पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • The Team Of Drainage Department Conducted A Survey To Remove The Silt From The Dry Padach Dam Of Mohali Adjoining Chandigarh.

विभाग की लापरवाही का नतीजा:चंडीगढ़ के साथ लगते मोहाली के सूखे पड़े पड़छ डैम में से गाद निकालने को लेकर ड्रेनेज विभाग की टीम ने किया सर्वे

चंडीगढ़4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोहाली का पड़छ डैम वॉल्व लीक होने से पूरी तरह से अप्रैल माह में खाली हो गया है। अब ड्रेनेज विभाग गाद निकालने की तैयारी में। फोटो लखवंत सिंह - Dainik Bhaskar
मोहाली का पड़छ डैम वॉल्व लीक होने से पूरी तरह से अप्रैल माह में खाली हो गया है। अब ड्रेनेज विभाग गाद निकालने की तैयारी में। फोटो लखवंत सिंह
  • डैम का पानी चेक वॉल्व के खराब होने से पूरी तरह से लीक हो गया , अब गाद निकालने की तैयारी

चंडीगढ़ के पास मोहाली जिले के पड़छ डैम का पानी पिछले अप्रैल महीने में विभाग के अधिकारियों की लापरवाही कारण लीक हो गया और पूरी तरह से गर्मी शुरू होने से पहले ही सूख गया था। इस डैम के पानी के साथ आसपास रहने वाले किसान अपनी खेती का काम करते थे लेकिन इस बार पानी न होने के कारण अब उनके सामने परेशानी आ रही है।

ड्रेनेज विभाग के अधिकारियों ने सर्वे किया गाद निकालने को लेकर।
ड्रेनेज विभाग के अधिकारियों ने सर्वे किया गाद निकालने को लेकर।

अब इस सूखे पड़े डैम में से गाद निकालने का काम जल्द शुरू किया जाने वाला है। इसके लिए ड्रेनेज विभाग के अधिकारियों की टीम ने डैम के पूरे इलाके का सर्वे किया और पता लगाया कि गाद निकालने के लिए किस तरह की मशीनरी की जरूरत है। डैम पहले काफी गहरा था अब इसमें करीब 14 से 16 फिट गाद भरी हुई है। जिसे निकालने के लिए भारी मशीनरी लगानी होगी।

पूरा पानी सूख गया
पूरा पानी सूख गया

ड्रेनेज विभाग की टीम ने किया सर्वे

ड्रेनेज विभाग की टीम ने कल डैम के आसपास जेसीबी के साथ सर्वे किया और पता लगाया कि गाद निकालने का काम कहां से और किस तरह से शुरू किया जाना चाहिए। डैम के साथ लगते पहाड़ी इलाके में जेसीबी पर सवार होकर अधिकारी सर्वे करने गए , क्योंकि पहाड़ में रास्ते पूरी तरह से खराब है जहां पैदल चला नहीं जा सकता।

सर्वे के लिए अधिकारियों को जेसीबी पर सवार होकर पहाड़ में जाना पड़ा।
सर्वे के लिए अधिकारियों को जेसीबी पर सवार होकर पहाड़ में जाना पड़ा।

गांव के सरपंच ने कहा वॉल्व लीक हाेने से पानी निकला

गांव के सरपंच का कहना है कि डैम का चैक वॉल्व पिछले कई महीनों से लीक था जिसे रिपेयरिंग करने के लिए जब खोला गया तो उसके बाद वहां की प्लेट पूरी तरह से लग नहीं पाई जिससे पानी धीरे-धीरे लीक होता चला गया और आज पूरा डैम खाली है। उनके अनुसार गांव के लोग खेती के लिए इसी पानी का इस्तेमाल करते थे और कई तरह के काम आता था पानी। अब सूखे डैम के कारण लोग गर्मी में अपना काम के लिए पानी कहां से लाऐंगे। उन्होंने बताया कि फरवरी में इरिगेशन डिपार्टमेंट ने वॉल्व ठीक करने के लिए वाल्व को खोला तो पानी रोकने वाली प्लेट नहीं लग पाई और सारा पानी निकल गया।

डैम सूखने से बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई
डैम सूखने से बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गई

डैम में बड़ी-बड़ी दरार

पड़छ डैम में से पानी निकलने के बाद अब वहां बड़ी-बड़ी दरारें पूरे इलाके में दिख रही है। मानसून आने वाला है और पड़छ डैम पानी निकलने के कारण खाली हो गया है। डैम खाली होने के चलते ड्रेनेज विभाग ने इसमें जमी गाद निकालने का काम शुरू करना था, लेकिन अब बरसात आने को है, लेकिन गाद निकालने का काम शुरू नहीं हुआ। जिले की ड्रेनेज विभाग की टीम ने डैम के पिछले एरिया में जाकर जेसीबी मशीन से खुदाई कर मिट्टी के सैंपल लिए है और अब गाद निकालने की तैयारी की जाएगी।

डैम में एक स्थान पर ही थोड़ा पानी बचा है
डैम में एक स्थान पर ही थोड़ा पानी बचा है
खबरें और भी हैं...