पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Water Projects Will Be Started In The City 40 Of The Water Will Have To Be Reused In The Industries.

जल जीवन मिशन अर्बन- 2 प्रोजेक्ट:अब चंडीगढ़वासियों को नहीं झेलना पड़ेगा पानी का संकट; कई योजनाएं शुरू होंगी, इंडस्ट्रीज में 40% वाॅटर रियूज करवाएंगे

चंडीगढ़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम को अमृत मिशन के तहत कई वाटर प्रोजेक्ट लगाने हैं, ताकि सप्लाई बेहतर हो। - Dainik Bhaskar
नगर निगम को अमृत मिशन के तहत कई वाटर प्रोजेक्ट लगाने हैं, ताकि सप्लाई बेहतर हो।

अब चंडीगढ़ शहर में नगर निगम की ओर से जल जीवन मिशन अर्बन 2 के तहत वाॅटर लाइन बिछवाने, UGR बनाने, टर्शरी वाॅटर लाइन, STP अपग्रेड करने, मीटर कनेक्शन देने, रेन वाॅटर हार्वेस्टिंग और पार्कों में टर्शरी वाॅटर सप्लाई करने के प्रोजेक्ट शुरू करवाए जाएंगे।

इस मिशन के तहत नॉन रेवन्यू वाटर (इसमें लीकेज, पानी की बिलिंग नहीं होना) 20 फीसदी तक करना है। अभी चंडीगढ़ शहर में रोजाना सप्लाई के 112 मिलियन गैलन (यानि 5096 लाख लीटर) में से 38 फीसदी नॉन रेवेन्यू में है यानि शहर मेंं 43 .17 मिलियन गैलन (1964.48 लाख लीटर) पानी नॉन रेवेन्यू में आता है।

अभी तक निगम अमृत मिशन के तहत शहर की रिहैबिलिटेशन कॉलोनियों में वाॅटर सप्लाई लाइन और सीवर लाइन बिछवाने का काम करवाती रही। इसके अलावा जंडपुर से वाॅटर वर्क्स सेक्टर-39 तक पानी की लाइन बिछवाई गई। इसके तहत शहर में 2025 तक पानी की सप्लाई बढ़ाने पर काम होगा।

शहर में ग्राउंड वाॅटर अभी 25 मिलियन गैलन (1137.5 लाख लीटर) है और नहरी पानी 87 मिलियन गैलन (3958.5 लाख लीटर) है। दोनों स्त्रोत से 112 मिलियन गैलन (5096 लाख लीटर) पानी रोजाना है। शहर में पानी के 1.70 लाख कनेक्शन हैं। अमृत मिशन में 500 नगर निगम थी। लेकिन जल जीवन मिशन अर्बन 2 में 5340 नगर निगम, नगर परिषद, नगर काउंसिल को फंडिंग हो सकेगी।

देश भर में जल जीवन मिशन अर्बन 2 के लिए सेंट्रल गवर्नमेंट ने 2 लाख 67 हजार करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान किया है। इसमें से स्टेट या यूटी का 2 लाख 250 करोड़ और सेंट्रल गवर्मेंट का 66 हजार 750 करोड़ है। इस मिशन के तहत देश भर की लोकल बॉडी के 5340 शहर कवर हो सकेंगे। प्रोजेक्ट के लिए फंडिंग प्राप्त करने से पहले सेंट्रल स्टेट और लोकल बॉडर के बीच एमओयू होगा। यूटी को 100 फीसदी फंडिंग मिलेगी।

निगम कमिश्नर केके यादव का कहना है कि अब अमृत की जगह जन जीवन मिशन अर्बन 2 के तहत शहर में प्रोजेक्ट पर काम होंगे। इस मिशन के तहत प्रोजेक्ट शुरू करने पर प्रॉपर गाइडलाइन फॉलाे करनी होगी। निगम ने अमृत मिशन के तहत 100 फीसदी प्रोजेक्ट कंप्लीट कर लिए हैं।

इंडस्ट्रीज में 40% वाॅटर रियूज करवाना होगा

प्रोजेक्ट के लिए फंड रिफॉर्म लागू किया जाएगा। इसमें प्रॉपर्टी टैक्स की गाइड लाइन और कितने पर कर रहे हैं। पांच वाॅटर बॉडी का जीर्णोद्वार है, नॉन रेवन्यू वाॅटर को 20 फीसदी करना है, टर्शरी वाॅटर को 20 फीसदी यूज करना शामिल है। अभी शहर में 10 मिलियन गैलन भी टर्शरी वाॅटर ग्रीन पार्कों और ओपन स्पेस में यूज नहीं हो रहा है। इंडस्ट्रीज में 40 फीसदी वाॅटर रियूज करवाना होगा।

निगम या नगर काउंसिल को प्रोजेक्ट का 8% इंसेंटिव

नगर निगम को अमृत मिशन के तहत करवाए गए प्रोजेक्ट में देश भर में पहला स्थान मिला था। अब नगर निगम जल जीवन मिशन अर्बन 2 के तहत वाॅटर सप्लाई, सीवरेज लाइन, स्टॉर्म वाॅटर लाइन, टर्शरी वाॅटर प्रोजेक्ट और ग्रीन बेल्ट डिवेलप करने के प्रोजेक्ट पर काम करेगा। इसके लिए मिनिस्टरी ऑफ अर्बन डेवलपमेंट एंड हाउसिंग से फंडिंग मांगेगा। इसके तहत प्रोजेक्ट शुरू करवाने पर रिफार्म भी लागू करने होंगे। जहां रिफार्म लागू किया जाएगा।उस नगर निगम या नगर काउंसिल को प्रोजेक्ट का 8 फीसदी इंसेंटिव मिलेगा।

जल जीवन मिशन अर्बन 2 के तहत भी शहर में पानी की सप्लाई बेहतर करना है। शहर की साल में पांच वाॅटर बॉडी को जीर्णोद्वार किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट के तहत नगर निगम शहर के गांवों में तालाबों की हालत में सुधार करेगा। क्योंकि MC एरिया में शामिल गांव को अर्बन एरिया में माना जाता है। इन्हें ग्रामीण क्षेत्र में नहीं माना जाता है। गांव में पानी की सप्लाई बेहतर करने पर काम होगा।

खबरें और भी हैं...