पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मौसम में बदलाव:तेज आंधी-तूफान से रात 11.30 से 2 बजे तक बिजली रही गुल

पंचकूला9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अलग-अलग सेक्टरों में 1 से 5 घंटे तक नहीं आई बिजली
  • सेक्टर-14 हाउसिंग बोर्ड क्वार्टर में 17 घंटे बाद शाम 5:30 बजे बिजली बहाल हुई

मंगलवार रात करीब साढ़े 11 बजे तेज आंधी तूफान की वजह से शहर में कई जगहों पर पेड़ गिरने और बिजली की तार टूटने की वजह से सेक्टरों में 1 घंटे से 5 घंटे तक बिजली गुल रही। सुबह के समय कुछ सेक्टरों में पीने की पानी की सप्लाई नहीं आई और कुछ सेक्टरों में प्रेशर काफी कम से फर्स्ट फ्लोर पर भी पानी नहीं आया।

शहर के कुछ सेक्टर ऐसे भी थे जहां पर बिजली पूरी रात नहीं आई। इसके अलावा कालका व पिंजौर अलग-अलग एरिया में पूरी रात बिजली गुल रही और लोग परेशान रहे।

9 कंप्लेंट सेंटर और हरेक सेंटर पर 3-3 टीमें मौजूद

बिजली निगम के मुताबिक किसी भी आपातकालीन परिस्थिति से निपटने के लिए शहर में 9 कंप्लेंट सेंटर हैं और उन सभी कंप्लेंट सेंटर पर 3-3 टीमें मौजूद होती हैं, जो कि शिकायत मिलते ही मौके पर पहुंचती है। आंधी तूफान जैसे हालातों में 27 टीमों के अलावा बिजली निगम के मेंटेनेंस विंग से 100 स्टाफ को फील्ड में बुलाया जाता है और उनसे अलग-अलग एरिया में काम लिया जाता है।

बिजली रीस्टोर करने के लिए ऐसे होती है कार्रवाई

आंधी-तूफान के थमने के बाद सबसे पहले पावर हाउस से लाइन चालू किया जाता है। जिस सेक्टर में बिजली फॉल्ट होगा उसकी लाइन पावर हाउस से ट्रिप हो जाएगी यानि कि बंद हो जाएगी। जिसके बाद टीम की ओर से उक्त एरिया में जाकर पेट्रोलिंग फॉल्ट को ढूंढा जाता है और उसे चालू किया जाता है।

मंगलवार रात तूफान में 50 से ज्यादा खंभे टूटे...

बिजली निगम के आंकड़ों के मुताबिक जिले में आंधी व तूफान की वजह से सिर्फ शहर में 50 से ज्यादा बिजली के खंभे गिरे। वहीं, जिले की बात करें तो 120 से ज्यादा बिजली के खंभे टूटे। एक बिजली के खंभे की कीमत 2500 से 3 हजार रुपए है और ऐसे में बिजली के खंभों से करीब 3 लाख रुपए का नुकसान हुआ।

इसके अलावा कई जगहों पर बिजली की तारें टूटी, जंपर खराब हुए। इसके अलावा सेक्टरों में रात 11.30 से सुबह 2 बजे तक बिजली बंद रही और कुछ सेक्टरों में सुबह के समय बिजली बहाल हुई है। तेज आंधी तूफान की वजह से बिजली कट लगना और पेड़ों के गिरने जैसे हालात साल में 8 से 10 बार होता है।

यहां पेड़ और बिजली के खंभे गिरे...

  • सेक्टर-17/8 डिवाइडिंग रोड पर सेक्टर-17 की ओर पेड़ गिरा।
  • सेक्टर-8/7 डिवाइडिंग रोड पर सेक्टर-8 बस स्टॉप के समीप पेड़ गिरा।
  • सेक्टर-16 गोलचक्कर पर सेक्टर-9 की ओर से पेड़ गिरा।
  • सेक्टर-14 हाउसिंग बोर्ड क्वार्टर में डीसीपी के घर के साथ और मकान नंबर 1 से 5 तक लगे चार बिजली के खंभे टूट गए। मकान नंबर 60 के सामने का बिजली का खंभा और पेड़ गिरा। जिसकी वजह से एक कार का पीछे का शीशा टूट गया।

पंचकूला मंगलवार रात को आए तूफान ने कई सेक्टर्स में मचाई तबाही सेक्टर 14 में मकान नंबर 1 से 5 तक यहां खड़े बड़े-बड़े पेड़ लोगों की घरों पर गिर गए गाड़ियों पर गिर गए और उनके साथ खड़े बिजली के पोल भी लोगों के घरों में जा गिरे।

ट्रांसफार्मर बैंक की मदद से आपातकालीन परिस्थिति में लाइन चालू की जाती है...

