• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • The Issue Of Giving The Smartphone To The Students Again Resonates In The House, The Phone Will Be Distributed Till The Promise Is Fulfilled

बजट सेशन का 5वां दिन:सदन में फिर गूंजा छात्रों को स्मार्टफोन देने का मुद्दा सरकार का जवाब, वादा पूरा होने तक बांटेंगे फोन

चंडीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आप और शिअद ने हेल्थ सेंटरों की खस्ताहाल, स्पाेर्ट्स स्टेडियम और मौड़ मंडी ब्लास्ट मामले में सदन का ध्यान दिलाया
  • पेंशन स्कीम पर मंत्री बोलीं-स्कीम को बंद करने नहीं राशि बढ़ाने का प्रयास कर रहे हैं

पंजाब विधानसभा के बजट सत्र के पांचवें दिन शुक्रवार को सदन में स्टूडेंट्स को स्मार्टफोन देने, हेल्थ सेंटरों की खस्ताहाल, स्पाेर्ट्स स्टेडियम, मौड़ मंडी ब्लास्ट और पेंशन स्कीम का मुद्दा गूंजा। इन पर सरकारों ने जवाब भी दिए। प्रश्नकाल के दौरान अकाली दल के हरिंदरपाल सिंह चंदूमाजरा ने मुफ्त स्मार्टफोन बांटने पर सरकार की नीयत पर सवाल उठाए।

इस पर खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने कहा कि सरकार ने स्मार्ट मोबाइल फोन बांटने का काम बंद नहीं किया है, बल्कि 2021-22, 2022-23, 2023-24 और उसके बाद के सालों के दौरान भी तब तक नौजवानों और विद्यार्थियों को मोबाइल फोन बांटे जाते रहेंगे, जब तक सरकार का वादा पूरा नहीं हो जाता। उन्होंने बताया कि अब तक 1 लाख 74 हजार 453 स्मार्टफोन बांटे जा चुके हैं। 2020-21 के दौरान 12वी कक्षा में दाखिला लेने वाले 21 लाख 4 हजार 714 विद्यार्थियों को भी स्मार्टफोन देने का प्रस्ताव है। विधायक अवतार सिंह जूनियर ने सवाल किया कि राज्य में 2019-20 में शुरू की कल्याण योजनाओं- बुढ़ापा पेंशन, विधवा पेंशन, अंगहीनों के लिए वित्तीय मदद संबंधी स्कीमों के तहत मासिक पेंशन राशि में बढ़ोतरी का कोई प्रस्ताव सरकार के विचाराधीन है? इस पर सामाजिक सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास मंत्री अरुणा चौधरी ने कहा कि मामला सरकार के विचाराधीन है और पेंशन स्कीमों की राशि बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। पीडब्ल्यूडी मंत्री विजय इंदर सिंगला ने विधायक रमिंदर सिंह आंवला के सवाल पर बताया कि लिंक रोड ढडी कदीम से ढाणी नत्था सिंह बार्डर पर पुल बनाने का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है। फिर भी अगर यह महसूस किया जाएगा कि वहां पुल की जरूरत है तो आवश्यक राशि की मंजूरी मिलने पर पुल का काम तुरंत शुरू कर दिया जाएगा।

एसएएस नगर मोहाली के फेस-11 में लोगों द्वारा ग्रीन बेल्ट पर कब्जा किए जाने का मामला उठाते हुए विधायक मदनलाल जलालपुर में जानना चाहा कि सरकार क्या कर रही है? मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा ने बताया कि एसएएस नगर मोहाली के फेस-11 में नगर निगम की सरकारी जमीन और आम लोगों के लिए बनाई गई ग्रीन बेल्ट पर अवैध कब्जों को गमाडा के फील्ड स्टाफ ने हटवा दिया है। विधायक राणा गुरजीत सिंह के सवाल पर जवाब देते हुए ट्रांसपोर्ट मंत्री रजिया सुल्ताना ने कहा कि जिला मुख्यालय कपूरथला में क्षेत्रीय ट्रांसपोर्ट अथारिटी का दफ्तर नहीं है। ट्रांसपोर्ट अथारिटी का दफ्तर खोलने का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं

