कोरोनावायरस / पंचकूला शहर में कोरोना वायरस के 26 नहीं, बल्कि 25 मरीज ही हो रहे काउंट

Not 26, but 25 patients of corona virus being counted in Panchkula city
X
Not 26, but 25 patients of corona virus being counted in Panchkula city

  • वीरवार को जिसको कोरोना पॉजिटिव बताया था वह दूसरे दिन भी पुलिस को नहीं मिल पाया

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

पंचकूला. पंचकूला में वीरवार को जिस पुनीत भारद्वाज को कोरोना पॉजिटिव बताया जा रहा था वह दूसरे दिन भी पुलिस को नहीं मिल पाया है और न ही इसकी जानकारी हेल्थ डिपार्टमेंट के पास आई है। वहीं, अब हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से पंचकूला में इस केस को अकाउंट भी नहीं किया जा रहा, जबकि वीरवार को विभाग की ओर से कुल 26 केस कोरोना वायरस से ग्रस्त बताए जा रहे थे। अब इस मरीज का पंचकूला में नहीं होना बताया जा रहा है तो विभाग की ओर से  जो  कोरोना पॉजिटिव मरीजों की लिस्ट बनाई गई थी, उसमें से भी इसका नाम काट दिया गया है।

विभाग की ओर से इसका कारण यह बताया जा रहा है कि मरीज की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव जरूर है, लेकिन वह पंचकूला में नहीं है, इसलिए उसे पंचकूला जिले में काउंट नहीं किया जा रहा। अब हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से इस मरीज को ढूंढने के लिए  पुलिस के ऊपर जिम्मेदारी सौंपी गई है। अब पंचकूला के अंदर कोरोना वायरस के 2 मरीज हॉस्पिटल में एडमिट है। इसमें राजीव कॉलोनी में रहने वाले गुलशन की रिपोर्ट दोबारा पॉजिटिव आई है। जबकि सेक्टर-19 के कोरोना पॉजिटिव नवीन को भी एडमिट किया गया है।
परिवार ने बताया 7 मई से नहीं है घर पर

परिवार का कहना था कि वाे 7 मई से घर पर है ही नहीं। पुनीत भारद्वाज काे 5 जनवरी काे जीभ में कैंसर हाेने का पता लगा था। उनका दिल्ली के अपाेलाे हाॅस्पिटल में इलाज चल रहा था अाैर मुंबई में भी जीभ का अाॅप्रेशन हुअा था। 5 जनवरी से 25 अप्रैल तक 3 बार कीमाेथैरेपी भी हुई, जिसके बाद अब रेडियाे थैरेपी की गई थी। पुनीत भारद्वाज की जब पहली बार रेडियाे थैरेपी की गई थी ताे भी उनका अस्पताल की अाेर से काेराेना वायरस की जांच के लिए सैंपल लिया था, जिसकी रिपाेर्ट नेगेटिव अाई थी। इसके एक हफ्ते बाद दाेबारा से अपाेलाे अस्पताल में रेडियाे थैरेपी हाेनी थी, जिसके लिए सैंपल लिए गए थे। जिसमें कोई सिमटम नहीं मिला। पुनीत का दिल्ली में इलाज चल रहा है, और वह गाजियाबाद में अपनी सिस्टर के पास रह रहे हैं अाैर वहीं से दिल्ली में इलाज करवाने के लिए अप-डाउन कर रहे हैं। 
मामला हो सकता है दर्ज, पुलिस मरीज को कर रही ट्रेस
सेक्टर 2 का कोरोना पॉजिटिव मरीज अभी तक  ट्रेस  नहीं हो पाया है| अब पुलिस और विभाग की ओर से एपिडेमिक एक्ट के तहत मामला भी दर्ज किया जा सकता है, क्योंकि मरीज की जानकारी पूरी तरह से परिवार की ओर से शेयर नहीं की जा रही| पुलिस मरीज को ट्रेस करने के लिए काम भी कर रही है, उनकी लोकेशन दिल्ली और यूपी के आसपास की मिली है| पुनीत भारद्वाज के 16 मई को दिल्ली में सैंपल लिए गए थे, जिनकी सातारा मई को रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी| इसके बाद 18 मई को यह रिपोर्ट दिल्ली में ही तैयार की गई थी| जबकि पंचकूला हेल्थ डिपार्टमेंट के पास इसकी सूचना 21 मई को आई है|
जो अधिकारी ने पूछा हमने सब कुछ बता दिया : सीमा भारद्वाज, सेक्टर-2 
हमें काेई डाॅक्यूमेंट नहीं दिया गया, जिसमें लिखा हाे कि पुनीत भारद्वाज काेराेना पाॅजिटिव है। हेल्थ डिपार्टमेंट की टीम अाैर पुलिस भी घर पर पहुंची थी। हमने इन्हें पहले ही बता दिया था कि पुनीत भारद्वाज का दिल्ली के अपाेलाे हाॅस्पिटल में कैंसर का इलाज चल रहा है। हमारी बात पर विश्वास नहीं हुअा, इसके बाद इन्हाेंने चेकिंग भी की, जिसमें इन्हें यहां काेई नहीं मिला। हमने इन्हें वाे सब बताया जाे इन्हाेंने पूछा। फाेन नंबर भी मांग रहे थे, उन्हें बताया कि जब उन्हें जीभ का कैंसर है अाैर वे बाेल ही नहीं सकते, ताे अब वे फाेन क्याें रखेंगे। 7 मई से पुनीत भारद्वाज दिल्ली के पास ही अपनी सिस्टर के घर पर रह रहे है अाैर मैंने वहां भी बता दिया है। अपाेलाे हाॅस्पिटल में भी डाॅक्टराें से बात हुई है, जाे भी कह रहे हैं कि काेई ज्यादा दिक्कत नहीं है, मामूली सा फ्लू है, अगर थाेड़े दिन रूक कर ट्रीटमेंट करवाना चाहते हाे ताे वाे भी हाे जाएगा। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना