पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वीरवार को 382 नए संक्रमित मिले:माेहाली में पिंजाैर के मरीज की काेराेना से माैत, कुल 156 की हाे चुकी है माैत, 2706 ने लगवाया टीका

पंचकूला9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

वीरवार को सेक्टर-4 और सेक्टर-17 निवासी दाे मरीजाें की काेराेना से माैत हाे गई है। इनका काेविड नियमाें के तहत ही अंतिम संस्कार किया गया है। वहीं, वीरवार काे जिले में काेराेना के 382 नए मामले अाए हैं, जिसमें 239 मरीज पंचकूला के रहने वाले हैं। विभाग की ओर से अभी तक जिले में 156 लाेगाें की ही काेराेना से माैत हाेने की बात कही गई हैं।

जिले में अब काेराेना के कुल 19,431 मरीज हाे चुके हैं, जिसमें 14,292 मरीज पंचकूला के रहने वाले हैं। अब जिले में 1167 मरीज एक्टिव कैटेगरी में है और अब तक 12,969 मरीज ठीक हाे चुके हैं। अब राेजाना 1500 से 2000 लाेगाें के सैंपल जांच के लिए लैब में भेजे जा रहे हैं। अभी तक करीब एक साल में विभाग की ओर से 2,30,202 लाेगाें के सैंपलाें की जांच की जा चुकी है।

मीटिंग के बाद भी प्राइवेट अस्पतालाें में नहीं बढ़ाए बेड: डीसी की ओर से दाे दिन पहले ही प्राइवेट अस्पतालाें में बेड बढ़ाने के लिए मीटिंग हुई थी। इसमें सीएमओ के अलावा प्राइवेट अस्पताल के डाॅक्टर भी शामिल थे। सिविल सर्जन की ओर से बताया गया था कि पिछले कुछ दिनाें से मरीज बढ़ने से अस्पतालाें में बेड नहीं है।

इसके बाद डीसी की ओर से सभी काेविड डेजिगनेटिड अस्पताल के प्रबंधकाें काे काेविड मरीजाें के लिए और बेड बढ़ाने के लिए कहा था। वीरवार तक भी किसी प्राइवेट अस्पताल की ओर से काेविड मरीजाें के लिए पहले से ज्यादा बेड नहीं बढ़ाए गए। जिसके बाद सीएमओ ने वीरवार शाम काे एक रिकाॅर्ड तैयार किया, जिसे अब प्रशासनिक अधिकारियाें काे दिया जाएगा। जिसमें सभी अस्पतालाें में बेड और मरीजाें का स्टेटस बताया गया है। सीएमओ डाॅ. जसजीत काैर ने बताया कि कुछ दिन पहले प्राइवेट अस्पतालाें में बेड बढ़ाने के लिए डीसी पंचकूला की ओर से रिव्यू मीटिंग ली गई थी। इसमें अभी बेड की सुविधा नहीं बढ़ाई गई है, जिसकी रिपाेर्ट तैयार की जा रही है। काेराेना से जाे माैत हाेने के मामले है, अभी इनकी जांच की जा रही है।

इनका पता लगाया जा रहा है और इनक रिकॉर्ड भी लिया जा रहा है। अगर ये काेविड डेथ हाेंगी ताे रिकाॅर्ड में डाल दिया जाएगा। जनरल अस्पताल में काेविड मरीजाें काे एडमिट करने के लिए अब एक फ्लाेर अाेर तैयार किया जा रहा है। इसके लिए शुक्रवार से काम शुरू कर दिया जाएगा।

पाैने घंटे तक एंबुलेंस में ही पड़े रहे ऑक्सीजन सपाेर्ट पर मरीज...

वीरवार काे जनरल अस्पताल में काेविड मरीज एंबुलेंस के अंदर ऑक्सीजन सपाेर्ट पर था और उसे अस्पताल के अंदर ले जाने के लिए काेई भी स्टाफ नहीं आया। जिससे मरीज पाैने घंटे तक ही अस्पताल के गेट पर एंबुलेंस में लेटा रहा। ऐसा एक मरीज के साथ नहीं, बल्कि दाे तीन मरीजाें के साथ हाे गया।

वीरवार सुबह तीन मरीजाें काे एक ब्लाॅक से दूसरे ब्लाॅक में शिफ्ट करना था। इसमें एक काेविड पाॅजिटिव महिला अाॅक्सीजन पर थी। तीनाें मरीजाें काे दूसरे ब्लाॅक तक ताे ले जाया गया, लेकिन वहां से वार्ड तक ले जाने के लिए पाैने घंटे तक काेई स्टाफ नहीं अाया। करीब पाैने घंटे बाद जब मरीज काे ले जाले के लिए क्लास फाेर कर्मी अाया ताे वाे बिना व्हील चेयर ही अा गया, जिसके बाद बुजुर्ग मरीज काे पैदल ही ले जाया गया।

79 मरीज ऑक्सीजन सपाेर्ट और 6 मरीज वेंटीलेटर पर...

पंचकूला में 85 मरीज ऐसे है, जिनकी हालत काफी ज्यादा खराब हैं। जनरल अस्पताल समेत सेक्टर 21 अल्केमिस्ट अस्पताल, सेक्टर 26 ओजस और पारस अस्पताल में मरीजाें काे एडमिट किया गया है। सबसे ज्यादा 79 मरीज ऑक्सीजन सपाेर्ट पर हैं और 6 मरीज वेंटीलेटर सपाेर्ट पर हैं। इनमें सबसे ज्यादा 51 मरीज जनरल अस्पताल में एडमिट हैं, जिसमें सभी मरीज ऑक्सीजन सपाेर्ट पर है।

इसके अलावा सेक्टर 21 अल्केमिस्ट अस्पताल में 16 मरीज ऑक्सीजन पर है। सेक्टर 26 ओजस अस्पताल में भी 6 मरीज ऑक्सीजन पर हैं और 3 मरीज वेंटीलेटर पर हैं। इसके अलावा पारस अस्पताल में भी 6 मरीज ऑक्सीजन और 3 मरीज वेंटीलेटर पर हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें