सिरसा में भिड़े वकील और तहसीलदार:रजिस्ट्री में देरी को लेकर हुई जमकर बहस, दोनों पक्षों ने एक दूसरे के बनाए वीडियो

चंडीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिरसा तहसीलदार कार्यालय में वायरल वीडियो। - Dainik Bhaskar
सिरसा तहसीलदार कार्यालय में वायरल वीडियो।

सिरसा के तहसीलदार कार्यालय का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें भीड़ जमा है। इस वीडियो में सिरसा तहसीलदार के कार्यालय में तहसीलदार गुरुदेव सिंह और जिला बार एसोसिएशन के प्रधान जीपीएस किंगरा के बीच रजिस्ट्री को लेकर बहसबाजी हो रही है। तहसीलदार किंगरा और अन्य वकीलों को कार्य में बाधा न पहुंचाने की चेतावनी दे रहे हैं। बार प्रधान किंगरा उन्हें कह रहे हैं कि जो करना है कर लें, तुम्हारे जैसे बड़े देखे हैं। तहसीलदार सरकारी कार्य में बाधा ना डालने और बाहर जाने की चेतावनी दे रहे हैं। यह वाक्या शुक्रवार दोपहर तीन बजे के बाद सिरसा तहसील कार्यालय का है।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में सिरसा तहसीलदार गुरुदेव सिंह के कमरे में काफी भीड़ जमा है। जीपीएस किंगरा कह रहे हैं कि सबको कह रहे हैं कि रजिस्ट्री क्यों नहीं की जा रही। कल भी नहीं की। करनी क्यों नहीं, इसका लीगल कारण बताए। लिख कर दें। हमने कभी फाइलों का ढेर लगा नहीं देखा। तहसीलदार गुरुदेव सिंह कह रहे हैं कि एक एक करके काम होगा। फाइलों का ढेर लगेगा। इसलिए आप सभी लोग बाहर जाए। काम में बाधा न डाले। सभी दफ्तर से बाहर जाए। एक एक करके आए, तभी काम होगा। बार बार बाहर जाने की चेतावनी दे रहे हैं। तभी एक आदमी कहता है कि तहसीलदार काम कर रहे हैं करने दो। किंगरा कह रहा है कि हम बात कर रहे हैं तहसीलदार से। तहसीलदार गुरुदेव ने कहा कि मैं आपसे कोई बात नहीं कर रहा। आप लोग बाहर चले जाए। तहसीलदार वीडियो बनाने लग जाते हैं और कुछ लोगों के कागज पर साइन करते है। किंगरा डीसी के पीए को बोलते हैं कि तहसीलदार ने ड्रामे किए हुए है। बदतमीजी से पेश आ रहे हैं। किंगरा किश्मनर का नंबर मांगता है। तहसीलदार भी वीडियो बनाते है कि आप एक करके आए। आप लोग डिस्टर्ब कर रहे हैं। सारा काम रोक रहे हैं। मैं फिर कह रहा हूं कि सभी लोग बाहर चले जाए। बार प्रधान किंगरा मना कर देते हैं। बाद में बार एसोसिएशन प्रधान ने कमिश्नर हिसार और एसडीएम सिरसा को भी इसकी जानकारी दी।

बिना लीगल कारण के रजिस्ट्री से कर रहे थे मना

सिरसा बार एसोसिएशन प्रधान जीपीएस किंगरा ने बताया कि उनके एक जानकारी वकील सतबीर गोदारा के सुसर की मौत हो गई थी। उनकी पत्नी और बहनों ने अपने भाई के नाम रजिस्ट्री के लिए बयान दर्ज करवाने थे। वे वीरवार से इंतजार कर रहे थे, लेकिन रजिस्ट्री नहीं की जा रही थी। सूरत से दो महिलाएं भी रजिस्ट्री करवाने के लिए आई हुई थी। लेकिन तहसीलदार रजिस्ट्री नहीं कर रहे थे।

दलाल लोग बिना जांच पड़ताल के करवाना चाहते हैं काम

तहसीलदार गुरुदेव सिंह ने बताया कि सिस्टम सुधारने की कोशिश की जाती है तो कुछ दलालों को परेशानी होती है। रजिस्ट्री करते समय दोनों पार्टियों को बुलाकर जांच की जाती है। कुछ दलाल रजिस्ट्री करवाने के लिए आए। मैंनें दोनों पार्टियों से बिना पूछताछ किए रजिस्ट्री करने से इंकार कर दिया। शुक्रवार सुबह दस बजे पहले वे काम निपटकार कार्यालय से गए। कमिशनर सर का दौरा सिरसा में था। मैं उनके साथ बूथ चेक करने के लिए चला गया। करीब ढाई बजे आया। भीड़ लग गई। काम निपटा रहा था, तभी बार एसोसिएशन के प्रधान कुछ वकीलों को लेकर आ गए और काम में बाधा पहुंचाने लगे। मैंने उन्हें चेतावनी भी दी और वीडियो भी बना अभी तक शिकायत नहीं दी। परंतु सीनियर को इस मामले से अवगत करवा दिया है। जैसे ही उनके आदेश होंगे, आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...