पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

6 साल से भटक रहे पीड़ित को मिला इंसाफ:चंडीगढ़ की लोक अदालत ने सुनाया फैसला, एक्सीडेंटल क्लेम में मिले 8 लाख रुपए; 1100 केस निपटाए गए

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक्सीडेंटल क्लेम का मामला जिला अदालत में साल 2018 में दर्ज हुआ था। - प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
एक्सीडेंटल क्लेम का मामला जिला अदालत में साल 2018 में दर्ज हुआ था। - प्रतीकात्मक तस्वीर

एक्सीडेंटल क्लेम लेने के लिए पिछले 6 सालों से लोक अदालत के चक्कर लगाने वाले को आखिरकार न्याय मिल ही गया। गुरुवार को सेक्टर-43 की जिला अदालत में लगी लोक अदालत में 1100 से ज्यादा केसों का निपटारा किया गया था। इसमें एक मामला पिछले 6 सालों से एक्सीडेंटल क्लेम के लिए भटक रहे व्यक्ति का भी था।

अदालत ने केस का निपटारा करते हुए एक्सीडेंटल क्लेम के रूप में उसे 8 लाख रुपए का मुवावजा देने का आदेश दिया। एक्सीडेंटल क्लेम का यह मामला जिला अदालत में साल 2018 में दर्ज हुआ था। जब परवाणू निवासी सतीश को कहीं से इंसाफ नहीं मिला, तब उन्होंने जिला अदालत में शिकायत दर्ज की और फैसला अब उनके पक्ष में आया।

सतीश ने बताया कि साल 2015 में मनीमाजरा स्थित फन रिपब्लिक लाइट प्वाइंट के पास उसकी कार का एक्सीडेंट हो गया था। वह चंडीगढ़ से परवाणू जा रहे थे। जब वह फन रिपब्लिक लाइट प्वाइंट पर पहुंचे तो एक ट्रक उनकी कार (फॉर्च्यूनर) से टकरा गया। रात मे धूंध की वजह से यह हादसा हुआ।

इस हादसे में उनकी कार पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई थी। जिसके बाद उन्होंने एक्सीडेंटल क्लेम के लिए कंज्यूमर कमीशन से लेकर इंश्योरेंस कंपनी के ऑफिस तक के चक्कर काटे थे। लेकिन इंसाफ लोक अदालत में मिला।

खबरें और भी हैं...