव बोले- कल तुम्हारा बच्चा टावर पर चढ़कर बात मनवाएगा तो क्या करोगे..?

चंडीगढ़।6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ के सेक्टर-4 में MLA हॉस्टल के नजदीक एक ETT अध्यापक पेट्रोल की बोतल लेकर टीवी टॉवर पर चढ़ गया। सूचना मिलते ही पुलिस में हड़कंप मच गया। टीचर स्वर्ण सिंह ने उतारने की कोशिश करने के बाद खुद पर पेट्रोल भी छिड़क लिया। स्वर्ण सिंह बरनाला के बदरी प्राइमरी स्कूल में कार्यरत है।

उधर, VIP एरिया में घटना के बाद सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। दोपहर 2:15 बजे ETT अध्यापक स्वर्ण सिंह से बात करने के लिए पंजाब शिक्षा विभाग के सचिव पहुंचे। पांच मिनट तक उसके साथ फोन पर बातचीत की।

नीचे उतारने के प्रयास के बाद खुद पर पेट्रोल छिड़कता अध्यापक।
नीचे उतारने के प्रयास के बाद खुद पर पेट्रोल छिड़कता अध्यापक।

सचिव ने पांच मिनट तक फोन पर की बातचीत

  • सचिव : कहां पोस्टिंग है?
  • स्वर्ण सिंह : प्राइमरी स्कूल बदरी, बरलाला।
  • सचिव : फाइल एफडी के पास है, दो दिन में वापस आ जाएगी। एफडी के पास जाएंगे, तभी समाधान करवांएगे, प्रकिया चलेगी। आपके चढ़ने से समस्या का समाधान नहीं होगा। कोई क्लेरिफकेशन मांगेंगे, तो जरूर देंगे। तुम जो कर रहे हो वो क्या फायदेमंद है? चंडीगढ़ पुलिस हमारी भी सुनती नहीं।
  • स्वर्ण सिंह : सब कुछ खत्म हो गया।
  • सचिव : कुछ भी खत्म नहीं हुआ। एफडी नहीं मानेगा तो भी साल बाद तनख्वाह मिल जाएगी।
  • स्वर्ण : जॉइन कब का किया और तनख्वाह अब मिल रही है। गोली मार देना मुझे।
  • सचिव : समझो बात को। एफडी के पास हम चलेंगे। विभाग तुम्हारे साथ है।
  • स्वर्ण सिंह : हम मर जाएंगे और जोर जोर से रोने लग गया।
  • सचिव : नीचे आओ, बात करो, हम तुम्हारे साथ चलेंगे।
टावर पर चढ़ा पंजाब के बरनाला का ईटीटी सोहन।
टावर पर चढ़ा पंजाब के बरनाला का ईटीटी सोहन।

स्कूली बच्चे टीचरों के उदाहरण दिया करेंगे

सचिव ने कहा कि ऐसे कल तुम्हारा बच्चा भी हर चीज के लिए ऐसे ही टावर या छत पर चढ़ेगा। कहेगा कि मेरा पिता भी ऐसे ही अपनी बात मनवाता था, टावर चढ़ गया था। अपनी बात मनवाने के लिए मैं भी छत पर चढूंगा, तभी मेरा पिता काम करेंगा। ऐसे ही बच्चों को पढ़ाना है तो तुम्हारे से क्या उम्मीद करेंगे। स्कूल में ये सिखाओगे कि अपनी बात मनवानी है तो टंकी या टावर पर चढ़ जाओ। अब टीचर उदाहरण देंगे। टीचरों को बच्चे कहेंगे कि छुट्टी दे दो नहीं तो हम छत पर चढ़ जाएंगे। उदाहरण टीचरों का ही दिया जाएगा कि अपनी बात मनवाने के लिए हम टावर पर चढ़ जाते थे। रिक्वेस्ट है सरकार के पास तुम्हारा केस भेज दिया है। दोबारा बातचीत करेंगे।

टावर पर चढ़ा बरनाला का अध्यापक सोहन।
टावर पर चढ़ा बरनाला का अध्यापक सोहन।

इससे पहले दिन भर चला ये घटनाक्रम

टावर पर चढ़े अध्यापक बरनाला जिले के स्वर्ण सिंह से क्रेन की सहायता से बातचीत करने का प्रयास किया गया। सोहन लाल केशधारी सिख युवक है और सुबह 4:00 बजे टावर पर चढ़ा। सोहन ने कहा कि वह अकाली-भाजपा सरकार के कार्यकाल में टीचर भर्ती हुआ था और पक्का भी कर दिया था। लेकिन कांग्रेस सरकार ने उसे दोबारा से 2018 में प्रोबेशन पीरियड पर रख दिया और वेतन 65 हजार से कम करके 25 हजार रुपए कर दिया यह भर्ती 2016 में हुई थी। उस समय 4500 और 2205 ईटीटी दो भर्तियां एक साथ हुई थी।

टॉवर पर चढ़े टीचर से बातचीत करने के लिए जाते कर्मचारी।
टॉवर पर चढ़े टीचर से बातचीत करने के लिए जाते कर्मचारी।

MLA हॉस्टल के ड्राइक्लीनर ने देखा सबसे पहले

उसे MLA हॉस्टल के ड्राइक्लीनर चमन लाल ने सबसे पहले देखा। सुबह पूजा पाठ करने के बाद उठा उसे देखा। चंडीगढ़ डिफेंस अफसर संजीव कोहली ने बताया कि टावर पर चढ़ा युवक बार बार 65 से 25 हजार करने की बात कह रहा है। वहीं पुलिस को इस मामले की जानकारी मिली।

नीचे उतारने के प्रयास पर छिड़का पेट्रोल

टीचर बार-बार यही दोहरा रहा था कि वह 65 हजार रुपए से 25 हजार रुपए पर आ गया। उसने बताया कि उसकी फाइल ऑफिस में पड़ी है, उसे सेंक्शन कर दो। जब उसे ऊपर से उतारने का प्रयास किया गया तो उसने बोतल से पेट्रोल अपने ऊपर छिड़क लिया।

टॉवर के नीचे खड़े पुलिस कर्मचारी ओर बचाव दल।
टॉवर के नीचे खड़े पुलिस कर्मचारी ओर बचाव दल।

अकाली नेता सुखबीर और मजीठिया ने की बात

अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल और बिक्रम मजीठिया टावर पर चढ़े अध्यापक को उतारने के लिए मौके पर पहुंचे। सुखबीर बादल ने उससे बातचीत की और मंत्री परगट सिंह से भी बात की। अब SAD की कार्यकारणी CM चन्नी से बात करने के लिए निकली है। टीचर ने धमकी दी कि अगर उसे उतारने की कोशिश की गई तो वह खुद पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा लेगा। वह अपने ऊपर पेट्रोल भी छिड़क रहा है। इसका पता चलते ही मौके पर फायर ब्रिगेड और पुलिस कर्मी पहुंच गए हैं। टीचर को समझाकर नीचे उतारने की कोशिश की जा रही है।

अध्यापकों की मांगों वाला पत्र।
अध्यापकों की मांगों वाला पत्र।

माहौल तनावपूर्ण

मौके पर माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। मौके पर टीचर के साथी भी पहुंचने शुरू हो गए हैं। यह टीचर लगातार पंजाब सरकार से उन्हें पक्का करने की मांग कर रहे हैं, जिसकी वजह से अब उन्होंने यह तरीका अपनाया है।

खबरें और भी हैं...