पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तैयारी:पड़ोसी राज्यों से कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए बनेगी कई नई सड़कें

पंचकूला25 दिन पहलेलेखक: संजीव रामपाल
  • कॉपी लिंक
  • करीब चार करोड़ रुपए खर्च कर मोरनी रोड को 22 फुट चौड़ा किया जाएगा, यह प्रोजेक्ट दो चरणों में पूरा किया जाएगा
  • सड़कों के निर्माण पर करीब चार करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे

पंचकूला जिले में आने वाले दिनों में पड़ोसी शहरों व राज्यों से जोड़ने वाले कई नए सड़क मार्ग बनेंगे। इसके लिए रूपरेखा बनकर तैयार है। पीडब्ल्यूडी बीएंडआर जल्द ही इन सड़कों का निर्माण कार्य शुरू करने जा रहा है। इन सड़कों के बनने से जहां हिमाचल प्रदेश आने-जाने के लिए नए मार्ग मिलेंगे जिससे समय की बचत होगी।

वहीं रोड कनेक्टिविटी बढ़ने से जिले में इंवेस्टमेंट बढ़ने से बड़ी तादाद में युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। मोरनी की तरफ जाने वाली सड़क को चौड़ी करने की योजना तैयार की गई है। इस सड़क को 22 फुट चौड़ा किया जाएगा ताकि वाहन आसानी से आ-जा सकें।

इन सड़कों के निर्माण पर सरकार की तरफ से करीब चार करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। नेशनल हाईवे-73 पर चंडीमंदिर टी-जंक्शन से जल्लाह, जल्लाह से थापली होते हुए मांदना, मांदना से टिक्कर ताल, टिक्कर ताल से कंडियाला होते हुए रायपुररानी तक की सड़कों को 22 फुट तक चौड़ा किया जाना है।

पीडब्ल्यूडी बीएंडआर इन सड़कों के निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार कर मुख्यमंत्री की मंजूरी के लिए भेज चुका है ताकि फॉरेस्ट डिपार्टमेंट से नो ऑब्जेक्शन लेकर सड़कों के निर्माण के लिए जमीन का अधिग्रहण हो सके। इस रास्ते में कुछ जमीन प्राइवेट लोगों की है, जिनसे जमीन के अधिग्रहण के लिए बात चल रही है।

यह प्रोजेक्ट दो चरणों में पूरा किया जाएगा। पीडब्ल्यूडी बीएंडआर और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट को सड़कों के निर्माण के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री की तरफ से पंचकूला की डेवलपमेंट के लिए गठित कमेटी की मीटिंग में इन सड़कों के निर्माण के लिए फाइनेंस डिपार्टमेंट और एडमिनिस्ट्रेटिव एप्रूवल के लिए 10 मई और फॉरेस्ट डिपार्टमेंट से अप्रूवल के लिए 15 मई, 2021 की डेडलाइन तय की गई थी। इस प्रोजेक्ट के रिव्यू के लिए आगामी हफ्ते में मीटिंग भी बुलाई गई है।

हिमाचल प्रदेश से कनेक्टिविटी के लिए भी रामगढ़ से नई सड़क बनेगी

चंडीगढ़ और आसपास के शहरों को जोड़ने के लिए एक नई रिंग रोड भी जुड़नी है। यह रोड बनूड़, कुराली, लालड़ से होते हुए नेशनल हाईवे-73 से मिलते हुए नालागढ़ की तरफ जाएगी। इसका कुछ हिस्सा पंचकूला जिले में से गुजरेगा। रामगढ़ से हिमाचल प्रदेश से कनेक्टिविटी के लिए भी नई सड़क का निर्माण किया जाना है।

यह रोड पंचकूला एक्सटेंशन, सेक्टर-32 से होते हुए डीएलएफ टाउनशिप, पिंजौर, पिंजौर-कालका अर्बन कॉम्प्लेक्स के सेक्टर-2, 3, 4 को टच करते हुए हिमाचल प्रदेश के परवाणु के निकट नेशनल हाईवे से जुड़ेगी। इस सड़क के निर्माण के लिए पीडब्ल्यूडी बीएंडआर को काम में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। मोरनी रोड के निर्माण के लिए अगले 15 दिनों में इच्छुक एजेंसियों से आवेदन मांगे जाएंगे।

पंचकूला में शिक्षा के अवसर बढ़ाने के लिए एजुकेशन सिटी पर काम हो रहा है। स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए पांच नए अस्पताल प्लान किए गए हैं। मोरनी में जल्द ही नए टूरिज्म प्रोजेक्ट शुरू होने जा रहे हैं। इससे पंचकूला के अलावा आसपास के शहरों से भी लोगों का स्वास्थ्य, शिक्षा और पर्यटन के लिए आना-जाना बढ़ेगा। इस वजह से लोगों की सुविधा के लिए पंचकूला को आसपास के शहरों से बढ़िया कनेक्टिविटी के लिए कई नई सड़कें प्लान की गई है। इन सड़कों के निर्माण के लिए काम भी शुरू कर दिया गया है।
- ज्ञानचंद गुप्ता, हरियाणा विधानसभा स्पीकर और पंचकूला विधायक

खबरें और भी हैं...