पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फिर डायरिया फैला:अभयपुर, बुढ़नपुर में फैला डायरिया, बच्चे की माैत, 38 लोग भर्ती

पंचकूला19 दिन पहलेलेखक: संदीप कौशिक
  • कॉपी लिंक
  • बरसात के बाद पेयजल में सीवर का पानी मिक्स हाेने से अभयपुर और बुढ़नपुर में फैला डायरिया, अस्पताल में रात तक आते रहे मरीज

पंचकूला के अभयपुर और बुढ़नपुर एरिया में पीने के पानी में सीवर मिक्स हाेने से डायरिया फैल गया। जिससे बुढ़नपुर के 9 साल के बच्चे अर्पित की डायरिया से माैत हाे गई। बच्चे काे बुधवार तड़के सवा 4 बजे के करीब सेक्टर-6 जनरल हॉस्पिटल लाया गया था। यहां इमरजेंसी में इलाज के दाैरान कुछ इंजेक्शन लगाकर हालत में सुधार हाेते ही उसे डिस्चार्ज कर दिया गया।

ऐसे अब सवाल खड़ा हाेता है कि जब डायरिया से ग्रस्त बच्चा इलाज के लिए आ रहा है ताे उसे अस्पताल में एडमिट क्याें नहीं किया गया। वहीं, डाॅक्टराें ने बताया कि उस दाैरान अर्पित की तबीयत ज्यादा खराब नहीं थी। हर साल दोनों जगहाें से डायरिया के मामले आने का सबसे बढ़ा कारण बिना प्लानिंग के कंस्ट्रक्शन हाेना है।

यहां पर सीवर और पीने के पानी की पाइप लाइन या ताे एक साथ बिछी हुई है और या फिर थाेड़ी ही दूरी पर है। जिससे हर साल बरसात के दिनाें में गंदे नालाें में पानी का बहाव ज्यादा आता है और सीवर, बरसात का पानी पेयजल में मिक्स हाे जाता है।

रात साढ़े 9 बजे तक 38 मरीज एडमिट हाे चुके थे

बुढ़नपुर और अभयपुर से बुधवार रात साढ़े 9 बजे तक डायरिया से ग्रस्त कुल 38 मरीजाें काे एडमिट किया गया था। जब दाे जगहाें से एक के बाद एक कर मरीज अस्पताल में आने लगे ताे डाॅक्टराें ने भी सीनियर अधिकारियाें काे इसकी सूचना दी।

जिसके बाद सीएमओ डाॅ. मुक्ता के साथ पीएमओ डाॅ. सुवीर सक्सेना भी इमरजेंसी में पहुंचे। इसके बाद सभी मरीजाें की लिस्ट तैयार कर डीसी से लेकर एचएसवीपी और पब्लिक हेल्थ के अधिकारियाें काे जानकारी दी गई। पीएमओ डाॅ. सुवीर सक्सेना ने इमरजेंसी पीडियाट्रिक के अलावा अलग-अलग डिपार्टमेंट के डाॅक्टराें की भी ड्यूटी लगाई।

अभी तक जाे हमने जांच की है, उसमें पानी के अंदर काेई खराबी नहीं आई। वीरवार सुबह ही टीमाें काे दोबारा से एरिया में चेकिंग पर लगाएंगे। जहां से प्राॅब्लम आ रही है, उन सभी जाेन काे ट्रेस किया जाएगा। यहां पर जिस पानी की सप्लाई हाे रही है, उनके सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। कल यहां पर सीवर लाइन काे खाली करवाने का काम किया जाएगा। इसके अलावा जहां दिक्कत आ रही हाेगी, उन प्वाइंट्स काे भी ट्रेस किया जाएगा। - अमित कुमार, एक्सईएन, एचएसवीपी

डायरिया के मामले आने के बाद दाेनाें जगहाें पर हेल्थ डिपार्टमेंट की टीमें भेजकर सैंप्लिंग करवाई जा रही है। अभी तक 20 के करीब मरीज अस्पताल आए हैं, जिनका इलाज चल रहा है। एक बच्चे की माैत के मामले की जांच कर रहे हैं।

पहले जब बच्चे काे अस्पताल लाया गया था ताे उसे डायरिया की शिकायत थी। वीरवार सुबह ही दाेनाें जगहाें पर डाॅक्टर और पैरामेडिकल की टीमाें काे भेज कर लाेगाें के सैंपल लिए जाएंगे। इस बारे में दूसरे डिपार्टमेंट के अधिकारियाें काे भी बता दिया गया है। - डाॅ. मुक्ता, सीएमओ, पंचकूला

खबरें और भी हैं...