आपातकालिन परिस्थिति के लिए ट्रांसफॉर्मर बैंक तैयार रखा जाता है ताकि किसी भी ट्रांसफॉर्मर में फॉल्ट मिलते ही दूसरे ट्रांसफॉर्मर को उसके साथ लगाकर लाइन चालू किया जाए। पंचकूला सिटी सबडिवीजन के पास 6, सब अर्बन डिवीजन के पास 5, मदनपुर डिवीजन के पास 5, कालका व पिंजौर के पास 2-2 और बरवाला व रायपुररानी के पास 2 ट्रांसफॉर्मर बैंक हैं।

5 घंटे में सेक्टरों की बिजली बहाल की

बिजली निगम के एक्सईएन संजीव सिवाच ने बताया कि आंधी-तूफान जैसे आपातकालीन परिस्थिति से निपटने के लिए बिजली निगम के 9 कंप्लेंट सेंटर पर 3-3 क्विक रेस्पॉन्स टीम तैनात होती है और इसके अलावा मेंटेनेंस विंग से 100 के करीब स्टाफ को बुलाया जाता है।

साथ ही ट्रांसफॉर्मर के खराब होने पर ट्रांसफॉर्मर बैंक की सुविधा भी होती है। रात को आई आंधी तूफान के 1 घंटे से 5 घंटे के भीतर लगभग सभी सेक्टरों में बिजली बहाल कर दी गई थी। कुछेक सेक्टरों में सुबह के समय बिजली सेवा बहाल हुई।

इन सेक्टरों में बिजली कट रहा...

  • सेक्टर-2 में रात 11.30 बजे से सुबह 4 बजे तक 4 घंटे बिजली गुल रही। बुधवार सुबह 6 बजे के बजाए 8 बजे पानी की सप्लाई लो प्रेशर के साथ रही।
  • सेक्टर-4 में रात 11.30 से सुबह 4 बजे तक बिजली गुल रही। पानी का प्रेशर भी कम था।
  • सेक्टर-6 में करीब 4 घंटे तक बिजली गुल रही।
  • सेक्टर-7 के कुछ हिस्सों में चार घंटे और कुछ हिस्सों में पूरी रात बिजली गुल रही और पानी की सप्लाई भी नहीं आई।
  • सेक्टर-8 में 5 घंटे बिजली गुल रही और सुबह 2 बजे बिजली सेवा बहाल हुई। पानी की सप्लाई नहीं आई।
  • सेक्टर-9 में देर रात 1 बजे के बाद बिजली सेवा बहाल हुई और पानी का प्रेशर कम रहा। फर्स्ट फ्लोर पर पानी नहीं पहुंच पाया।
  • सेक्टर-10 में देर रात 11.30 से सुबह के 1.30 बजे तक बिजली गुल रही। पानी का प्रेशर काफी कम था।
  • सेक्टर-11 में 3 घंटे तक बिजली गुल रही और सुबह 9 बजे तक पानी की सप्लाई नहीं हुई।
  • सेक्टर-12 में कुछ हिस्सों में 3 घंटे और कुछ में 5 घंटे बिजली गुल रही। सप्लाई पानी का प्रेशर कम रहा।
  • सेक्टर 12ए में 4 घंटे बिजली गुल रही और पानी की सप्लाई सुबह 7 बजे के बाद आई है।
  • सेक्टर-14 मंडी बोर्ड की कोठियों व फ्लैट्स में 17 घंटे तक बिजली गुल रही। बुधवार शाम 5 बजे बिजली सेवा बहाल हुई।
  • सेक्टर-15 में 4 घंटे बिजली गुल रही। सुबह 7 बजे पानी की सप्लाई काफी कम प्रेशर के साथ आई।
  • सेक्टर-16 में आंधी तूफान की वजह से पूरी रात बिजली गुल रही और सुबह पानी की सप्लाई नहीं आई।
  • सेक्टर-16 निवासी सुभाष पपनेजा ने बताया कि उन्होंने एचएसवीपी के इंजीनियरिंग विंग के अधिकारियों से बुधवार दोपहर में पानी की सप्लाई देने के लिए बात की थी और उन्होंने हमारी बात मान ली थी।
  • सेक्टर-17 में रात 11.45 से सुबह 6 बजे तक बिजली गुल रही। सुबह 6.30 बजे से लेकर शाम 5 बजे बिजली कट हरेक एक घंटे पर लगता रहा। बुधवार की सुबह पानी की सप्लाई नहीं आई।
  • सेक्टर-18 में रात 11.30 बजे से सुबह 2 बजे तक बिजली गुल रही। सुबह पानी की सप्लाई बहुत कम प्रेशर के साथ रहा।
  • सेक्टर -19 में बिजली 11.45 बजे से सुबह 10.25 तक गुल रही। पानी की सप्लाई नहीं।
  • सेक्टर-20 में 4 घंटे बिजली गुल रही।
  • सेक्टर-21 में 4 घंटे बिजली गुल रही और पानी कम प्रेशर के साथ आया।
  • सेक्टर-25 में कुछ हिस्सों में दो और कुछ हिस्सों में 3 घंटे तक बिजली गुल रही और पानी की सप्लाई सुबह 8 बजे तक रही।
  • सेक्टर-26 में 4 घंटे तक बिजली गुल रही और पानी का प्रेशर काफी कम रहा।
  • एमडीसी सेक्टर-4 में सुबह 3 बजे बिजली सेवा बहाल हुई और एमडीसी सेक्टर-5 स्वास्तिक विहार में सुबह 2 बजे तक बिजली सेवा बहाल हुई।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें