पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • There Will Be An Agreement First, After That The Loan Installment Will Be Received, If The First Installment Is Received By August, Then The Tender Call Will Be Made.

24 घंटे वाॅटर सप्लाई का मामला:पहले एग्रीमेंट होगा, उसके बाद मिलेगी लोन की किस्त, अगस्त तक पहली किस्त मिलेगी तो टेंडर कॉल किया जाएगा

चंडीगढ़5 महीने पहलेलेखक: राजबीर सिंह राणा
  • कॉपी लिंक

शहर की 24x7 वाॅटर सप्लाई करने के लिए 537 करोड़ 7 लाख 82 हजार खर्च आएगा। इसमें से 402 करोड़ एएफडी (एजेंसी फ्रांस डेवलपमेंट) से लोन के रूप में मिलेंगे जबकि 96 करोड़ यूरोपियन यूनियन की ओर से ग्रांट इन एड के मिलेंगे। बाकी का 39 करोड़ प्रशासन से खर्च करना होगा। इसके लिए एएफडी और गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक्स के बीच एग्रीमेंट पर साइन होने हैं। साइन होते ही एएफडी से अगस्त माह में लोन की किस्त मिल जाएगी। इसके बाद 24x7 के वाॅटर सप्लाई प्रोजेक्ट का टेंडर काॅल किया जाएगा।

चंडीगढ़ स्मार्ट सिटी लिमिटेड की ओर से मिनिस्टरी के विभिन्न डिपार्टमेंट और मिशन ऑफ एएफडी द्वारा एग्रीमेंट अप्रूव करवा दिया है। इस संबंधी स्मार्ट सिटी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की मीटिंग में पिछले वीक प्रपोजल का अप्रूव कर दी। शहर में पेन सिटी प्रोजेक्ट 24x7 वाॅटर सप्लाई के लिए गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के डिपार्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक्स और एएफडी के बीच 2016 में एमओयू हुआ था।

तब एएफडी की ओर से कहा गया था कि चंडीगढ़ में स्मार्ट सिटी मिशन के तहत वाॅटर सप्लाई और सेनिटेशन एंड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए टेक्निकल सपोर्ट और मैनेजमेंट करने को तैयार हैं। इसके लिए म्युनिसिपल कार्पोरेशन को 24x7वाॅटर सप्लाई करने के लिए आसान किस्तों पर 40 से 50 मिलियन यूरो लोन देने के लिए एएफडी तैयार है।

इसको लेकर निगम हाउस की 30 दिसंबर 2019 और 10 जनवरी 2020 की मीटिंग में एजेंडा डिस्कस हुआ। इसके बाद स्मार्ट सिटी की ओर से प्रोजेक्ट को 25 नवंबर 2020 को स्क्रीनिंग कमेटी में एएफडी के प्रोजेक्ट को रिव्यू किया गया। मीटिंग में वाॅटर सप्लाई के लिए लोन 48 मिलियिन यूरो दिए जाने पर सहमति हुई। इसे 29 जनवरी की स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग में क्लीयर किया गया कि यूरोपियन यूनियन द्वारा इसपर ग्रांट इन ऐड 11.38 मिलियन यूरो दिया जाएगा। इसे एमसी द्वारा वापस नहीं लौटाना होगा जबकि एएफडी का लोन आसान किस्तों में होगा। इसे काम शुरू होने के पांच साल में किस्त वाइज चुकाना होगा।

1.75 लाख कंज्यूमर के मीटर बदलेंगे

प्रोजेक्ट का टेंडर अलॉट होते ही शहर के मौजूदा सिस्टम को अपग्रेड करने का काम शुरू हो जाएगा। जहां जहां अतिरिक्त वाॅटर सप्लाई लाइन बिछाने की जरूरत होगी वहां काम शुरू होने लगेगा। वाॅटर सप्लाई 24x7 करने के लिए अंडर ग्राउंड और ओवर हेंड वाटर टैंक बनाए जाएंगे।

शहर के सभी वाॅटर वर्क्स और कजौली वाॅटर हेड की पंपिंग मशीनरी चेंज होगी, कजौली वाॅटर वर्क्स की पंपिंग मशीनरी की दो साइड से होट लाइन के साथ जोड़ा जाएगा। एक लाइन में खराबी आने से दूसरी लाइन से मोटर चलने लगेगी। वहीं शहर के सभी वाॅटर वर्क्स और यूजीआर की पंपिंग मशीनरी को दो सब स्टेशन से कनेक्ट किया जाएगा ताकि एक साइड की लाइन में फॉल्ट आने से पानी की दिक्कत न हो सके।

शहर के सभी 1.75 लाख वाॅटर कंज्यूमर के मीटर स्मार्ट में चेंज किए जाएंगे। उनका कंट्रोल स्काडा से होगा। निगम कमिश्नर केके यादव का कहना है कि 24x7 वाटर सप्लाई प्राजेक्ट के के लिए एएफडी और गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के डिपार्टमेंट इकोनोमिक्स अफेयर्स के बीच एग्रीमेंट साइन होना है। लोन की किस्त मिलने लगेगी। इसको लेकर स्मार्ट सिटी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की मीटिंग में अप्रूवल दी गई।

खबरें और भी हैं...