• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Who Is Responsible For The Accident In Bhiwani's Dadam; Answer Will Be Summoned, Former CM Will Also Visit The Spot

खनन मंत्री ने ली अधिकारियों की मीटिंग:अब सूर्यास्त के बाद नहीं होगी माइनिंग; खनन एरिया में लगाए जाएंगे पिलर, SIT की रिपोर्ट पर होगी कार्रवाई

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डाडम में पिछले 5 दिन से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी। - Dainik Bhaskar
डाडम में पिछले 5 दिन से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी।

हरियाणा के भिवानी जिले में तोशाम के डाडम क्षेत्र में हुई पहाड़ दरकने की घटना को लेकर बुधवार को प्रदेश के खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने सचिवालय में खनन विभाग और हरियाणा प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के अधिकारियों के साथ मीटिंग की। खनन मंत्री ने कहा कि सूर्यास्त के बाद रात को कभी खनन नहीं होगा। सूर्यास्त के बाद रोक रहेगी। साथ ही खनन वाले क्षेत्रों में पिलर लगाए जाएंगे और सीमा निर्धारण किया जाएगा। यह निर्धारित किया जाएगा कि कौन-कौन सी माइनिंग साइट कितने एरिया में है।

उन्होंने कहा कि स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) अभी जांच कर रही है। रिपोर्ट आने के बाद ही खामियों का पता चलेगा। मंत्री ने कहा कि माइनिंग कभी बंद नहीं हुई। एनजीटी के आदेश पर क्रैशर बंद था। सुप्रीम कोर्ट ने बैन नहीं लगाया। प्रदूषण के कारण एनजीटी ने क्रैशर पर बैन लगाया था।

गौरतलब है कि डाडम में पहाड़ दरकने की घटना के एक जनवरी को हुई थी। डाडम में माइनिंग का टेंडर गोवर्धन माइनिंग एजेंसी के पास है। 2018 से उसे टेंडर मिला हुआ है। यह टेंडर 10 साल के लिए है। लेकिन हादसे ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन में आर्मी, एनडीआरएफ की टीम लगी हुई है। पिछले पांच दिनों से रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है।

अब तक 5 लोगों के शव मिल चुके हैं। दो घायल हैं। कई वाहनों को नुकसान पहुंचा है। घटना की जांच माइनिंग सेफ्टी डिपार्टमेंट गाजियाबाद की टीम भी कर रही है। वहीं भिवानी पुलिस की एक SIT भी गठित की गई है। हरियाणा प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने भी विभागीय जांच की प्रकिया शुरू की हुई है। इन जांच रिपोर्ट पर खनन मंत्री अधिकारियों से बातचीत करेंगे।

खबरें और भी हैं...