• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Unemployed Teacher Entered The Minister's House In Jalandhar, Furious Pargat Singh Said Who Will Be Responsible If Something Happens To The Elders Of My House, This Is A Failure And Conspiracy Of The Police

जालंधर में मंत्री के घर घुसे बेरोजगार टीचर:भड़के परगट सिंह बोले- यह पुलिस का फेलियर और सुनियोजित साजिश; बुजुर्गों को कुछ हुआ तो जिम्मेदार कौन होगा

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परगट सिंह के घर में घुसकर प्रदर्शन करते बेरोजगार टीचर। - Dainik Bhaskar
परगट सिंह के घर में घुसकर प्रदर्शन करते बेरोजगार टीचर।

पंजाब के जालंधर में बेरोजगार टीचर सोमवार को शिक्षा मंत्री परगट सिंह के घर में घुस गए। उन्होंने पुलिस की बैरिकेडिंग भी तोड़ दी। घर के भीतर नारेबाजी का पता चलने पर मंत्री परगट सिंह भड़क गए। इसका पता चलते ही पुलिस हरकत में आई। उन्होंने बेरोजगार टीचरों को बाहर खदेड़ा।

परगट सिंह ने भी तुरंत चंडीगढ़ में प्रेस कान्फ्रेंस बुला सीधा सवाल पूछा कि अगर मेरे घर के बुजुर्गों को कुछ हो गया तो कौन जिम्मेदार होगा। उन्होंने मंत्री के घर पर लोगों के घुसने को लेकर इसे पुलिस का फेलियर करार देते हुए साजिश तक बता दिया।

चंडीगढ़ में पत्रकारों से बात करते मंत्री परगट सिंह
चंडीगढ़ में पत्रकारों से बात करते मंत्री परगट सिंह

मेरे घर के बुजुर्ग डायबिटिक और हार्ट पेशेंट

पंजाब के शिक्षा और खेल मंत्री परगट सिंहने कहा कि मैं चंडीगढ़ में हूं। एक महीने में 4 से 5 बार यूनियन को मिल चुका है। वहां बुजुर्ग रहते हैं। वह डायबिटिक और हार्ट पेशेंट हैं। यह लोग उन्हें परेशान कर रहे हैं। यह लोग समाज को कहां लेकर जाएंगे?। मुझे यह है कि अगर मेरे घर बुजुर्गों को कुछ हो गया तो कौन जिम्मेदार होगा।

सुनियोजित तरीके से घुसे

परगट सिंह ने कहा कि यह साजिश है, जिसे सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया। उन्होंने इसे पुलिस का फेलियर भी करार दिया। उन्होंने कहा कि वह मेरा निजी घर है। मुझे बुजुर्गों का फोन आया। मैंने विभाग को कार्रवाई के लिए कहा है, फिर इससे ज्यादा मैं क्या कर सकता हूं।

अगर मंत्री के घर के अंदर ही कोई चला जाएगा तो यह सीधे तौर पर पुलिस का फेलियर है। परगट ने कहा कि प्रदर्शन करना लोकतांत्रिक अधिकार है लेकिन बुजुर्गों के घर में होने के बावजूद वहां यह सब करना कौन सी इंसानियत है।

पुलिस ने बाहर निकाले, लापरवाह कर्मचारियों पर कार्रवाई

मंत्री परगट सिंह के भड़कने के बाद जालंधर पुलिस भी हरकत में आई। उन्होंने तुरंत बेरोजगार टीचरों को बाहर खदेड़ा। उन्हें 17 नवंबर काे बातचीत का न्यौता दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक मंत्री के घर के बाहर बैरिकेडिंग करने वाले कर्मचारियों पर भी लापरवाही बरतने को लेकर कार्रवाई करते हुए लाइन हाजिर कर दिया गया है।

कई दिन से प्रदर्शन कर रहे टीचर

जालंधर में बेरोजगार टीचर कई दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं। उनके कुछ साथी बस स्टैंड की टंकी पर चढ़कर रोष जता चुके हैं। इससे पहले वह शिक्षा मंत्री परगट सिंह का उद्घाटन के मौके पर घेराव भी कर चुके हैं। पंजाब में सरकार का कार्यकाल जल्द खत्म होने जा रहा है। बेरोजगार टीचरों को आशंका है कि कहीं सरकार जानबूझकर मामले को लटका न दे। इसके बाद चुनाव आचार संहिता लग जाएगी तो उनकी मांग पूरी नहीं होगी।

खबरें और भी हैं...