हमारी सरकार में फ्री थी, कांग्रेस बहाने से बंद कर रही मुफ्त बिजली : शिअद-शिअद के विधायक दल के सदस्यों ने पंजाब में घरेलू तथा औद्योगिक उपभोक्ताओं के लिए बिजली दरों में भारी बढ़ोतरी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और मांग की कि कांग्रेस सरकार समाज के सभी वर्गों को राहत देने के लिए तुरंत बिजली टैरिफ वापस ले। विधायक विंग के नेता शरनजीत सिंह ढ़िल्लों की अगुवाई में अकाली दल विधायकों ने

‘बिजली दे दर घट करो’ और ‘हाय बिजली’ के नारे लगाते हुए कहा कि घरेलू तथा औद्योगिक दोनों क्षेत्रों की 5 रुपए प्रति यूनिट की दर से बढ़कर 9 रुपए यूनिट कर दी गई है। अकाली दल की सरकार के समय मुफ्त यूनिट मिलती थी। बहाना बनाकर बंद कर दी गई है। औद्योगिक क्षेत्र में भी निवेश नहीं हो रहा है। 5 रुपए यूनिट बिजली आपूर्ति के वादे से कांग्रेस मुकर गई है।

झूठ बोलने से गुरेज करें जाखड़ : मजीठिया - उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के दौरान तीन महीने के लिए औद्योगिक क्षेत्र के लिए निर्धारित शुल्कों की छूट भी नकली साबित हुई थी, जिसमें इस क्षेत्र को पहले की तरह ही वैसे ही बिल चार्ज किए गए। बिक्रम सिंह मजीठिया सहित विधायकों ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ को कहा कि वह लोगों द्वारा सहन किए जाने वाले वास्तविक मुद्दों से ध्यान हटाकर झूठ बोलने से गुरेज करें तथा अपनी सरकार से बिजली दरों में कमी की मांग करने की हिम्मत करें। उन्होंने कहा कि ‘अभी पंजाब में बिजली की दरें देश में सबसे ज्यादा हैं। उन्होंने जोर देकर कहा कि राज्य को कल्याणकारी तर्ज पर चलाया जाना चाहिए।

पद समाप्त कर युवाओं के लिए सरकारी नौकरियों के दरवाजे बंद न करें : आप- आम आदमी पार्टी के विधायकों ने शुक्रवार को विधानसभा सत्र के दौरान सरकार द्वारा खत्म गए सरकारी नौकरियों का मुद्दा, स्वास्थ्य सुविधाओं की बिगड़ती स्थिति और वाहनों के फर्जी पंजीकरण के मुद्दे उठाए। रोजगार के मुद्दे को उठाते हुए बरनाला से आप विधायक गुरमीत सिंह मीत हेअर ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चुनाव से पहले हर घर रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन अब सरकारी विभाग के पुनर्गठन करने के बहाने सरकारी विभागों के रिक्त पदों को खत्म कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि यह अलग मामला है कि सरकार युवाओं को रोजगार नहीं दे रही है, लेकिन सरकारी नौकरियों को खत्म करके युवाओं के लिए सरकारी नौकरियों के दरवाजे हमेशा के लिए बंद नहीं करने चाहिए। आम आदमी पार्टी की सरकार आने पर बेरोजगार युवाओं को रोजगार मिलेगा।

पंजाब के सरकारी अस्पतालों की हालत काफी दयनीय : रुपिंदर- काल अटेंशन के दौरान आप विधायक रूपिंदर कौर रूबी ने बठिंडा रूरल और बठिंडा में हेल्थ सेंटरों की खस्ताहाल के बारे में सदन का ध्यान दिलाया। आप विधायक ने सदन को बताया कि कई हेल्थ सेंटर अनसेफ हैं। इसके जवाब में स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि 2021-22 में बना दिए जाएंगे। विधायक गुरमीत सिंह मीत हेयर ने कहा कि बाबा काला महर खेल स्टेडियम का काम अधूरा पड़ा है। खिलाड़ियों को प्रैक्टिस के लिए संगरूर जाना पड़ता है। खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने फंड्स की कमी और कोविड को लेकर इस काम को पूरा नहीं कराया जा सका।

खबरें और भी हैं...