पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पीएनजी की तैयारी:सेक्टर-15 से इंडस्ट्रियल एरिया, फेज 1 तक पहुंचा गैस पाइपलाइन बिछाने का काम

पंचकूला8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार को इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 में गैस पाइपलाइन बिछाने के लिए एक बड़े ट्राले से पाइप उतारती क्रेन। - Dainik Bhaskar
रविवार को इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 में गैस पाइपलाइन बिछाने के लिए एक बड़े ट्राले से पाइप उतारती क्रेन।
  • अगले पांच माह में 10.85 किलोमीटर मेन पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा करने का रखा है लक्ष्य

चंडीगढ़ में मौलीजागरां की तरफ से इंडस्ट्रियल एरिया, फेज 2 होते हुए गैस पाइप लाइन बिछाने का काम इंडस्ट्रियल एरिया, फेज 1 तक पहुंच गया है। शहर में पाइप नेचुरल गैस की लाइन डालने का काम इंडियन ऑयल-अदानी गैस प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से किया जा रहा है। शहर में 10.85 किलोमीटर लंबी मेन पाइप लाइन बिछाई जाएगी। यह काम अगले चार माह में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

साढ़े तीन साल पहले अक्टूबर 2017 में सेक्टर-10 में हुए सिलेंडर ब्लास्ट में सात लोगों की जान चली गई थी। पीएनजी काफी हल्की होती है जोकि लीक होते ही तुरंत हवा में घुल जाती है। इससे पीएनजी लीकेज पर हादसा होने का अंदेशा नहीं होता है। एलपीजी के मुकाबले पीएनजी सस्ती भी पड़ेगी।

पहले चरण में शहर के पेट्रोल पंपों में सीएनजी स्टेशन की व्यवस्था की जा रही है। यह कार्य आगामी एक महीने में पूरा कर लिया जाएगा। पेट्रोल पंप पर सीएनजी की व्यवस्था होने से सीएनजी से चल रहे ऑटो रिक्शा व अन्य वाहनों को इसके लिए चंडीगढ़ के पेट्रोल पंपों पर जाने की जरूरत नहीं होगी।

दूसरे चरण में शहर के सभी घरों तक पाइप लाइन से कुकिंग गैस पहुंचाई जाएगी। यह कार्य 30 सितंबर तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। गैस पाइप लाइन बिछने से मीटर जितनी गैस इस्तेमाल होगी, उतना ही बिल का भुगतान करना होगा।

गैस पाइपलाइन ये मिलेंगे पंचकूला को फायदे

  • पाइपलाइन से पीएनजी सप्लाई होगी जोकि एलपीजी से 20% सस्ती है।
  • सिलेंडर बुकिंग कराने की चिंता खत्म।
  • इलेक्ट्रसिटी मीटर की तरह गैस सप्लाई के मीटर लगेंगे। रीडिंग के आधार पर ही बिल अदा करना होगा।
  • सीएनजी की सप्लाई शुरू होने से पॉल्यूशन कम होगा।
  • सड़कों पर प्रदूषण फैलाने वाले डीजल ऑटो रिक्शा बंद हो सकेंगे।
  • पीएनजी से आग लगने के हादसे कम होंगे क्योंकि पीएनजी हल्की से लीकेज होते ही तुरंत हवा में घुल जाती है।
  • सीएनजी वाहन चालकों को अपने वाहन की फिलिंग के लिए चंडीगढ़ के चक्कर काटने की जरूरत नहीं होगी। वह अपने ही शहर में सीएनजी की फिलिंग वाहनों में करा सकेंगे।
खबरें और भी हैं...