पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पीयू में छात्रों की मांग:फीस मांगी तो विरोध पर उतरे छात्र संगठन एबीवीपी और आइसा ने की छूट देने की मांग

चंडीगढ़8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीयू में फीस को लेकर प्रोटेस्ट करते एबीवीपी के कार्यकर्ता।
  • पीयू में स्टूडेंट्स को फीस जमा करवाने के लिए भेजे जा रहे हैं मैसेज
  • स्टूडेंट्स से पूरी फीस लेने के बजाय सिर्फ ट्यूशन फीस ली जाए
  • ईडब्ल्यूएस कैटेगरी की फीस पूरी माफ हो, जमा करने की डेट बढ़ाई जाए
Advertisement
Advertisement

पीयू में स्टूडेंट्स से फीस जमा कराने को लेकर एबीवीपी ने वाइस चांसलर ऑफिस पर प्रोटेस्ट किया। उनका कहना है कि यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट साइंसेज (यूआईएएमएस) सहित कई डिपार्टमेंट में स्टूडेंट्स को मैसेज आ रहे हैं कि वे फीस जमा कराएं। उनकी डिमांड है कि स्टूडेंट्स से पूरी फीस लेने की बजाय सिर्फ ट्यूशन फीस ली जाए।

उनका कहना है कि मार्च के महीने से स्टूडेंट्स हॉस्टलों में नहीं हैं इसलिए उनको बिजली, पानी व अन्य खर्चों में छूट दी जाए और सिर्फ कमरे का किराया ही वसूल किया जाए। उनकी डिमांड है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ईडब्ल्यूएस कैटेगरी की फीस पूरी तरह से माफ करे और फीस जमा कराने की डेट भी बढ़ाई जाए। प्रेसिडेंट हरीश गुर्जर और कोर्डिनेटर जतिन ने कहा कि यदि यूनिवर्सिटी ने स्टूडेंट्स की डिमांड नहीं मानी तो वे प्रोटेस्ट लंबा करेंगे।

इसी तरह आइसा ने भी पीयू और चंडीगढ़ प्रशासन से डिमांड की है कि स्टूडेंट्स को फीस में छूट दी जाए। अमन रतिया का कहना है कि शहर के सभी कॉलेज आगामी सेमेस्टर के लिए फीस भरवाने के लिए तुरंत पर दबाव बना रहे हैं। कॉलेजों का कहना है कि ऑनलाइन क्लासेज शुरू होने वाली हैंै जबकि ऐसे बहुत से स्टूडेंट्स हैं जो इस ऑनलाइन सिस्टम में फोन और इंटरनेट अफोर्ड न कर पाने की वजह से दूसरों से पिछड़ जाएंगे। लॉकडाउन के दौरान सभी के कारोबार व्यापार आदि पर बुरे और चिरस्थाई असर भी पड़े हैं। कई परिवार ऐसे हैं जिनके पास दो वक्त का खाना भी ठीक से खाने के लिए पैसे नहीं है।

अगर कॉलेज प्रशासन इसी तरह उन पर भी जमा कराने का दबाव डालेगा तो बहुत से स्टूडेंट्स को पढ़ाई छोड़नी हो। उन्होंने नई शिक्षा नीति को भी निजी करण का एक जरिया बनाने का हथियार करार दिया ताकि एजुकेशन चंद अमीरों की लग्जरी बन जाए। आइसा की डिमांड है कि पिछले सेमेस्टर की फीस अगले सेमेस्टर में एडजेस्ट की जाए क्योंकि ज्यादातर कॉलेजों ने ऑनलाइन क्लासेज रेगुलर नहीं लगाई है। अगर चंडीगढ़ प्रशासन ने उनकी यह डिमांड नहीं मानी तो स्टूडेंट संघर्ष का रास्ता अपनाएंगे। आइसा ने इस डिमांड को लेकर ऑनलाइन अभियान भी चलाया।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement