पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पकड़ में नहीं आए आरोपी:महिला ने कहा- डेढ़ महीने से जान से मारने की धमकी दे रहे थे आरोपी

खरड़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फायरिंग मामले में पुलिस को इन आरोपियों की तलाश - Dainik Bhaskar
फायरिंग मामले में पुलिस को इन आरोपियों की तलाश
  • खरड़ में महिला कारोबारी के दफ्तर पर फायरिंग का मामला

झुगियां रोड खरड़ पर स्थित डीजीएम होम्स की एमडी पर कातिलाना हमला करने के नीयत से फायरिंग करने वालों को पुलिस पकड़ नहीं पाई है। शुक्रवार को महिला कारोबारी के दफ्तर पर फायरिंग करने के मामले में पुलिस ने शिअद नेता हरजिंदर सिंह बलौंगी, गांव हरलालपुर के पूर्व सरपंच रुस्तम, गांव सलोरा के पूर्व सरपंच नरिंदर सिंह निंदा, गांव रानी माजरा निवासी गुरप्रीत सिंह, सुख सिटी के शेर सिंह, राजू, सेंचुरी 20 के गुलशन और 11 अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 307, 148, 149, 506 और आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक केस दर्ज करने के बाद ये सभी आरोपी फरार हैं। तीन बाद भी पुलिस आरोपियों को पकड़ नहीं पाई है।

डीजीएम बिल्डर्स एंड डेवलपर्स की एमडी गगनदीप कौर की ओर से पुलिस को दिए बयान के मुताबिक डेढ़ महीने से अकाली नेता हरजिंदर सिंह और उसके साथी जान उसे से मारने की धमकियां दे रहे थे। उसे धमका रहे थे कि उसका कोई भी प्रोजेक्ट सनी एन्क्लेव में नहीं चलने देंगे। 24 मार्च को आरोपियों ने उसके प्रोजेक्ट की साइट पर पहुंचकर काम करने वाले कर्मचारियों पर हमला भी किया था और उन्होंने धमकी भी दी थी कि प्रोजेक्ट की मालिक को मार दिया जाएगा। वहीं, इस केस में मुख्य आरोपी हरजिंदर सिंह बलौंगी के खिलाफ पहले भी कई अापराधिक मामले दर्ज हैं। उनके खिलाफ 2012 में बलौंगी थाना में 307 आईपीसी, कुराली थाना में 2011 में मर्डर का मामला और 2014 में फेज 8 थाना में धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था।

24 मार्च को धमकी के बाद डीजीपी को दी थी शिकायत
महिला ने कहा कि 24 मार्च को ही उन्होंने डीजीपी पंजाब से मुलाकात कर लिखित शिकायत आरोपियों के खिलाफ दी गई थी। शिकायत के बावजूद 25 को जब वह दोपहर 1 बजे के करीब केएफसी के पास खड़ी थी तो आरोपियों ने कार के पास पहुंचकर उस पर पिस्तौल तान दी थी। इसको लेकर उन्होंने एसएसपी को शिकायत दी थी। एसएसपी ने उन्हें आश्वासन दिया था कि वे मामले में ठोस कार्रवाई करेंगे और उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी।

लेकिन आरोपियों ने फिर भी उन पर हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि गगनदीप के मुताबिक शुक्रवार को हमले के दौरान भीड़ के आगे चलने वाले हरजिंदर सिंह, रुस्तम, नरिंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह बैदवान के हाथों में 12 बोर की राइफलें थी जबकि शेर सिंह, राजू और गुलशन के पास पिस्टल थी। इसके अलावा अन्य आरोपियों के पास लाठियां, तलवारें और अन्य हथियार थे। उन्होंने उसे मारने की नियत से निरंतर फायरिंग की गई।

पुलिस ने मोरिंडा, सन्नी एन्क्लेव और अन्य संभावित ठिकानों पर छापे मारे हैं, पर आरोपी नहीं मिले। सभी के मोबाइल फोन वारदात के बाद से ही बंद चल रहे हैं। पुलिस का आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ने का प्रयास रहेगा।
- रुपिंदरदीप कौर, डीएसपी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें